बेटे का मां के सामने तलवार से कत्ल:भोपाल में बेटी के भागने पर गालियां दे रहा था पड़ोसी; विरोध करने पर कर दी हत्या

भोपाल15 दिन पहले

भोपाल के अशोका गार्डन इलाके में प्राइवेट कंपनी में जॉब करने वाले युवक की बाप-बेटे ने हत्या कर दी। आरोपियों ने मां के सामने ही बेटे पर तलवार से हमला कर उसकी जान ले ली। साथ ही उसकी मां और बहन को भी पीटा। दरअसल युवक का रिश्तेदार आरोपी की बेटी को भगा ले गया है। इसी बात से नाराज लड़की का बाप हर कभी लड़के के पूरे समाज को जातिसूचक गालियां देने लगता था। इसी बात का विरोध करना आरोपियों को नागवार गुजरा। पुलिस ने आरोपी बाप-बेटे को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक, गोविंदपुरा ओद्यौगिक एरिया के रूपनगर में रहने वाला दीपक उर्फ गोलू ओड (22) पिता कलतार सिंह सनफील्ड कंपनी में जॉब करता था। दो महीने पहले उसका दूर का रिश्तेदार लखन पड़ोस में रहने वाले हेमराज सावनेर की बेटी को भगाकर ले गया। इसी बात को लेकर हेमराज, दीपक के समाज (जाति) का नाम लेकर हर रोज मोहल्ले में गाली देता था। मृतक दीपक पिता कलतार सिंह का गोद लिया बेटा था। कलतार सिंह ने अपने भाई धीर सिंह से दीपक को गोद लिया था।

दीपक ने आरोपी को गालियां देने से रोका था
शनिवार रात 8 बजे दीपक घर के पास खड़ा था, तभी आरोपी हेमराज ने उसे जातिसूचक गालियां देना शुरू कर दिया। दीपक ने हेमराज को कहा कि पूरे समाज को क्यों गाली देते हो, जिसकी गलती है, उसे बोले। इससे तिलमिलाए हेमराज और उसके बेटे करण ने दीपक, उसकी मां तुलसीबाई, बहन पूजा से मारपीट कर दी।

परिजन घायल हालत में दीपक को अस्पताल लेकर पहुंचे। डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। दीपक परिवार का इकलौता बेटा था। पिता मजदूरी करते हैं।
परिजन घायल हालत में दीपक को अस्पताल लेकर पहुंचे। डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। दीपक परिवार का इकलौता बेटा था। पिता मजदूरी करते हैं।

आरोपी ने बेटे से तलवार मंगवाई
इसी बीच हेमराज ने बेटे से तलवार मंगाई और दीपक की छाती पर मार दी। तलवार लगते ही दीपक लहूलुहान हालत में जमीन पर गिर पड़ा। आनन-फानन में परिजन उसे अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

दीपक परिवार का इकलौता बेटा था
मामले की जांच कर रहे ASI जयवीर सिंह ने बताया कि आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। हत्या में इस्तेमाल तलवार भी बरामद कर ली गई है। दीपक परिवार का इकलौता बेटा था। उसकी एक बहन है। दीपक के पिता मजदूरी करते हैं।