• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Written In Suicide Note I Am Physically, Mentally Disturbed, A Family Member Should Be Given Compassionate Appointment

भोपाल में माध्यमिक शिक्षा मंडल के क्लर्क ने खुदकुशी की:छत पर बने टीनशेड के कमरे में फंदा लगाया, 2017 में पैरालिसिस होने के बाद से परेशान थे

भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

माध्यमिक शिक्षा मंडल के क्लर्क ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। उनके पास पुलिस को सुसाइड नोट मिला है। जिसमें उन्होंने लिखा-मैं शारीरिक, आर्थिक, मानसिक तौर पर परेशान हूं। इसलिए खुदकुशी कर रहा हूं। इसके लिए किसी को परेशान नहीं किया जाए। मुख्यमंत्री, माध्यमिक शिक्षा मंडल से मांग कर रहा हूं कि मेरे परिवार के एक सदस्य को अनुकंपा नियुक्त दी जाए। बताया गया कि वर्ष 2017 से पैरालिसिस से ग्रस्त थे। गोविंदपुरा पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

रचना नगर में रहने वाले 53 साल के प्रवीण प्रधान माध्यमिक शिक्षा मंडल, मध्यप्रदेश में सहायक क्लर्क के पद पर पदस्थ थे। 2017 से वह वह पैरालिसिस से पीड़ित थे। उनका इलाज चल रहा था। मंगलवार दोपहर वह खाना खाने के बाद घर पर ही थे। शाम करीब पांच बजे परिवार के सदस्यों को नहीं दिखे। इस पर परिवार उन्हें तलाशने लगा। इसी बीच छत पर बने टीन शेड के कमरे में वह फंदे पर लटके मिले। उन्होंने रस्सी का फंदा बनाकर फांसी लगाई थी। परिजन तुरंत ही उन्हें नीचे उतारा। तब तक काफी देर हो चुकी थी।

सुसाइड नोट में यह लिखा...
प्रवीण मंडल के पर्स में पुलिस को सुसाइड नोट मिला। साथ में मोबाइल भी रखा था। सुसाइड नोट में लिखा-मैं शारीरिक, आर्थिक, मानसिक तौर पर परेशान हूं। अब शरीर आत्मा को त्याग रहा है। इसलिए खुदकुशी कर रहा हूं। इसके लिए किसी को परेशान नहीं किया जाए। मुख्यमंत्री, माध्यमिक शिक्षा मंडल से मांग कर रहा हूं कि मेरे परिवार के एक सदस्य को अनुकंपा नियुक्त दी जाए। पुलिस ने सुसाइड नोट को जांच में लिया है। उनके परिवार के सदस्यों ने पुलिस को बताया कि वह बीमारी की वजह से काफी तनाव में रहने लगे थे। उनके दो बेटे हैं।

खबरें और भी हैं...