वैक्सीनेशन अभियान:जेपी में टोकन सिस्टम शुरू, अब टीके के लिए नहीं लगेगी कतार

भोपाल9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जेपी अस्पताल में कोरोना टीकाकरण के लिए टोकन सिस्टम शुरू। - Dainik Bhaskar
जेपी अस्पताल में कोरोना टीकाकरण के लिए टोकन सिस्टम शुरू।
  • दूसरे सेंटर्स पर भी जल्द लागू होगी व्यवस्था

कोरोना का टीका लगवाने में लोगों का डर पूरी तरह खत्म हो गया है। यही वजह है कि भारी तादाद में लोग टीका लगवाने केंद्रों पर पहुंच रहे हैं। ऐसे में टीकाकरण केंद्रों पर भीड़ हो रही है। लोगों को अपनी बारी का इंतजार करना पड़ रहा है। इन तमाम परेशानी को देखते हुए टीकाकरण केंद्रों पर टोकन सिस्टम लागू किया जा रहा है।

इसकी शुरुआत जेपी अस्पताल से की गई है। जल्द ही दूसरे सेंटरों पर भी यह व्यवस्था लागू की जाएगी। टीका लगवाने पहुंचने वालों में ज्यादातर 60 साल या उससे ऊपर के हैं। 45 साल से ऊपर और 60 साल से कम उम्र वाले जो लोग पहुंच रहे हैं, वे गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं। इसे ध्यान में रखते हुए यह व्यवस्था की गई है।

टोकन के आधार पर एक बार में 10 को एंट्री

इस व्यवस्था का उद्धेश्य मरीजों को गेट पर कतार में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार करने से बचाना है। जेपी अस्पताल में जहां टीकाकरण किया जा रहा है, वहां लिफ्ट के पास 3 टेबल पर हितग्राहियों के नाम रजिस्टर में दर्ज करने के साथ ही टोकन दे दिया जाता है। यहीं लोगों के बैठने के लिए करीब 50 कुर्सियां लगाई गई हैं। प्रवेशद्वार पर दो पुलिसकर्मियों को तैनात किया है। वे टोकन के आधार पर एक बार में 10 लोगों को ही अंदर भेजते हैं।

दिनभर में 500 टोकन

इन तीनों टेबल पर कुल 500 टोकन दिए गए हैं। सुबह से शाम तक इन्हीं के आधार लोगों को टीके लगवाए जा रहे हैं। शनिवार को पहले के दिनों के मुकाबले लोगों को टीका लगवाने के लिए कम ही इंतजार करना पड़ा।

बार-बार हो रहे थे विवाद

टोकन सिस्टम से पहले लोग रजिस्टर में एंट्री कराने के बाद अंदर घुसने के लिए दरवाजे के बाहर कतार में खड़े होते थे। इस दौरान लोग पहले घुसने की कोशिश भी करते थे। इससे यहां बार-बार विवाद की स्थिति बनती थी।

फिर बढ़ी रफ्तार- दोगुना से ज्यादा टीकाकरण, शुक्रवार को 3067 को टीके लगे थे, शनिवार को 6834 का टीकाकरण

शुक्रवार को कम हुए टीकाकरण की रफ्तार शनिवार को फिर दोगुनी हो गई। आलम यह रहा कि सुबह 9 बजे से रात 7 बजे तक 6834 नागरिकों को टीके लग गए। यह दूसरे चरण के टीकाकरण में किसी भी 1 दिन में अब तक का सबसे ज्यादा टीकाकरण है। शुक्रवार को 18 केंद्रों पर महज 3067 टीके ही लग पाए थे। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने शनिवार को केंद्र बढ़ाकर 43 कर दिए थे। ऐसे में टीकों की संख्या भी दोगुने से ज्यादा हो गई। अब तक 22 हजार 905 हितग्राहियों को टीके लगाए जा चुके हैं।

कहां-कितने टीके लगे

एम्स- 719 जेपी अस्पताल- 629 हमीदिया अस्पताल- 398 प्रोतिमा मलिक अस्पताल- 393 कस्तूरबा अस्पताल- 334 नोबल हॉस्पिटल- 295 नेशनल अस्पताल- 289 भोपाल केयर हॉस्पिटल- 279 जेके अस्पताल- 279 बैरागढ़ सिविल- 270

प्री-प्लान बनाएं

एसीएस मो. सुलेमान ने आदेश दिए कि 8, 10, 11, 13 और 15 मार्च को होने वाले टीकाकरण का प्री-प्लान बनाकर प्रचार-प्रसार किया जाए।

खबरें और भी हैं...