युवाओं को मिलेगा रोजगार / चाइनीज खिलौनों को बाय-बाय, अब प्लास्टिक पार्क में बनेंगे खिलौने

X

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 AM IST

रायसेन. कोरोना संकट काल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर बनने का अभियान शुरू किया है जिसकी झलक नगर से सटे औद्योगिक क्षेत्र तामोट स्थित प्लास्टिक पार्क में देखी जा सकती है। जहां ‍खिलौने बनाने वाली दिल्ली फरीदाबाद की एक कंपनी अपना एक प्लांट लगा रही है। 
कंपनी यहां लगभग 7 करोड़ रुपए निवेश करेगी। कोरोना संकटकाल में क्षेत्रवासियों के लिए यह एक सुखद समाचार है। प्लांट बनाने का काम करीब-करीब अंतिम चरण में है। एकेवीएन अधिकारियों द्वारा उम्मीद जताई जा रही है कि अगस्त माह से यह फैक्ट्री खिलौने बनाने का काम शुरू कर देगी, जिससे क्षेत्र के 50 से अधिक बेरोजगारों को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे।
जहां इस उद्योग के शुरू होने से कोरोना संकट काल में बेरोजगारी की समस्या दूर होगी, वही शासन को भी राजस्व प्राप्त होगा। बड़ी बात यह है कि क्षेत्र में ही खिलौने बनने से चीन से आयात होने वाले खिलौनों पर निर्भरता कम होगी इतना ही नहीं स्वदेशी सामग्री को अपनाने से आत्मनिर्भर भारत अभियान को मजबूती भी मिलेगी।

एकेवीएन ने तामोट में 108 करोड़ की लागत से इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित किया है। फिलहाल यहां सागर फैक्ट्री ने अपना उत्पादन शुरू कर दिया है। इसके बाद जल्दी ही प्लास्टिक वेस्ट को रिसाइकल करने वाली कंपनी भी अपना काम शुरू कर देगी। इन दोनों कंपनियों के बाद तीसरी कंपनी के रूप में दिल्ली की खिलौने बनाने वाली आनंद टॉय कंपनी भी अपनी यूनिट प्रारंभ करने की तैयारी लगभग पूरी कर ली है कंपनी बीते वर्ष एकेवीएन से  जमीन भी खरीद चुकी है। कंपनी यहां 2 एकड़ जमीन में 7 करोड़ का निवेश कर रही है अब माना जा रहा है कि कंपनी अगस्त के पहले सप्ताह से ही  खिलौने बनाने का उत्पादन शुरू कर देगी। खिलौने बनाने वाली यह यूनिट क्षेत्र की पहली कंपनी होगी इन दिनों कंपनी के शेड निर्माण का काम बहुत तेज गति से किया जा रहा है इसके बाद मशीन स्थापित कर इकाई प्रारंभ कर दी जाएगी।

स्वदेशी सामानों को मिलेगा बढ़ावा 
अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के प्रदेश महामंत्री संजीव पटेरिया का कहना है कि पिछले दिनों लद्दाख की गलवान घाटी में चीन की सेना ने धोखे से भारतीय जवानों पर हमला कर मार दिए जाने से जहां एक ओर दोनों देशों के संबंध तनावपूर्ण बने हुए हैं, वहीं दूसरी तरफ देश के लोगों में चीन के प्रति आक्रोश है। वह चीनी सामग्रियों का बहिष्कार कर रहे हैं। ऐसे में लोगों को चीनी उत्पादों का विकल्प देने की आवश्यकता है। इससे न केवल युवाओं को रोजगार के अवसर सृजित होंगे बल्कि इससे स्वदेशी सामग्रियों को भी बढ़ावा मिलेगा

अगस्त में उत्पादन शुरू हो जाएगा
तामोट में प्लास्टिक पार्क में फरीदाबाद की एक खिलौने वाली कंपनी निवेश कर रही है, इसका काम तेजी से चल रहा है संभवत अगस्त माह से इसका उत्पादन कार्य भी शुरू हो जाएगा।
जेएन व्यास,  ईडी एमपीआईडीसी भोपाल

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना