• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Umang Singhar Wife's Letter To Sonia Gandhi; MP Congress MLA Rape Case | Madhya Pradesh News

कांग्रेस MLA की पत्नी का सोनिया गांधी को लेटर:लिखा- उमंग को महिलाओं की कॉल रिकॉर्डिंग का शौक; पढ़िए पूरी चिट्‌ठी

भोपाल13 दिन पहले

कांग्रेस विधायक और पूर्व वन मंत्री उमंग सिंघार की मुसीबतें और बढ़ सकती हैं। सिंघार पर रेप का केस दर्ज कराने वाली उनकी पत्नी ने अब सोनिया गांधी को पत्र लिखा है। जिसमें खुद को उनकी बेटी बताते हुए सिंघार से जुड़ी कई विवादित बातों का खुलासा किया है, साथ ही उन्हें पार्टी से भी निष्कासित करने की मांग की है।

पीड़िता खुद यूथ कांग्रेस की पदाधिकारी हैं और जबलपुर में रहती हैं। मध्यप्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार बनने के दौरान पीड़िता आरोपी उमंग सिंघार के संपर्क में आई थीं। इसी साल 16 मार्च को दोनों ने शादी की थी। उमंग धार के गंधवानी से 3 बार से कांग्रेस विधायक हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए 4 थानों की पुलिस लगातार सर्च कर रही है।

आगे बढ़ने से पहले जान लेते हैं पूरा मामला...
उमंग सिंघार के खिलाफ उनकी पत्नी ने रेप का केस दर्ज कराया है। उसने पहले जबलपुर थाने में शिकायत की थी, जहां से धार पुलिस को सूचना दी गई। इसके बाद धार पुलिस ने केस दर्ज किया। विधायक की 38 वर्षीय पत्नी ने अप्राकृतिक कृत्य और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने के भी आरोप लगाए हैं। विधायक पर रेप, अप्राकृतिक कृत्य की धारा 376, 377, 498 ए सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।

उमंग सिंघार तीसरी बार के विधायक हैं। 2008 में गंधवानी से पहली बार विधायक बने। 2013 में दूसरी और 2018 में तीसरी बार विधायक चुने गए। कमलनाथ सरकार में 29 दिसंबर 2018 से 20 मार्च 2020 तक वन मंत्री भी रहे। अभी कांग्रेस ने उन्हें गुजरात विधानसभा चुनाव में सह प्रभारी बनाया है।
उमंग सिंघार तीसरी बार के विधायक हैं। 2008 में गंधवानी से पहली बार विधायक बने। 2013 में दूसरी और 2018 में तीसरी बार विधायक चुने गए। कमलनाथ सरकार में 29 दिसंबर 2018 से 20 मार्च 2020 तक वन मंत्री भी रहे। अभी कांग्रेस ने उन्हें गुजरात विधानसभा चुनाव में सह प्रभारी बनाया है।

पढ़िए, पूरा लेटर...

आदरणीय मैडम,
मैं उमंग सिंघार की पत्नी। बहुत दर्द और निराशा में लिख रही हूं कि मेरे साथ उमंग ने कई बार गलत किया है, लेकिन इस बार उसने सारी हदें पार कर दी हैं। मैं अब और बर्दाश्त नहीं कर सकती। आपको बताना जरूरी है, क्योंकि आप पार्टी प्रमुख हैं और आपने हमेशा महिलाओं का समर्थन किया है, उनके आंसू पोंछे हैं। हर उस महिला की मदद की है, जिसे जरूरत थी, इसलिए मैं आपसे न्याय की उम्मीद करती हूं।

उमंग सिंघार ने पहले भी कई अन्य महिलाओं का शोषण किया है, जिनमें से एक ने कथित तौर पर फांसी लगा ली थी या उसकी हत्या कर दी गई थी। इसकी सच्चाई सिर्फ मुझे पता है। उसकी लड़ाई लड़ने वाला कोई नहीं था।

उमंग को महिलाओं की बातचीत रिकॉर्ड करने का शौक है। वह अपनी पूर्व पत्नी के वीडियो और ऑडियो रिकॉर्ड करता था और उसने मेरे साथ भी ऐसा ही किया है। अब वह इसका इस्तेमाल कर मुझे ब्लैकमेल कर रहा है। वह धमकी देता है, मारता है, शोषण करता है, परेशान करता है। उसके कई व्यक्तित्व हैं, वह आपके और दूसरों के सामने अलग तरह से रहता है।

ऐसे व्यक्ति को पार्टी का हिस्सा नहीं बनना चाहिए। मैंने उसके खिलाफ कई शिकायतें दर्ज की हैं, लोकल पुलिस उसकी एसपी से निकटता और पैसे के कारण मदद नहीं कर रही थी। मैं कभी नहीं चाहती थी कि ये जानकारी सार्वजनिक रूप से सामने आए, क्योंकि यह मेरा निजी मामला है, लेकिन मेरे पास कोई दूसरा ऑप्शन नहीं बचा था। आखिरकार मैंने उसके खिलाफ केस दर्ज करा दिया।

आपको सूचित करना चाहती थी, क्योंकि हम दोनों कांग्रेस पार्टी का हिस्सा हैं। मैं राजनीति में आने के बाद से इसी पार्टी की सदस्य हूं। इसलिए न्याय की उम्मीद है। कृपया उमंग सिंघार को तत्काल निष्कासित करें, ताकि उसके जैसे अपराधियों के खिलाफ एक उदाहरण स्थापित किया जा सके। - आपकी बेटी

(इस चिट्‌ठी को पीड़िता ने सोनिया गांधी के अलावा राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और कमलनाथ को भी भेजा है।)

सिंघार बोले थे- मैं कोर्ट में न्याय मागूंगा...
केस दर्ज होने के बाद ही सिंघार का बयान सामने आया था। उन्होंने कहा था- समझ नहीं आ रहा है कि इस प्रकार का राजनीतिक षड्यंत्र क्यों रचा जा रहा है। जो नेता इसे रच रहे हैं, वे इतनी गंदी राजनीति नहीं करें। मैं गंधवानी में ईमानदारी से काम करता रहूंगा। इस महिला ने जो-जो आरोप लगाए हैं, यह हमारा निजी मामला है। जब कोई व्यक्ति अपने परिवार के खिलाफ ऐसे आरोप लगाता है तो दुख होता है। मैं उनका सम्मान करता हूं। जिस प्रकार से उन्होंने मुझे मानसिक और आर्थिक रूप से प्रताड़ित किया, उसे लेकर आवेदन पुलिस को दिया था। उस पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। यह प्रताड़ना पिछले 6 महीने से झेल रहा था। मेरी स्थिति ऐसी हो गई थी कि मैं सुसाइड कर लूं। मैंने जनता की सेवा करना चुना। मैं कोर्ट ने न्याय की मांग करूंगा।

रेप का आरोप लगने के बाद उमंग सिंघार का एक बयान सामने आया था, जिसमें उन्होंने कहा था- इस महिला ने जो-जो आरोप लगाए हैं, यह हमारा निजी मामला है। सिंघार ने भी महिला पर मानसिक और आर्थिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया।
रेप का आरोप लगने के बाद उमंग सिंघार का एक बयान सामने आया था, जिसमें उन्होंने कहा था- इस महिला ने जो-जो आरोप लगाए हैं, यह हमारा निजी मामला है। सिंघार ने भी महिला पर मानसिक और आर्थिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया।

CM बोले- न किसी को फंसाएंगे, न बचाएंगे
सिंघार केस में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का भी बयान सामने आया। उन्होंने कहा- कानून अपना काम करता है। न हम किसी को बचाएंगे और न ही किसी को फंसाएंगे। मैं किसी व्यक्ति विशेष की बात नहीं करता हूं। अगर शिकायत की है तो इसकी जांच कर जरूरी कार्रवाई की जाएगी।

उमंग सिंघार से जुड़ी ये खबरें भी पढ़िए...

कांग्रेस MLA सिंघार पर रेप का केस, पढ़िए FIR

पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार के खिलाफ उनकी पत्नी ने रेप का केस दर्ज कराया है। उसने पहले जबलपुर थाने में शिकायत की थी, जहां से धार पुलिस को सूचना दी गई। इसके बाद धार पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया। विधायक की 38 वर्षीय पत्नी ने मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाया है। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

रेप के आरोपी विधायक सिंघार ने बुआ से सीखी राजनीति...

मध्यप्रदेश के दबंग आदिवासी नेता उमंग सिंघार। उम्र- 48 साल। 3 बार विधायक और कांग्रेस सरकार में वन मंत्री रहे। अभी तक मिली जानकारी में उनकी तीन पत्नियां हैं। अब उनका राजनीतिक करियर खतरे में दिख रहा है। सोमवार को उनकी 38 वर्षीय तीसरी पत्नी ने उनके खिलाफ धार में रेप का केस दर्ज कराया है। सिंघार पूर्व उप मुख्यमंत्री और कांग्रेस की कद्दावर नेत्री जमुना देवी के भतीजे हैं। उमंग ने राजनीति का ककहरा बुआ जमुना देवी से सीखा। उनके निधन से पहले ही उमंग राजनीति में कदम रख चुके थे। जानते हैं विवादों में आए पूर्व मंत्री की पूरी कहानी... कैसे राजनीति में आए? कब-कब सुर्खियों में रहे। यहां क्लिक कर पढ़िए पूरी खबर

रेप के आरोपी MLA की तलाश: शिवराज की दो टूक

मध्यप्रदेश के गंधवानी से कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री उमंग सिंघार की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। विधायक पर उनकी पत्नी न रेप की FIR कराई है। फरार चल रहे विधायक को चार थानों की पुलिस तलाश रही है। इधर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी स्पष्ट कर दिया है कि इस मामले में कानून अपना काम करेगा। पूरी खबर पढ़ें...

विधायक की महिला मित्र सोनिया ने की थी खुदकुशी

मध्यप्रदेश के पूर्व वन मंत्री और गंधवानी से कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार की मुश्किलें बढ़ गई हैं। बंगले पर महिला मित्र सोनिया भारद्वाज की खुदकुशी के मामले में उमंग सिंघार के खिलाफ शाहपुरा थाने में आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का केस दर्ज किया गया है। पुलिस को दिए बयान में सोनिया के बेटे आर्यन और नौकरों ने माना है कि दोनों के बीच नोंकझोंक होती थी। पुलिस के मुताबिक महिला के पर्स से मिले सुसाइड नोट, नौकरों और सोनिया के बेटे आर्यन के बयानों के आधार पर कार्रवाई की गई है। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

MP में कांग्रेस विधायक सिंघार की गर्लफ्रेंड का सुसाइड केस

मध्यप्रदेश के पूर्व वन मंत्री और गंधवानी से कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार और उनकी गर्लफ्रेंड सोनिया भारद्वाज के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा था। सोनिया लगातार मानसिक प्रताड़ना झेल रही थी। इसका खुलासा सोनिया के फोन के वॉट्सऐप चैट के दौरान भेजे गए मैसेज में हुआ है। सूत्रों की माने तो इसमें वह लिखती है कि शादी के नाम पर उसे अब तक रोका जा रहा है। वह इसके कारण काफी तनाव में है। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

सियासत के सॉफ्ट टारगेट बने उमंग सिंघार को मिले बीजेपी के ऑफर

सिंघार ने कबूला- मुझे 50 लाख का ऑफर मिला
चार महीने पहले हुए राष्ट्रपति के चुनाव के बीच पूर्व मंत्री उमंग सिंघार ने बीजेपी पर हॉर्स ट्रेडिंग के आरोप लगाए थे। उमंग ने दैनिक भास्कर से चर्चा में कहा था कि बीजेपी की ओर से उन्हें 50 लाख रूपए का ऑफर दिया गया था। उमंग के इस बयान के बाद राजनीतिक गलियारों में बयानबाजी शुरु हो गई थी। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

उमंग सिंघार ने कहा- दिग्विजय सिंह सरकार को ब्लैकमेल कर रहे
कमलनाथ सरकार में वन मंत्री रहते हुए उमंग सिंघार ने पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह पर गंभीर आरोप लगाए थे। उमंग ने मीडिया से चर्चा में कहा था कि दिग्विजय पर्दे के पीछे से सरकार चला रहे, सीएम के काम में भी दखल दिग्विजय सिंह पर आरोप लगाते हुए सिंघार ने कहा कि वो चुनिंदा विधायक और मंत्री के नाम पर ब्लैकमेल कर रहे हैं। मैं चाहता हूं कि जनता को रेत सस्ती मिले। फिर क्यों वह अपने ठेकेदारों को घुसेड़ते हैं। सरकार पर दबाव बनाते हैं। बच्चों की तरह जिद करते हैं। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें