पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वैक्सीनेशन:जिले की कुल आबादी का 14 प्रतिशत ने टीका लगवाया, 11% को लगा दूसरा डोज

रायसेन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 21 जून काे महाअभियान के तहत एक ही दिन में 35 हजार लोगों को लगाई जाएगी वैक्सीन

जिले में बीते दो दिनों से महज 1-1 कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। इस तरह से संक्रमण में सुधार जून के पहले सप्ताह से देखा जाने लगा है। अब शासन और प्रशासन भी अपना पूरा ध्यान वैक्सीनेशन पर लगाए हुए हैं। इस तरह से जिले में 13 लाख से अधिक आबादी में से 14 प्रतिशत यानि 1 लाख 81 हजार 937 लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

हालांकि इनमें दूसरा डोज 11.16 प्रतिशत लोगों को ही लग सका है। इसी तरह से 18 से 49 की करीब 60 प्रतिशत आबादी में जिले में 8 लाख से अधिक लोग इस ग्रुप में आते हैं। इनमें से 10 प्रतिशत ने पहला डोज 1.74 प्रतिशत ने दूसरा डोज लगवा लिया है।

वहीं 45 से 59 आयु वर्ग में से 15 प्रतिशत ने पहला डोज लगवा लिया है, जबकि 16 प्रतिशत लोग दूसरा डोज लगवा चुके हैं। इसी तरह 60 प्लस वाले लोगों में से 32 प्रतिशत को वैक्सीन लगी है, जबकि 24 प्रतिशत को दूसरा डोज भी लग चुका है। इस तरह से कुल आबादी में से 14 प्रतिशत को पहला और 11 प्रतिशत लोगों को वैक्सीन का दूसरा डोज लगाया जा चुका हैं।

जिले भर में 10 फीसदी युवाओं और 32 फीसदी वृद्धों ने लगवाई वैक्सीन

जिले को मिली 2 लाख 28 हजार डोज, लगे 2 लाख 23 हजार
जिले में 16 जनवरी 2021 से वैक्सीनेशन का काम शुरू हुआ। जिले को अभी तक वैक्सीन के 2 लाख 28 हजार डोज मिल चुके हैं। इनमें से वैक्सीन के 2 लाख 23 हजार डोज लगाए जा चुके हैं, जबकि करीब 2700 डोज स्टॉक में होना बताया गया है। इस तरह से करीब 2300 लोगों के हिस्से की वैक्सीन खराब हुई है। वैक्सीन खराब होने का प्रतिशत 1.79 है जो काफी कम है।

व्यापार महासंघ, प्रशासन करा रहे हैं एनाउंसमेंट
कलेक्टर उमाशंकर भार्गव से लेकर एसडीएम, जिपं सीईओ, नपा सीएमओ, जनपद सीईओ और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी सभी लोग वैक्सीनेशन के लिए काम कर रहे हैं। शहर में व्यापार महासंघ द्वारा एनाउंसमेंट कराकर वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। इसके अलावा कलेक्टर ने ईट भट्टों, क्रेशर, वन समितियों को भी वैक्सीन लगाई जाने के निर्देश दिए हैं।

महा अभियान के पहले दिन 30 हजार लोगों का लक्ष्य
रायसेन जिले में भी 21 जून को कोरोना वैक्सीनेशन का महा-अभियान प्रारंभ होगा। शुक्रवार को कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने वीडियो कॉफ्रेसिंग के माध्यम से कहा कि जिले में 21 जून को 30 हजार लोगों को कोविड वैक्सीन लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

उन्होंने कहा कि बेहतर कार्ययोजना और समन्वित प्रयासों से इस लक्ष्य को आसानी से प्राप्त किया जा सकता है। कलेक्टर भार्गव ने अधिकारियों से कहा कि सभी की मेहनत, लगन, दूरदृष्टि और समन्वित प्रयासों का ही परिणाम है कि जिले में कोरोना संक्रमण की दर नियंत्रण में है। आगामी महीनों में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका व्यक्त की जा रही है।

वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र दिखाओ, डिस्काउंट पाओ
वैक्सीनेशन बढ़ाने के लिए वहां के व्यापारियों ने बड़ी पहल की है। कई व्यापारियों ने घोषणा की है कि वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र दिखाने वाले ग्राहक को खरीदी में छूट दी जाएगी। इसमें सोना, लोहा, जनरल स्टोर सहित कई व्यापारियों ने ये ऑफर दिया है।

भारतीय व्यापार मंडल के जिला अध्यक्ष सचिन समैया (प्रिंस) ने बताया कि कोरोना की दो लहरों ने व्यापारियों को भी बहुत नुकसान उठाना पड़ा है। जनहानी भी बहुत हुई है। यदि वैक्सीनेशन से इन सब से निजात मिल सकती है तो क्यों न हम आगे आकर हर स्तर पर लोगों को वैक्सीन लगवाने के प्रोत्साहित करें।

इसके लिए हमने भी तय किया है कि वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र दिखाने वाले को एक तोला सोना खरीदी पर एक हजार रुपए का डिस्काउंट देंगे। एक दिन पहले गुरुवार को सिलवानी में बैठक में मौजूद व्यापारियों ने एसडीएम और दूसरे अधिकारियों के सामने इस बात की घोषणा की। वैक्सीन लगवाने वाले दुकानदार दुकानों पर स्टीकर लगा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...