पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पर्यावरण:1465 गांवों में बनेंगे चौपाल के चबूतरे, 35 हजार राेपेंगे पाैधे

रायसेन6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गांवों में बढ़े हरियाली, इसलिए कमिश्नर के निर्देश पर भोपाल संभाग में इसे लागू किया जाएगा

शहर हो या गांव, सब जगह पेड़ों की कमी देखने को मिल रही है। गांव में भी हरियाली रहे, इसलिए ग्रामीणों को चौपाल लगाने और पेड़ों की छांव में बैठने के लिए एक अच्छा स्थान उपलब्ध कराने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए कमिश्नर कवींद्र कियावत ने संभाग के सभी जिलों में इसे लागू करने के निर्देश दिए हैं।

यदि प्लान पर सही ढंग से काम कर लिया गया तो होगा यह कि हर गांव में पेड़ों की संख्या बढ़ने के साथ ही एक स्थानीय वातावरण के हिसाब से अच्छा स्थान बन जाएगा। जिला पंचायत अध्यक्ष अनीता किरार ने कहा कि इस प्लान पर काम के साथ ही पौधों की देखरेख भी की जाना चाहिए।

गांव में चबूतरों पर चौपाल लगाने की है परंपरा
ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े पेड़ों के नीचे चबूतरे बने हुए होते हैं। यहां ग्रामीण एकत्रित होकर बैठते हैं। यही एक जगह होती है, जहां लोगों काे एक-दूसरे से सतत संपर्क बना रहता है, वहीं ग्रामीण क्षेत्रों के भ्रमण पर आने वाले जन प्रतिनिधि और अधिकारियों की भी ग्रामीणों से संपर्क इन्हीं स्थानों पर बैठकर होता है, इसलिए गांवों में चबूतरे और आसपास पेड़ लगे रहते हैं।

जिले में हैं 1465 गांव, यहां पोधे रोपे जाएंगे, ग्रामीण करेंगे सुरक्षा
जिले में 1465 गांव हैं। सभी गांवाें में पौधे रोपित करने के साथ उनको सहजने की जिम्मेदारी भी ग्रामीणों को सौंपी जाएगी। पौधे लगाने की संख्या तय नहीं की गई है । जिस गांव में चबूतरे के आसपास जितनी खाली जगह उपलब्ध होगी, वहां उतने पौधे रोपित किए जाएंगे। इनकी संख्या अलग-अलग गांव में अलग-अलग हो सकती है। फिर भी एक अनुमान के मुताबिक करीब 35 हजार पौधे रोपित किए जाएंगे।

पर्यावरण भी शुद्ध होगा
हर गांव में पेड़ों की संख्या बढ़ने से वहां का वातावरण और शुद्ध होगा । वहीं सीमेंट कांक्रीट से तैयार किए गए विकास कार्यों के साथ ही हरियाली भी बढ़ेगी। इससे गांवाें में तापमान नियंत्रण से लेकर ऑक्सीजन की उपलब्धता भी बढ़ेगी ।
कमिश्नर के निर्देश
कमिश्नर कवींद्र कियावत के निर्देश पर जिले के हर गांव में चबूतरे बनाने के साथ ही वहां पौधे रोपित किए जाएंगे। ऐसा जिले के सभी 1465 गांवों में किया जाना है ।
-पीसी शर्मा, सीईओ, जिला पंचायत, रायसेन

खबरें और भी हैं...