• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Two Including Master Mind Abu Faisal Jailed For 10 Years, Escaped From Khandwa Jail, Attacked ATS Jawans

सिमी के दो आतंकियों को उम्रकैद:भोपाल में NIA कोर्ट ने सुनाया फैसला; मास्टरमाइंड अबू फैजल समेत दो को 10-10 साल जेल

भोपाल4 महीने पहले

भोपाल में NIA की विशेष कोर्ट ने शुक्रवार को सिमी के दो आतंकियों उमर और सादिक को उम्रकैद की सजा सुनाई है। वहीं, आतंकी अबू फैजल और इरफान नागौरी को 10-10 साल की सजा सुनाई गई है। इनमें अबू फैजल मास्टर माइंड है। फैसला शुक्रवार को विशेष न्यायाधीश रघुवीर पटेल की कोर्ट ने सुनाया। साल 2013 में सेंधवा बॉर्डर पर सिमी आतंकियों ने ATS जवानों पर हमला किया था। इसी मामले में कोर्ट ने सुनवाई की। इरफान नागौरी और अबू फैजल केन्द्रीय जेल भोपाल में बंद हैं। कोर्ट ने 4 लोगों को साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया। प्रकरण में शासन की ओर से विशेष लोक अभियोजक राजेन्‍द्र उपाध्‍याय व निरेन्‍द्र शर्मा, विक्रम सिंह ने पैरवी की।

1 अक्टूबर 2013 को खंडवा जेल से भागे थे
1 अक्टूबर 2013 को अबू फैजल व उसके साथी खंडवा जेल से दीवार फांद कर फरार हो गए थे। एटीएस आईजी को सूचना मिली कि सिमी आतंकी महाराष्‍ट्र और मध्‍यप्रदेश के समीपवर्ती जिले में आने वाले हैं। एटीएस की टीम सेंधवा पहुंची। 23, 24 दिसंबर 2013 के दरमियानी रात अबू फैजल और इरफान नागौरी, खालिद अहमद की एटीएस से मुठभेड़ हुई। इसमें तीनों लोगों ने टीम पर फायरिंग की। एटीएस ने तीनों आतंकियों को दबोच लिया। इनके पास से पिस्‍टल और कारतूस मिले।

पूछताछ में खुलासा हुआ कि आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए उन्‍होंने सोलापुर, महाराष्ट्र के रहने वाले सादिक को विस्फोटक दिया है। एटीएस ने इनकी निशानदेही पर सादिक को पकड़ा। पूछताछ में सादिक ने विस्‍फोटक का उमेर दंडोती के पास होना बताया। उमेर को पकड़ा, तो उसके पास से पिस्‍टल, जिलेटिन रॉड, डायनामाइट बरामद हुआ। एटीएस ने मामले में 16 सिमी सदस्यों को आरोपी बनाया। वर्ष 2016 में जेल से फरार सिमी आतंकी अमजद, अकील, जाकिर, शेख महबूब, सालिक, खालिद, शेख मुजीब और माजिद का एनकांउटर कर दिया गया।

सिमी संगठन के बारे में जानिए
स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) भारत में प्रतिबंधित संगठन है। इसका गठन 25 अप्रैल 1977 को अलीगढ़, उत्तर प्रदेश में हुआ था। सिमी आतंकवादी गतिविधियों से जुड़ा है। इसके चलते सिमी भारत में आतंकवादी गतिविधियों में भागीदारी के लिए 2002 में भारत सरकार द्वारा प्रतिबंधित कर दिया गया था। सिमी को अनलॉफुल एक्टिविटीज प्रिवेंशन एक्ट 1967 (यूएपीए) के तहत प्रतिबंधित किया गया था।

23 से बढ़कर 25 हुए सिमी आतंकी
केन्द्रीय जेल भोपाल में शुक्रवार तक 23 सिमी आतंकी बंद थे। अब दो आतंकी और बढ़ गए। जेल अधीक्षक दिनेश नरगावे ने बताया कि अब जेल में सिमी के 25 कैदी हो चुके हैं, जबकि जमात-ए-मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) से जुड़े 8 आतंकी जेल में बंद हैं। जेल अधीक्षक ने बताया कि आतंकियों पर विशेष निगरानी रखी जाती है।