जेल जाते ही मिर्ची बाबा का सियासी रसूख खत्म:कोई नेता मिलने नहीं पहुंचा, चेले भी लापता; अकेले बैठकर रो रहा रेप का आरोपी बाबा

भोपाल3 महीने पहलेलेखक: नीलेंद्र पटेल

नेताओं से घिरा रहने वाला मिर्ची बाबा उर्फ वैराग्यानंद गिरि सलाखों के पीछे खूंखार कैदियों के बीच दिन गुजार रहा है। उस पर भभूति देकर महिला से रेप करने का आरोप है। मिर्ची बाबा को 8 अगस्त को भोपाल सेंट्रल जेल भेज दिया गया था। तब से आज तक उसकी किसी नेता या चेले ने खबर नहीं ली।

जेल अधीक्षक दैनिक भास्कर ने जाना कि जेल की रोटी तोड़ रहे मिर्ची बाबा के दिन कैसे गुजर रहे हैं...

एक फिल्म में देखा था मिर्ची यज्ञ और खुद करने लगा...

बाबा जेल में भी शांत नहीं रहा। यहां साथी कैदियों को मिर्ची यज्ञ के बारे में बताया। कहा- भगवती बगलामुखी को खुश करने के लिए मिर्ची का हवन का विधान है। इस यज्ञ से शत्रु को शांत करने की शक्ति मिलती है। मिर्ची यज्ञ के बारे में जानकारी कैसे मिली? पूछने पर बोला- बॉलीवुड की एक फिल्म में मिर्ची यज्ञ के बारे में देखा था, तब से मैंने भी शुरू कर दिया।

जनवरी 2022 में मिर्ची बाबा गोवंश सुरक्षा की मांग को लेकर मिनाल रेसिडेंसी (भोपाल) स्थित अपने घर में अनशन पर बैठ गए थे। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उनका अनशन तुड़वाया था। उस दिन मिर्ची बाबा सीएम हाउस जाने वाले थे, लेकिन पुलिस ने उनके घर के गेट पर ही रोक लिया था।
जनवरी 2022 में मिर्ची बाबा गोवंश सुरक्षा की मांग को लेकर मिनाल रेसिडेंसी (भोपाल) स्थित अपने घर में अनशन पर बैठ गए थे। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उनका अनशन तुड़वाया था। उस दिन मिर्ची बाबा सीएम हाउस जाने वाले थे, लेकिन पुलिस ने उनके घर के गेट पर ही रोक लिया था।

चेला गोपाल की तलाश में जुटी पुलिस

पुलिस मिर्ची बाबा के चेले गोपाल की तलाश कर रही है। पुलिस ने उसे भी आरोपी बनाया है। पुलिस का कहना कि गोपाल ही रायसेन की महिला को बाबा के पास मिलने के लिए लेकर आया था। बाबा के हर पाप की जानकारी गोपाल को है। वह भी अपराध में शामिल है। गोपाल के साथ एक महिला भी रहती थी। हालांकि अभी उसकी पहचान नहीं हुई है। उस महिला को भी तलाशा जाएगा।

MP के ढोंगी बाबा...पहले जीतते भरोसा, फिर लूटते अस्मत:भभूति तो किसी ने प्रसाद देकर किया रेप; जानें मिर्ची बाबा से लेकर अन्य ढोंगी बाबाओं की घिनौनी करतूतें

अब बाबा का भौकाल जान लेते हैं…

वर्ष 2019 में हुए लोकसभा चुनाव से पहले देश के लोग मिर्ची बाबा नाम से अनजान थे। लोकसभा चुनाव के दौरान भोपाल में अचानक से मिर्ची बाबा की एंट्री होती है। बाबा मिर्ची यज्ञ कर कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह को जीत दिलाने का दावा करते हैं। इसके बाद बाबा छा जाते हैं। बाबा मिर्ची यज्ञ कर कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह को जीत तो नहीं दिला पाए लेकिन अपना भौकाल जरूर टाइट कर लिया। भगवा वस्त्र पहनने वाला मिर्ची बाबा खुद को व्हाइट कॉलर वाले नेता के तौर पर प्रोजेक्ट करने लगा। उसके दरबार में प्रदेश के ही नहीं दूसरे राज्यों के नेता, मंत्री-संत्री हाजिरी लगाने आने लगे।

सियासी रसूख बढ़ा तो बाबा मिनाल रेसीडेंसी के पॉश इलाके में किराए के डुप्लेक्स में पॉलिटिकल मीटिंग्स करने लगा। पांच साल पहले तक पैदल यात्रा करने वाला बाबा लग्जरी गाड़ियों के काफिले के साथ चलने लगा। उसके दरबार में पहुंचने वाला कोई रास्ता न भटके, सही लोकेशन पर पहुंचे, इसके लिए बैनर-पोस्टर, होर्डिंग्स लगाए गए। प्रदेश की राजनीति में बाबा ने खुद को इतना ताकतवर बना लिया कि लोकसभा, विधानसभा के टिकट दिलाने तक की सौदेबाजी करने लगा। वर्ष 2019 से शुरू हुआ बाबा का यह भौकाल 8 अगस्त 2022 तक चला।

ये है मामला

वैराग्यनंद गिरि उर्फ मिर्ची बाबा रेप केस में फंस गए हैं। मिर्ची बाबा को ग्वालियर के होटल से 8 अगस्त को गिरफ्तार किया गया। बाबा पर रायसेन की रहने वाली 28 साल की महिला ने भोपाल के महिला थाने में रेप का केस दर्ज कराया है। मिर्ची बाबा को नागा बाबा का दर्जा प्राप्त है। वे खुद को हरिद्वार के पंचायती निरंजनी अखाड़े का महामंडलेश्वर कहते हैं। महिला ने शिकायत में बताया था कि उसकी शादी को चार साल हो चुके हैं। बच्चे नहीं हैं, इसलिए मिर्ची बाबा के संपर्क में आई थी। बाबा ने पूजा-पाठ कर संतान होने का दावा किया। इलाज के नाम पर महिला को नशे की गोलियां खिलाकर रेप किया। घटना इसी साल जुलाई की है। विरोध करने पर बाबा बोला- बच्चा ऐसे ही होता है।

अंत में मिर्ची बाबा का सियासी रसूख भी देख लीजिए...

फरवरी 2022 में मिर्ची बाबा ने गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा से उनके चार इमली स्थित आवास (भोपाल) में मुलाकात की थी। उन्होंने 15 मिनट तक गृहमंत्री से चर्चा की।
फरवरी 2022 में मिर्ची बाबा ने गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा से उनके चार इमली स्थित आवास (भोपाल) में मुलाकात की थी। उन्होंने 15 मिनट तक गृहमंत्री से चर्चा की।
2019 के लोकसभा चुनाव में मिर्ची बाबा ने भोपाल से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह की जीत के लिए 5 क्विंटल लाल मिर्ची से हवन किया था। दिग्विजय को प्रज्ञा ठाकुर ने हराया था।
2019 के लोकसभा चुनाव में मिर्ची बाबा ने भोपाल से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह की जीत के लिए 5 क्विंटल लाल मिर्ची से हवन किया था। दिग्विजय को प्रज्ञा ठाकुर ने हराया था।
कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा (लेफ्ट) के साथ मिर्ची बाबा। सज्जन सिंह देवास की सोनकच्छ विधानसभा सीट से विधायक हैं। मध्यप्रदेश के पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री रह चुके हैं।
कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा (लेफ्ट) के साथ मिर्ची बाबा। सज्जन सिंह देवास की सोनकच्छ विधानसभा सीट से विधायक हैं। मध्यप्रदेश के पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री रह चुके हैं।
केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री के साथ मिर्ची बाबा। सिंधिया ने 2020 में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी जॉइन कर ली थी। इससे 2018 में बनी कमलनाथ सरकार गिर गई थी।
केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री के साथ मिर्ची बाबा। सिंधिया ने 2020 में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी जॉइन कर ली थी। इससे 2018 में बनी कमलनाथ सरकार गिर गई थी।

ये भी पढ़ें

मिर्ची बाबा पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता बोली- पता चला था बाबा बच्चा पैदा होने की दवा देते हैं, उसने भभूति देकर रेप किया

पता चला था बाबा बच्चा पैदा होने की दवा देते हैं, उसने भभूति देकर रेप किया...

रेप के आरोप में मिर्ची बाबा गिरफ्तार:रायसेन की महिला ने भोपाल में दर्ज कराया केस; विरोध पर बाबा ने कहा था- बच्चा ऐसे ही होता है

खबरें और भी हैं...