• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Waiting And Retiring Rooms Will Run On PPP Basis; The Number Of Chairs Will Be Increased In The Extended Area Of Platform Number One.

भोपाल रेलवे स्टेशन की शक्ल बदलने की कवायद शुरू:पीपीपी के आधार पर चलेंगे वेटिंग और रिटायरिंग रूम्स; प्लेटफॉर्म नंबर एक के एक्सेंडेड एिरया में बढ़ाई जाएंगी कुर्सियों की संख्या

भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्लेटफॉर्म नंबर-1 के विस्तारित एरिया में चेयर संख्या बढ़ाएं जाने से लोग दूर-दूर बैठ सकेंगे। - Dainik Bhaskar
प्लेटफॉर्म नंबर-1 के विस्तारित एरिया में चेयर संख्या बढ़ाएं जाने से लोग दूर-दूर बैठ सकेंगे।

अब भोपाल रेलवे स्टेशन की शक्ल बदलने की कवायद भी शुरू हो गई हैं। यहां यात्री सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी। इसके लिए डीआरएम को इंजीनियरिंग और कमर्शियल विभाग की ओर से सुझाव भेजे गए हैं। इसमें कहा गया है कि मौजूदा वेटिंग और रिटायरिंग रूम्स को पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप के आधार पर संचालित किया जाना चाहिए।

वहीं, प्लेटफॉर्म नंबर-1 के विस्तारित एरिया में चेयर संख्या बढ़ाएं जाने से लोग दूर-दूर बैठ सकेंगे। साथ ही फिल्टर प्लांट लगाकर पानी की कमी को दूर किया जाना चाहिए। प्लेटफॉर्म नंबर-6 की ओर अवैध रूप से आने-जाने वालों पर रोक लगाने के साथ ही लाइट की व्यवस्था दोनों छोर पर बढ़ाई जाए।

वहीं, डीआरएम सौरभ बंदोपाध्याय देर शाम भोपाल स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर-1 की ओर नई बिल्डिंग में चल रहे कामों को देखने पहुंचे। इस दौरान तय हुआ कि नई बिल्डिंग में भी कॉन्कोर्स बनाया जाएगा, जिसमें से होकर यात्री स्टेशन के भीतर एंट्री कर सकेंगे। हालांकि वहां बनाया जाने वाला कॉन्कोर्स फर्स्ट फ्लोर पर ही रहेगा।

इसमें ही एस्केलेटर, लिफ्ट और ट्रेवलेटर लगाए जाएंगे। इनसे होकर यात्री ऊपरी मंजिलों पर पहुंच सकेंगे, जहां फूड प्लाजा, मीटिंग हॉल और रेस्टोरेंट का निर्माण होगा। फिलहाल मार्च अंत तक बिल्डिंग के भीतर यह काम पूरे करने का लक्ष्य रखा गया है।

डिजिटल बिल्डिंग

करीब 22 करोड़ की नई बिल्डिंग डिजिटल संसाधनों से लैस होगी। सभी डिस्प्ले और एलईडी इंफॉर्मेशन सिस्टम को डिजिटल तकनीक से संचालित किया जाएगा। इससे सभी जानकारियां सटीक तरीके से सुनने-देखने को मिल सकेंगी।

एसी रहेंगे वेटिंग हॉल

यहां पर भी रानी कमलापति रेलवे स्टेशन की तर्ज पर नई बिल्डिंग में सभी वेटिंग हॉल, रिटायरिंग रूम्स व डॉरमेट्री को एसी बनाया जाएगा। साथ ही कम से कम रेट पर उन्हें यात्रियों को उपलब्ध करवाया जाएगा।

यह भी होगा रेलवे स्टेशन की नई बिल्डिंग में

  • चारों मंजिल तक आवागमन के लिए एस्केलेटर, ट्रेवलेटर व लिफ्ट रहेंगी।
  • एग्जीक्यूटिव लाउंज
  • हर मंजिल को पुरानी बिल्डिंग व प्लेटफॉर्म से लिंक किया जाएगा।
  • इटारसी छोर पर बने एफओबी को पुरानी के साथ नई बिल्डिंग से कनेक्ट किया जाएगा।
खबरें और भी हैं...