सीएम ने शुरू किया श्रम सिद्धि अभियान / जिनके जॉब कार्ड नहीं, उन्हें बनवाकर दिलावाएंगे काम

Those who do not have job cards will get their work done
X
Those who do not have job cards will get their work done

  • मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि गांवों में जिन मजदूरों के पास जॉब कार्ड नहीं हैं
  • सीएम ने कहा कि हर व्यक्ति को उसकी योग्यता के अनुसार काम दिया जाएगा

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि गांवों में जिन मजदूरों के पास जॉब कार्ड नहीं हैं, उन्हें कार्ड बनाकर काम दिलाया जाएगा। वे शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से श्रम सिद्धि अभियान की शुरुआत के मौके पर ग्राम पंचायतों की समिति के प्रधानों व मजदूरों से चर्चा कर रहे थे।
सीएम ने कहा कि हर व्यक्ति को उसकी योग्यता के अनुसार काम दिया जाएगा। उन्होंने प्रधानों से पंचायतों की व्यवस्था के बारे में भी जानकारी ली। उन्होंने पूछा कि गांव में बाहर से कितने लोग आए हैं, कोई कोरोना मरीज तो नहीं है, मनरेगा में काम मिल रहा है या नहीं, टॉयलेट व प्रधानमंत्री आवास योजना की क्या स्थिति है, 15 दिन में जॉब कार्ड बन रहे हैं या नहीं, हाथ धोने व सफाई की व्यवस्था क्या है। ये भी पूछा कि गांव में कितनी गौशालाएं बनीं। गौरतलब है कि कांग्रेस सरकार ने गौशालाओं के निर्माण की बात कही थी। सीएम की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में 105 समिति प्रधान स्टूडियो और दो हजार लोग वेब कॉस्टिंग के जरिए शामिल हुए। सीएम ने उनसे कहा कि मुझे मजदूरों, गरीबों, किसानों में भगवान दिखाई देते हैं। इनकी सेवा मेरे लिए भगवान की सेवा है। आप अपने गांव को कोरोना से सुरक्षित रखें। बाहर से आए मजदूरों से मानवीयता का व्यवहार करें। उनका स्वास्थ्य परीक्षण हो और 14 दिन उन्हें क्वारेंटाइन में रखा जाए। 

बताया सरपंच का अर्थ

सीएम चौहान ने सरपंच शब्द का अर्थ बताते हुए कहा कि सरपंच शब्द में ‘स’ का अर्थ है समानदर्शी, ‘र’ का अर्थ है रत्न, ‘प’ का अर्थ है परिश्रमी और ‘च’ का अर्थ है चौकीदार। उन्होंने कहा कि अच्छा कार्य करने वाली ग्राम पंचायतों को 2 लाख रुपए का प्रथम, 1 लाख रुपए का द्वितीय व 50 हजार रुपए का तृतीय पुरस्कार दिया जाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना