• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Two Oxygen Plants Of 1 1 Thousand Lpm Capacity In Bhopal's Jaypee Hospital Will Meet The Oxygen Requirement Of 200 Patients; CM Will Also Be Present

जेपी अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट शुरू:200 मरीजों के लिए रोज हो सकेगी ऑक्सीजन सप्लाई, PM मोदी ने वर्चुअली किया उद्घाटन

भोपाल10 दिन पहले
मध्यप्रदेश के भोपाल में ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण के बाद सीएम सहित अतिथि

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के 35 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में ऑक्सीजन प्लांट का गुरुवार को वर्चुअली लोकार्पण किया। भोपाल के जेपी अस्पताल में कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी मौजूद रहे। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज के ही दिन 20 साल पहले मुझे जनता की सेवा की जिम्मेदारी मिली थी। लोगों के बीच रहकर सेवा करने की यात्रा कई साल पुरानी है, लेकिन गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में मुझे नई जिम्मेदारी मिली थी। आज 35 राज्यों में ऑक्सीजन प्लांट की शुरुआत से दूर दराज वाले इलाकों में भी नए वेंटिलेटर्स की सुविधाएं मिल सकेंगी।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हम कोरोना की तीसरी लहर को रोकने में जुटे हैं। मध्यप्रदेश ने वैक्सीनेशन में रिकॉर्ड बनाया है। हम लगातार टेस्ट करते जा रहे हैं। आज मध्यप्रदेश में सिर्फ 4 पॉजिटिव आए हैं। धन्यवाद मोदी जी, आपने सबको फ्री वैक्सीन उपलब्ध कराई। ऑक्सीजन प्लांट की कोई कमी नहीं है। ये प्लांट पीएम कोष से बने हैं।

1000 लीटर प्रति मिनट के दो प्लांट

भोपाल के सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी ने बताया कि प्लांट समय सीमा में पूरे किए गए हैं। जेपी अस्पताल में 1-1 हजार लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन क्षमता के दो प्लांट हैं। एक दिन में 200 मरीजों की आवश्यकता पूरी होगी। अस्पताल में अभी ऑपरेशन समेत 15 जंबो ऑक्सीजन सिलेंडर की खपत होती है। एक सिलेंडर में करीब 7500 लीटर ऑक्सीजन आती है। किसी कारण प्लांट बंद होने पर आधे घंटे तक लगातार सप्लाई के लिए ऑक्सीजन स्टोर रहने की सुविधा है।

माता-पिता को खोने वाले बच्चों को सीएम बांटेंगे चेक
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गुरुवार को मिंटो हॉल में शाम 5 बजे 'मुख्यमंत्री कोविड बाल सेवा योजना' के बाल हितग्राहियों को राशि का वितरण करेंगे। इस दौरान भोपाल, सीहोर और रायसेन के 4 नए बाल हितग्राहियों को मंच पर स्वीकृति पत्र देंगे। साथ ही, 16 बच्चों से मुलाकात करेंगे। कार्यक्रम में 282 पात्र बाल हितग्राहियों को 5 हजार प्रति माह हितग्राही के मान से 14 लाख 10 हजार रुपए उनके खाते में ट्रांसफर की जाएगी। अब तक योजना में प्रदेश के 1360 अनाथ बच्चों को लाभान्वित किया गया है।

खबरें और भी हैं...