• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Trial In Small Districts Instead Of Big, Hence Increased Load, OTP Is Not Getting Even After 24 Hours Even After The Claim Of The Department

ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस:बड़े के बजाय छोटे जिलों में ट्रायल, इसलिए बढ़ा लोड, विभाग के दावे के बाद भी 24 घंटे बाद भी नहीं मिल रहा ओटीपी

भोपाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • परिवहन विभाग ने सारथी वेबसाइट के माध्यम से लागू की है ऑनलाइन योजना

परिवहन विभाग ने खरगोन व सतना जैसे उन दो जिलों में ट्रायल कर ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस व्यवस्था को प्रदेश के सभी जिलों में लागू कर दिया, जिनमें प्रतिदिन मात्र 100 से 200 के बीच ऑफलाइन लाइसेंस बनते रहे हैं। जबकि भोपाल, इंदौर, जबलपुर सहित बड़े जिलों में इनके मुकाबले चार गुना तक ज्यादा लर्निंग लाइसेंस हर दिन बनवाए जाते हैं। इसी का नतीजा यह है कि जब योजना को भोपाल सहित सभी 52 जिलों में दो अगस्त से एक साथ लागू किया गया, तो एनआईसी की सारथी वेबसाइट इतना लोड बढ़ गया कि वह बार-बार हैंग होने लगी।

फीस ऑनलाइन जमा करने के बाद भी 24-24 घंटे बाद तक आवेदकों को ओटीपी तक नहीं मिल पा रहा। एनआईसी के स्टेट लाइसेंस प्रभारी राजीव अग्रवाल का कहना है कि कुछ जिलों के योजना में शामिल हो जाने से कोई फर्क नहीं पड़ता। कुछ तकनीकी गड़बड़ियों व नेटवर्क न मिलने के कारण आवेदकों को परेशानी आ रही होगी, जिसे जल्द दूर करने का प्रयास किया जाएगा। जब विभाग ऑनलाइन सिस्टम को छह दिन बाद भी अच्छे से नहीं चला पा रहा, तो ऑफलाइन आवेदन व उसकी प्रक्रिया को पूरी तरह बंद किया जाना भी आवेदकों को दोहरी परेशानी में डालने वाला है। इसी का नतीजा है कि जिन आवेदकों ने गत दिवस एलएमवी व मोटर साइकिल आदि को चलाने के लिए ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस बनवाने फीस जमा की थी, उनको 24 घंटे बाद भी ओटीपी तक नहीं मिल पा रहा है। इस मामले में ट्रांसपोर्ट कमिश्नर मुकेश जैन ने एनआईसी के अधिकारियों से चर्चा की है।

खबरें और भी हैं...