रायसेन में फिर मिले दंपती:गिले-शिकवे भुलाकर खिलाई एक-दूसरे को मिठाई, माला पहनाकर फिर एक हुए पति-पत्नी

रायसेनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एक-दूसरे को मिठाई खिलाते दंपती। - Dainik Bhaskar
एक-दूसरे को मिठाई खिलाते दंपती।

रायसेन में आपस के छोटे-मोटे विवादों के दंपति के बीच ऐसी दरार पड़ गई कि शादी के कुछ दिन बाद ही दोनों अलग हो गए। हालात इतने बिगड़ गए कि पत्नी ने पति साथ रहने से ही इंकार कर दिया, लेकिन दोनों का आपसी प्रेम और परिवार परामर्श केंद्र के प्रयासों ने उन्हें हमेशा के लिए दूर नहीं होने दिया।

आखिकार दोनों ने अपने रिश्ते को बचाने के लिए अपनी पुरानी गलतियों से तौबा की और सारे गिले-शिकवे भूलकर एक दूसरे को मिठाई खिलाई व माला पहनाकर कर खुशी खुशी पाने दाम्पत्य जीवन की शुरुआत की।

मंगलवार को परिवार परामर्श केंद्र का माहौल उस समय खुशियों से भर गया, जब 6 महीने से दूर पति-पत्नी आज हंसते मुस्कुराते एक साथ अपने घर लौटे। दोनों ने एक बार फिर एक-दूसरे को माला पहनाकर व मुह मीठा कराके जीवन की मंगल शुरुआत की।

रायसेन निवासी शनि तिलचौरिया ने मायके में रह रही अपनी पत्नी को वापस बुलाने की गुहार लगाई थी। उसके शादी करीब ढाई साल पहले भोपाल निवासी पूजा से हुई थी। कुछ समय दोनों के बीच सबकुछ ठीक रहा, लेकिन जब पत्नी भोपाल जॉब करने लगी तो दोनों में छोटी छोटी बातों को लेकर मतभेद होने लगे।

कुछ समय मे मतभेद इतने बड़ गए कि पत्नी विगत 6 माह पहले अपने मायके में जाकर रहने लगी। पत्नी अपने पति से इतनी नाराज थी कि पहले तो उसने पति के साथ रहने से साफ इंकार कर दिया था। हालांकि तीन चरण की काउंसलिंग के बाद दोनों ने समझदारी दिखते हुए अपने घर को बचाने का निर्णय लिया। मंगलवार को दोनों खुशी-खुशी फूल माला और मिठाई लेकर परिवार परामर्श केंद्र पहुचे। जहां एक-दूसरे का मुह मीठा कर व माला पहनाकर फिर से दाम्पत्य जीवन की शुरुआत की। परिवार परामर्श केंद्र के सभी सदस्यों ने उन्हें उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी।

मंगलवार को बैठक में करीब 17 प्रकरण रखे गए थे, जिनमें से 10 प्रकरणों में दोनों पक्षों की सुनवाई करते हुए, उन्हें निराकृत कर नस्तीबद्ध किया गया। अन्य प्रकरणों में पक्षकारों के अनुपस्थिति रहने पर उन्हें आगामी तारीख दी गई।

खबरें और भी हैं...