• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Raisen
  • 8 Lakh 84 Thousand Rupees Was Bank Loan, Troubled By Demands, Farmer Hanged Himself By Hanging From Mango Tree, Death

आत्महत्या का मामला:8 लाख 84 हजार रुपए था बैंक कर्ज, तकाजों से परेशान‎ किसान ने आम के पेड़ से लटककर लगा ली फांसी, मौत‎

रायसेन24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के दीवानगंज से महज 5 किमी की दूरी पर‎ स्थित जमुनिया गांव में रहने वाले किसान गोरेलाल‎ लोधी पुत्र भुवंती लोधी (65) ने कर्ज के तनाव में‎ शुक्रवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।‎ दोपहर 4 बजे के करीब शव खेत में लगे आम के‎ पेड़ से लटका मिला। उसके बाद शव का पीएम‎ कराकर सुबह अंतिम संस्कार कर दिया गया।‎ दीवानगंज चौकी में मर्ग कायम कर जांच में लिया‎ गया है।

मृतक गोरेलाल पर अलग-अलग बैंकों का‎ करीब 8 लाख 84 हजार रुपए का कर्ज है। किसान‎ ने शुक्रवार को ही घटना के पहले बढ़े बेटे से चर्चा‎ में कर्ज को लेकर चिंता जाहीर करते हुआ बोला था,‎ कि कर्ज के तकाजों से बेइज्जती होती है। चौकी‎ प्रभारी सतेंद्र दुबे ने परिजनों के बयान लिए उनके‎ मुताबिक किसान शराब पीता था। उसने फांसी‎ लगाकर आत्महत्या कर ली, अभी और कोई वजह‎ सामने नहीं आई है।‎

दीवानगंज के जमुनिया गांव के 65 साल के गोरेलाल लोधी ने 15 साल पहले छोड़ी थी शराब, पर 3-4 दिन से फिर पीने लगे थे‎

पैसे जमा कराने तकाजों से बेइज्जती होती‎ है इसी चिंता में पिताजी ने लगा ली फांसी

शुक्रवार को दोपहर करीब 12 बजे मैं पिता (गोरेलाल लोधी) के‎ साथ बैठा था, उस समय वे कह रहे थे कि करीब 9 लाख रुपए हो‎ गया है। सरकारी कर्ज ठीक नहीं होता। पैसे जमा कराने के लिए‎ बार-बार के तकाजों से गांव में बेइज्जती होती है। मैंने उन्हें समझाने‎ के लिए कहा कि आप चिंता मत करो, कोई दिक्कत हुई तो हम कुछ‎ जमीन बेचकर बैंकोें का कर्ज चुका देंगे।

इसके बाद वे खेत पर जाने‎ का कहकर चले गए। दोपहर करीब 4 बजे पता चला कि उनका शव‎ खेत में लगे आम के पेड़ पर लटका हुआ है। गुलाबसिंह ने रस्सी‎ ढीली के तो शव के पैर जमीन पर टिक गए, लेकिन जब तक उनकी‎ मौत हो चुकी थी। उसके बाद पुलिस को सूचना दी। पिताजी ने 15‎ साल पहले से शराब पीना भी छोड़ दिया था, लेकिन वे टेंशन के‎ चलते बीते 3 से 4 दिन पहले से फिर शराब पीने लगे थे।‎ - जैसा कि मृतक के बेटे बलवीर सिंह ने भास्कर को बताया‎

दो गांव में 15 एकड़ जमीन‎
गोरेलाल के पास ‎15 एकड़ कृषि ‎भूमि है। इसमें से ‎10 एकड़ ‎​​​​​​​जमुनिया गांव में ‎ और 5 एकड़ ‎बालमपुर गांव में। ‎इस बार मृतक ‎किसान के ‎परिवार ने 5 ‎एकड़ जमीन पर सोयाबीन की बोवनी की‎ थी।फसल खराब होने से महज 4‎ क्विंटल का उत्पादन मिला। जबकि बाकी‎ जमीन में धान की लगाई थी, धान की की‎ कटाई चल रही है।‎

इंडियन ओवरसीज बैंक का नोटिस‎
मृतक किसान गोरेलाल लोधी की जमीन बालमपुर गांव में‎ भी है। इस जमीन पर उन्होंने इंडियन ओवरसीज बैंक की‎ पिपलिया बाज खान चित्रकूट कॉलोनी भोपाल से 2 लाख‎ 66 हजार रुपए का कर्ज लिया था।बैंक द्वारा 7 सितंबर‎ 2020 को नोटिस जारी कर कहा गया कि आपके खाता‎ क्रमांक 31332000000109 पर 2 लाख 94 हजार रुपए‎ की राशि बकाया है। ये राशि 30 सितंबर 2020 तक जमा‎ करा दें।

ऐसा न किए जाने पर बैंक द्वारा वसूली की कार्रवाई‎ की जाएगी। मृतक के पुत्र बलवीर ने बताया कि 2021 में‎ फरवरी में भी पिताजी को बैंक बुलाकर कार्रवाई की बात‎ कही गई थी। इसी तरह से अलग अलग‎ बैंकों के कर्ज‎ चड़ने और फसलें खराब होने से उनका तनाव बढ़ता‎ गया‎ और उन्होंने ये आत्म हत्या कर ली । हम भी ये बात नहीं‎ समझ‎ पाए कि वे कर्ज को लेकर इतने ज्यादा परेशान हैं।‎

किस बैंक का‎ कितना कर्ज‎

  • इंडियन ओवरसीज‎ बैंक- 2.94 हजार रुपए‎
  • बैंक ऑफ बड़ोदा-‎ 3.50 लाख‎
  • चौपड़ा सोसाइटी‎ भोपाल- 1.30 लाख‎ रुपए‎
  • दीवानगंज सोसाइटी-‎ 95 हजार रुपए‎
  • सिंचाई पंप का‎ बिजली बिल- 15 हजार‎ रुपए‎
  • कुल कर्ज- 8 लाख‎ 84 हजार रुपए‎
खबरें और भी हैं...