नौ दिन का बाजार:वाहनों की कीमत 30 फीसदी बढ़ी, फिर भी प्री काेविड स्तर से 40% ज्यादा बुकिंग

भोपाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
किस दिन ग्राहक को मिलेगी गाड़ी, डीलर नहीं दे पा रहे गारंटी। - Dainik Bhaskar
किस दिन ग्राहक को मिलेगी गाड़ी, डीलर नहीं दे पा रहे गारंटी।
  • इस नवरात्रि... राजधानी में पिछले साल से ज्यादा रजिस्ट्रियां हुईं, इनमें 55 प्रतिशत महिलाओं के नाम पर...

ईंधन के दाम दो साल में 51% से ज्यादा बढ़े हैं। वाहन भी 30% तक महंगे हुए हैं। इसके बाद भी विजयादशमी के लिए वाहनों की बुकिंग कोरोना के पहले के स्तर से 40% ज्यादा है। एक से तीन माह पहले बुकिंग किए बैठे 57% लोगों को ही मनपसंद चार पहिया वाहन मिलेगा। शेष 43% का इंतजार धनतेरस तक बढ़ सकता है।

वाहन डीलर ग्राहकों को यह आश्वासन नहीं दे पा रहे हैं कि दिवाली के इस अहम दिन में वह उन्हें गाड़ी दे ही देंगे। वजह है, कार कंपनियों का उत्पादन घटाना और मांग का बेतहाशा बढ़ना। राजधानी में आज के शुभ मुहूर्त में सिर्फ 400 लोगों को ही चार पहिया वाहन की डिलिवरी मिलेगी, शेष 300 को इंतजार करना पड़ेगा। टू व्हीलर की बात करें तो सालों बाद शहर में किसी भी वाहन की कोई बुकिंग नहीं है।

दो पहिया वाहन... सालों बाद वेटिंग नहीं, ऑनस्पॉट डिलीवरी

  • दो पहिया वाहनों की बिक्री पिछले साल से कम है। वजह है, लंबे समय तक स्कूल-कॉलेज का बंद रहना।
  • धनतेरस पर बिक्री में उछाल आने की उम्मीद। साथ ही दशहरे के दिन 100 इलेक्ट्रिक दो पहिया वाहन बिक सकते हैं।
  • चार पहिया: कोविड के बाद क्रेज बढ़ा है। मांग आपूर्ति से 43% तक कम। छोटी एसयूवी में 6-6 माह वेटिंग। 300 से ज्यादा लोगों को बुकिंग के बाद भी नहीं मिलेंगे वाहन। धनतेरस पर मांग व आपूर्ति का अंतर 60% तक पहुंच सकता है।

नवमी पर 380 रजिस्ट्री, प्रदेश में दूसरे नंबर पर रहा भोपाल

लंबे समय तक कोरोना से जूझने के बाद एक बार फिर प्रॉपर्टी बाजार गुलजार होने लगा है। पिछले तीन सालों में इस बार अपेक्षाकृत अधिक रजिस्ट्री हुई हैं। दो प्रतिशत की छूट मिलने की वजह से और त्योहार के चलते 55 प्रतिशत से ज्यादा रजिस्ट्री महिलाओं के नाम से हुई हैं। पिछले साल नवरात्रि के दौरान रजिस्ट्री से सवा 24 करोड़ रुपए की आय हुई थी।

इस बार यह आंकड़ा करीब 26 करोड़ रुपए पर पहुंच गया है। भोपाल में सबसे ज्यादा प्रॉपर्टी की खरीद-फरोख्त कोलार रोड, होशंगाबाद रोड, अयोध्या बायपास, विदिशा रोड आदि क्षेत्रों में हुई। जानकारी के मुताबिक नवरात्र के दौरान इस बार 2458 रजिस्ट्रियां हुई हैं। अधिकारियों का कहना है कि जरूरत पड़ी तो त्योहारों के लिए स्लॉट बढ़ाए जा सकते हैं।

इस महीने अब तक 3153 रजिस्ट्री

गुरुवार को नवमी पर 380 रजिस्ट्री हुई। प्रदेश में भोपाल दूसरे नंबर पर रहा। इंदौर में सर्वाधिक 566 ई- रजिस्ट्री हुई। इस महीने अब तक 3153 रजिस्ट्रियां हुई हैंं, जबकि इस वित्तीय वर्ष में अब तक 34 हजार रजिस्ट्री हो चुकी हैंं।

टैक्स में दो प्रतिशत की छूट है

महिलाओं को टैक्स में दो प्रतिशत की छूट मिल रही है। इसके साथ कोरोना भी पूरी तरह नियंत्रित है। लोग अब निवेश कर रहे हैं। रोजगार बढ़ा है, इस वजह से नवरात्रि पर रजिस्ट्री भी अधिक हुई है।
-अविनाश लवानिया, कलेक्टर

खबरें और भी हैं...