• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • There Were 84 Funeral Rites In The City Today, Only 4 Deaths In Bhopal According To Official Figures

MP के भोपाल में 84 मौतें, 1984 जैसा डर:सरकारी आंकड़ों में सिर्फ 4 मौतें; जबकि 84 अंतिम संस्कार हुए, लगता है समय जैसे ठहर गया और सिर्फ मौत भाग रही है

भोपालएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

आज फिर शवों की गिनती को मजबूर हैं शहर के श्मशान सारे। भोपाल गैस त्रासदी का वो साल 1984 था। लापरवाही के लहू से लथपथ भोपाल। कोरोना त्रासदी का यह साल 2021 है...एक दिन में 84 मौतें। इस कोरोना विस्फोट से कांपते चेहरों के कराहने-चीखने का दर्द और भय भी 84 जैसा ही है। लगता है समय जैसे ठहर गया है और सिर्फ मौत भाग रही है

भोपाल में कोरोना संक्रमितों की मौत का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। मंगलवार को भदभदा, सुभाषनगर विश्राम घाट और झदा कब्रिस्तान पर 84 शवों का कोविड प्रोटोकॉल से अंतिम संस्कार हुआ। भदभदा पर हालात ऐसे हैं कि जगह कम पड़ गई तो 30 नए चिता स्थल बनाना शुरू कर दिए हैं, जबकि 30 चार दिन पहले ही बने हैं।

कोरोना का कहर ऐसा कि पिछले पांच दिनों से रोज 50 से ज्यादा शव श्मशानों-कब्रिस्तानों में पहुंच रहे हैं। लेकिन सरकारी आंकड़ों में इन 5 दिनों में सिर्फ 10 मौतें दर्ज हैं। आज जब शहर में 84 अंतिम संस्कार हुए तो सरकारी आंकड़ों में भोपाल में सिर्फ 4 मौतें लिखी गईं।
तब हाथ ठेलों पर आए थे श‌व

तस्वीर 37 साल पहले हुई भोपाल गैस त्रासदी की। इसमें करीब 4,000 मौतें हुई थीं। हालंकि, दावा 15,000 से अधिक मौतों का किया जाता है।
तस्वीर 37 साल पहले हुई भोपाल गैस त्रासदी की। इसमें करीब 4,000 मौतें हुई थीं। हालंकि, दावा 15,000 से अधिक मौतों का किया जाता है।

इतने अंतिम संस्कारों ने गैस त्रासदी की याद दिला दी। 1984 में 2-3 दिसंबर की रात हुए हादसे के बाद अगले 4-5 दिन तक जिस किसी ने भी वह मंजर देखा है वह आज भी सिहर उठता है। हाथ ठेलों पर शव आ रहे थे, एकसाथ कई अंतिम संस्कार हो रहे थे। छोला विश्रामघाट के नारायण कुशवाह बताते हैं- कम से कम 100 ट्रक लकड़ी का उपयोग हुआ होगा। कब्रिस्तान कमेटी के तजीन अहमद कहते हैं कि कब्र खोदने वाले तक कम पड़ गए थे। 5 दिन में 3,500 शवों को दफनाया गया था।

मध्यप्रदेश: पहली बार एक दिन में 8998 संक्रमित मिले
प्रदेश में मंगलवार काे 8,998 नए संक्रमित मिले। यह पूरे काेराेनाकाल का सबसे बड़ा आंकड़ा है। 40 काेविड मरीजाें की माैत भी हुई। बीते 24 घंटे में प्रदेश में 2,509 मरीज, 4,888 एक्टिव केस और संक्रमण दर 2.1 फीसदी बढ़ चुकी है। वहीं, भाेपाल में 1,497 मरीज मिले और 84 शवाें का काेविड प्राेटाेकाॅल के तहत अंतिम संस्कार हुआ। इनमें 64 भाेपाल के हैं। वहीं, सरकार का कहना है कि पूरे प्रदेश में काेराेना से सिर्फ 40 माैतें हुई हैं। इन्हें मिलाकर अब तक काेराेना से 4,261 लाेग जान गंवा चुके हैं। अब प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मरीज 43,539 हो गए हैं।