पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

24 घंटे तैनात रहेंगे दल:रेत, गिट्टी ले जा रहे वाहनों, रायल्टी और टीपी की जांच के लिए बनाईं 7 चौकी

रायसेन9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुलिस, वन और राजस्व कर्मचारियों की संयुक्त टीमें करेंगी जांच

रेत, गिट्टी का अवैध खनन एवं परिवहन रोकने के लिए के लिए अब जिले में कड़े कदम उठाने की तैयारी की गई है। इसे लेकर मार्गों पर जांच चौकियां बनाकर संयुक्त दल तैनात किए गए हैं। ये दल चौबीसों घंटे और सातों दिन वहां से रेत, गिट्टी सहित खनिज परिवहन कर रहे वाहनों की जांच करेंगे हैं। इसके लिए यहां से गुजरने वाले हर वाहन की रायल्टी और टीपी की जांच की जाएगी। बिना रायल्टी के खनिज परिवहन करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए बनाई गई सात चौकियों पर पुलिस, पटवारी और वनविभाग के नाकेदार के संयुक्त दल को तीन-तीन शिफ्ट में तैनात किया गया है। संबंधित क्षेत्रों के नायब तहसीलदार और सब इंस्पेक्टर इन जांच चाैकियाेें का सुपरविजन करेंगे। कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने पुलिस, राजस्व और वन विभाग के अधिकारियों के साथ कलेक्टोरेट सभाकक्ष में बैठक कर सख्त निर्देश दिए हैं। उन्हींने कहा कि किसी भी विवाद की स्थिति में वीडियो रिकार्डिंग की जाए।

कमिश्नर और आईजी ने दिए हैं आदेश
भोपाल में कमिश्नर और आईजी की बैठक में रेत, गिट्टी के अवैध परिवहन को रोकने के मुद्दे पर रणनीति बनाई गई। इसके तहत नरसिंहपुर, होशंगाबाद, रायसेन और सीहोर जिलों के कलेक्टर और एसपी को इस बात के निर्देश दिए गए कि अपने जिले में रेत, गिट्टी सहित दूसरे खनिजों को बिना रायल्टी के परिवहन काे सख्ती से रोका जाए। इसके लिए प्रमुख विभागों के संयुक्त दल बनाकर कार्रवाई की जाए। इसके के बाद जिले का प्रशासन और पुलिस हरकत में आया और नई व्यवस्था बनाई गई।

इन स्थानों पर बनाई जाएंगी जांच चाैकियां
जिन मार्गों पर जांच चाैकियां बनाई जानी है उनमें होशंगाबाद रोड पर उमरिया, औबेदुल्लागंज से रेहटी रोड, बाड़ी से बकतरा रोड, बम्होरी से बटेरा रोड, उदयपुरा से बोरास रोड पर रहली, सिलवानी से उदयपुरा रोड, नागिन मोड़ बाड़ी के सिरवारा गांव पर जांच चैकियां बनाई गईं है।

एक दिन पहले ही उजागर की थी हकीकत
दैनिक भास्कर ने ‘6 खदानों से फावड़े-तगाड़ी से एक साल में लेनी थी जितनी रेत, डेढ़ माह में मशीनों से उसकी 89 प्रतिशत खोदी’ शीर्षक खबर काे 25 दिसंबर को प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया था। इसमें बताया गया था कि जिले में खनन माफिया किस प्रकार अादेशाें की धज्जियां उड़ा रहा है।

चौकियों पर जांच के लिए रोके जाएंगे वाहन
कलेक्टर भार्गव ने खनिज से भरा कोई भी वाहन बिना रायल्टी के मिले तो उसे मौके पर ही खड़ा कराने और संबंधित अधिकारी को आगामी कार्रवाई के लिए तुरंत सूचित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने खनिज परिवहन करने वाले वाहन की ईटीपी की जांच करते समय ईटीपी जारी करने का दिनांक, समय, वाहन क्रमांक, परिवहन किया जा रहा खनिज तथा परिवहन करने की कुल अवधि को विशेष रूप से देखने के निर्देश दिए। इस तरह कोई वाहन एक ही ईटीपी पर एक बार से अधिक तथा उल्लेखित समय-सीमा के पहले या बाद खनिज का परिवहन नहीं कर सकेगा। बैठक मे एएसपी अमृत मीणा एवं खनिज अधिकारी आरके कैथल ने जांच के संबंध में विस्तृत जानकारी दी।
थानों को भी किया अलर्ट
एएसपी अमृत मीणा ने जांच दल से कहा कि कहीं कोई अप्रिय घटना की संभावना हो या पुलिस बल की आवश्यकता होने पर संबंधित थाने को तत्काल सूचित करें। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को ऐसी सूचना पर बल उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए।

खबरें और भी हैं...