• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Raisen
  • 322 Centers For The First Time, 63802 Dose Challenge Imposed Till 8 Pm... The Workers Going To Raj Bhopal Are Not Getting The Vaccine

7वां महाअभियान:पहली बार 322 केंद्र, रात 8 बजे तक लगाए 63802 डोज चुनौती... राेज भोपाल जा रहे मजदूरों को नहीं लग रहा टीका

रायसेन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रशासन से लेकर सभी विभागों के अधिकारी कर्मचारियों ने पूरे उत्साह से काम किया, 17-17 निजी वैरीफायर, वेक्सीनेटर भी लगाए

वैक्सीनेशन महाअभियान को लेकर बुधवार को प्रशासन से लेकर सभी विभागों के अधिकारी कर्मचारियों पूरे उत्साह से जुटकर काम किया। ऐसा इसलिए की छठवें महाअभियान में जिले ने 81 हजार 644 डोज लगाकर प्रदेश में पहला स्थान हासिल किया था। उसी सफलता से मिली ऊर्जा से उत्साहित स्टाफ हर आम व्यक्ति से पूछता रहा कि वैक्सीन लगी की नहीं, उन्होंने कहा कि नहीं लगी और डोज ओवर ड्यू है तो ऐसे व्यक्ति को मौके पर ही या उन्हें केंद्र तक ले जाकर वैक्सीन लगवाई। जिले में पहली बार 322 केंद्रों पर वैक्सीनेशन कराया गया है। शाम 5 बजे तक ही शासन से मिला 56 हजार डोज का लक्ष्य पूरा कर लिया गया।

देर शाम 8 बजे तक 63802 डोज लग चुके थे। इस समय तक जिले में दूसरे डोज की संख्या बढ़कर 6 लाख 3 हजार 804 पर पहुंच गई थी और पहले डोज का आंकड़ा 9 लाख 5 हजार 566 पर पहुंच गया। यहां परेशानी भी- भोपाल चले जाते हैं लोग रायसेन तहसील में भोपाल के पास के गांवों में बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसा इसलिए की उन गांवों की 20 से 25 प्रतिशत आबाद रोज मजदूरी के लिए भोपाल चली जाती हैं, इसलिए उनके घरों में लोग ही नहीं मिल पाते। पहले लॉकडाउन के दौरान तो लोग घरों पर मिले और उन्हें पहला डोज लगवा दिया गया। अब उन्हें दूसरा डोज लगवाने में प्रशासन को परेशानी आ रही है।

छठवें महाअभियान में 81 हजार 644 डोज लगाकर जिले ने प्रदेश में पहला स्थान हासिल किया था

एसडीएम खरे भी निकले शहर में लोगों ने की बहस, फिर लगवाई
चतुर्वेदी मार्केट में एक दुकान पर जब एसडीएम एलके खरे ने दुकानदार को वैक्सीन लगवाने के लिए कहा तो दुकानदार तल्ख अंदाज में बोला आप वैक्सीन लगाने के लिए हम पर दबाव नहीं बना सकते,जब मर्जी होगी तब लगवा लेंगे। यह सुनते ही एसडीएम खरे ने भी उसी की भाषा में कहा कि हम तुम्हारी दुकान भी बंद करा सकते हैं और जैसे ही उन्होंने धारा 151 में कार्रवाई करने को कहा तो दुकानदार मोहम्मद मुख्तार और मुबीन खान ने मौके पर ही वैक्सीन लगवा ली।

दुकान की शटर गिराई, गाड़ी में बिठाकर वैक्सीनेशन केंद्र भेजा
एसडीएम एलके खरे बुधवार को दोपहर 2.30 बजे रामलीला गेट के पास टीम के साथ पहुंचे। वहां के दुकानदारों से वैक्सीनेशन के बारे में पूछा तो दुकानदार बोले उन्होंने दोनों डोज लगवा लिए। जब उनके नाम से स्पॉट वैरीफिकेशन कराया गया तो सामने आया कि उनको वैक्सीन नहीं लगी। इसके बाद एसडीएम ने उनकी दुकानों की शटर गिरवाकर वैक्सीन लगवाने केंद्र पर भेजा। गंज बाजार के पास पिपलई निवासी एक बाइक चालक को बमुश्किल एसडीएम टीका लगवाने भेज पाए।

सीएमएचओ डॉ. खत्री ने बोवनी कर रहे किसानों को खेत में लगाया टीका
दूसरा डोज अधिक से लोगों को लगाया जा सके, इसलिए जिले में सीएमएचओ डॉ दिनेश खत्री अपने साथ वैक्सीन और वैरिफायर लेकर निकले। बेगमगंज के पास एक खेत में चार किसान बोवनी कर रहे थे । सीएमएचओ वहां रुके वैरीफाई करने पर पता चला कि उनमें से दो किसानों का डोज ओवरड्यू है। इसलिए उन्होंने खुद अपने हाथों से दोनो किसानों को खेत पर ही वैक्सीन लगा दी। फिर वे बेगमगंज पहुंचे वहां सब्जी बेचते , कटिंग करते लोगों को वैक्सीन लगाई।

मॉक ड्रिल ... पहले वाॅल्व खोलना भूले, ऑक्सीजन नहीं पहुंची, फिर बोले- फ्लोमीटर खराब है
जिला अस्पताल में 1000 लीटर प्रति मिनट क्षमता वाले ऑक्सीजन प्लांट को लेकर बुधवार को सुबह मॉक ड्रिल की गई। पहले तो दो घंटे प्लांट को चलाने के बाद ऑक्सीजन सिलेंडर भरे गए, उसके बाद ऑक्सीजन को वार्डों की पाइप लाइन में छोड़ा गया। फिर सिविल सर्जन एके शर्मा,डाॅ अनिल ओढ़, आरएमओ डॉ. विनोद परमार और प्लांट को संचालित करने वाला स्टॉफ और पीआईयू के कर्मचारियों की मौजूदगी में मॉक ड्रिल की गई।

इस दौरान दूसरे तल पर बने बच्चों के आईसीयू में बेड पर लगे कई ऑक्सीजन प्वाइंट खराब निकले। वहीं दूसरी ओर प्रथम तल पर बने 60 पलंग के वार्डों वाले कक्ष में ऑक्सीजन प्वाइंट की जांच की जाती रही। बाद में पता चला कि वॉल्व बंद होने से प्वांइटों तक ऑक्सीजन नहीं पहुंची। कई जगह फ्लोमीटर खराब तो कहीं ऑक्सीजन प्वाइंट खराब निकले।

5 बजे लक्ष्य हासिल

  • महाअभियान को लेकर 56 हजार डोज का लक्ष्य था, सभी विभागों के समय से बुधवार को भी वैक्सीनेशन किया गया है। शाम 5 बजे तक लक्ष्य तो हासिल कर लिया गया, लेकिन जितना भी अधिक वैक्सीनेशन होगा उतने ही जिला संक्रमण से सुरक्षित होगा। - अरविंद कुमार दुबे, कलेक्टर, रायसेन।

सांची के बरुखार में 1 बजे वैक्सीन खत्म 300 डोज ही लगे
जिले में कई जगह वैक्सीनेशन को लेकर उत्साह भी रहा। सांची ब्लॉक के बरुखार के गांव में दोपहर एक बजे तक ही 300 डोज लग चुके थे, इससे वहां वैक्सीन खत्म हो गई और दूसरी बार फिर वैक्सीन भेजना पड़ी। जिला मुख्यालय से इस तरह की व्यवस्था की गई थी कि केंद्र पर यदि 30-40 डोज वैक्सीन बचें तब ही फोन लगाकर सूचना देना होती थी, इसके बाद वहां वैक्सीन उपलब्ध करा दी जाती।

खबरें और भी हैं...