• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Where the transition is less, the trains going to full; People are not going to Delhi, Mumbai and Chennai due to fear of Corona, trains empty

कोरोना का असर / जहां संक्रमण कम, वहां जाने वाली ट्रेनें फुल; कोरोना के भय से दिल्ली, मुंबई व चेन्नई नहीं जा रहे लोग, ट्रेनें खाली

जानिए... किस जगह के लिए कितनी वेटिंग और कितनी सीटें खाली जानिए... किस जगह के लिए कितनी वेटिंग और कितनी सीटें खाली
X
जानिए... किस जगह के लिए कितनी वेटिंग और कितनी सीटें खालीजानिए... किस जगह के लिए कितनी वेटिंग और कितनी सीटें खाली

  • दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरू, चेन्नई और हैदराबाद जैसे स्थानों के लिए जहां एसी व स्लीपर श्रेणी में अक्सर 50 से ज्यादा वेटिंग बनी रहती है

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 05:25 AM IST

भोपाल. लोग उन स्थानों पर जाने से कतरा रहे हैं, जहां कोरोना के मरीजों की संख्या ज्यादा।  इसका अंदाजा इससे से लगाया जा सकता है कि दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरू, चेन्नई और हैदराबाद जैसे स्थानों के लिए जहां एसी व स्लीपर श्रेणी में अक्सर 50 से ज्यादा वेटिंग बनी रहती है, इस समय इन ट्रेनों में सीटें खाली पड़ी हुई हैं। राजधानी से लेकर पुष्पक एक्सप्रेस और तेलंगाना व एसी एपी एक्सप्रेस ट्रेनों में सीटें खाली हैं। वहीं उप्र के गोरखपुर, वाराणसी और लखनऊ ऐसे स्थान हैं, जहां कोविड के मामले कम हैं। इस वजह से उस तरफ जाने वाली कुशीनगर, कामायनी और पुष्पक एक्सप्रेस की एसी-3 व स्लीपर श्रेणी में वेटिंग मिल रही है। 

आमतौर पर जून अंत में तो मुंबई, दिल्ली, बेंगलुरू, हैदराबाद व चेन्नई जैसे स्थानों के लिए हर श्रेणी में खासी वेटिंग होती है। कई यात्री तो इमरजेंसी कोटे या तत्काल का टिकट भी 3 गुने दाम तक में खरीदते हैं। 

यदि भोपाल से हैदराबाद व बेंगलुरू के लिए खाली सीट की संख्या देखी जाए, तो वह दिल्ली, मुंबई व चेन्नई के मुकाबले कम हैं। इसका मुख्य कारण दिल्ली, मुंबई व चेन्नई में कोविड के मामले ज्यादा होना है। इसलिए लोग यहां जाने से कतरा रहे हैं। जबकि हैदराबाद व बेंगलुरू के लिए औसत यात्री सफर कर रहे हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना