• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Will Remind The Government Of The Promise, Performed 1 Year Ago; If The Demands Are Not Met, We Will Start The Movement Again.

MP के मंडीकर्मी आज काली पट्‌टी बांधकर कर रहे काम:सरकार को वेतन-पेंशन का वादा याद दिला रहे, 1 साल पहले किया था प्रदर्शन; मंडी बोर्ड में मर्ज करने की भी मांग

मध्यप्रदेश8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जबलपुर में काली पट्‌टी बांधकर नारेबाजी करते कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
जबलपुर में काली पट्‌टी बांधकर नारेबाजी करते कर्मचारी।

MP के करीब 10 हजार मंडी कर्मचारी शुक्रवार को काली पट्‌टी बांधकर काम करेंगे। सुबह दफ्तर पहुंचते ही उन्होंने काली पट्‌टी बांधी और नारेबाजी की। पूरे दिन वे काली पट्‌टी बांधकर ही काम करेंगे। इस प्रदर्शन के जरिए वे प्रदेश सरकार को उस वादे की याद दिला रहे हैं, जो सितंबर-अक्टूबर 2020 को किया था। पिछले साल मंडीकर्मियों ने वेतन-पेंशन और मंडी बोर्ड में मर्ज करने के लिए बड़ा आंदोलन किया था। रैली, लाठीचार्ज और कई दिन तक धरना-प्रदर्शन करने के बाद सरकार ने मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया था। संयुक्त संघर्ष मोर्चा मध्यप्रदेश मंडी बोर्ड के पदाधिकारियों का कहना है कि एक साल बाद भी मांगें पूरी नहीं हो गई है।

सरकार को उसका वादा याद दिलाने के लिए शुक्रवार से प्रदर्शन की शुरुआत कर दी गई है। पहले दिन मंडीकर्मी काली पट्‌टी बांधकर काम करेंगे। यदि सरकार ने तब भी मांगों के निराकरण करने का वादा नहीं निभाया, तो 10 दिन बाद प्रदेशभर में बड़ा आंदोलन करने की रणनीति बनाई जाएगी।

नीमच जिले में प्रदर्शन में शामिल मंडीकर्मी।
नीमच जिले में प्रदर्शन में शामिल मंडीकर्मी।

3 महीने की जगह 1 साल बीता, पर मांगें पूरी नहीं हुई
मोर्चा के प्रदेश संयोजक बीबी फौजदार, एग्रीकल्चर मंडी बोर्ड ऑफिसर्स एम्पलाइज एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष अंगिराप्रसाद पांडे एवं अजाक्स शाखा मंडी बोर्ड के अध्यक्ष नैन सिंह सोलंकी ने बताया कि पिछले साल 3 अक्टूबर को CM शिवराज सिंह चौहान एवं कृषि मंत्री कमल पटेल ने तीन महीने के भीतर मांगों का निराकरण करने का आश्वासन दिया था, पर अब एक साल बीत गया है। बावजूद मांगें पूरी नहीं हो पाई हैं। हालांकि, प्रस्ताव जरूर बन गया है, लेकिन वरिष्ठ अफसरों के पास ही फाइल पेंडिंग है। सरकार को अपना वादा याद दिलाने के लिए ही प्रदर्शन की शुरुआत की जा रही है।

ये हुआ था पिछले साल

  • पेंशन-वेतन समेत अन्य मांगों को लेकर पिछले साल सितंबर में प्रदेशभर की मंडियों के अधिकारी-कर्मचारी कई दिन तक हड़ताल पर रहे थे।
  • हड़ताल के दौरान वल्लभ भवन के पास पुलिस ने आंदोलनकारी मंडीकर्मियों पर लाठीचार्ज भी किया था।
  • बाद में सरकार ने मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया था।
  • आश्वासन के बाद कई दिन से चल रही हड़ताल खत्म हो गई थी।
  • मांगों का निराकरण 3 महीने में किया जाना था, लेकिन 1 साल बीत चुका है।

प्रदेशभर में प्रदर्शन

मोर्चा के प्रदेश संयोजक फौजदार एवं एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष पांडे ने बताया कि प्रदेशभर में प्रदर्शन हो रहा है। बुरहानपुर में सुबह 6 बजे फल-सब्जी विभाग के कर्मचारियों ने काली पट्‌टी बांधकर ही काम किया। जबलपुर, राजगढ़, शाजापुर, आगर, नीमच समेत अनेक जिलों में प्रदर्शन किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...