वैक्सीनेशन:एक दिन पहले 67 हजार डोज लगाने के बाद भी सवा लाख लोग दूसरे डोज के लिए ओवरड्यू

रायसेन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दशहरा मैदान में बिना मास्क लगाए पहुंच रहे किसान। - Dainik Bhaskar
दशहरा मैदान में बिना मास्क लगाए पहुंच रहे किसान।
  • मतदाता सूची के हिसाब से जिले में 19 हजार 678 लोगों को नहीं लग पाया है पहला डोज

जिले में 18 प्लस की आबादी 9 लाख 27 हजार है और इनमें से 9 लाख 7 हजार 322 लोगों को पहला और 6 लाख 28 हजार 264 लोगों को दूसरा डोज लगाया जा चुका है। इस हिसाब से अब भी जिले में 19 हजार 678 लोग पहले डोज के लिए छूटे हुए हैं। जबकि पहले कहा जा रहा था कि करीब 70 हजार लोग जिले से बाहर हैं, इसलिए उन्हें पहला डोज नहीं लगाया जा सका है।

अभी वैक्सीनेशन के दौरान पहले डोज भी रोज ही लगाए जा रहे हैं। अब फिर सवा लाख लोग दूसरे डोज के लिए ओवर ड्यू हो गए हैं। इसके चलते अब पहले डोज में छूटे हुए लोगों की संख्या कम होती जा रही है। हालांकि जब छूटे हुए लोगों की बात की जाए तो जिम्मेदार लोग यही कहते हैं कि इतने लोग जिले से बाहर निवास करते हैं, जबकि सही आंकड़ा किसी के पास उपलब्ध नहीं है।

सुबह जल्दी भेजेंगे टीम
दीवनगंज के जमुनिया, अंबाड़ी, मुस्काबाद, गोपीसुर सतकुंडा सहित ऐसे कई गांव हैं जहां के रहवासी मजदूरी करने के लोग सुबह जल्दी ही भोपाल निकल जाते हैं इसलिए जब टीम उनके घर जाती है तो वे नहीं मिल पाते और उन्हें डोज लगाने से रह जाता है। अब ऐसे लोगों की लिए रणनीति के तहत सुबह और भी जल्दी उनके घर पर टीम भेजकर वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाया जाएगा। जिला पंचायत सीईओ पीसी शर्मा के मुताबिक वे गांव-गांव में ऐसे लोगों को चिन्हित कराते हुए चल रहे हैं। ऐसे लोगों को घर-घर जाकर वैक्सीन लगाई जा रही है।

महाअभियान इसलिए जरूरी: दूसरे दिन शाम 5 बजे तक लग पाए महज 4703 डोज
वैक्सीनेशन के लिए चलाए जा रहे महाभियान के आंकड़ों पर नजर डालें तो इस दौरान कम से कम 20 हजार 705 डोज और सबसे अधिक डोज 24 नवंबर को 83 हजार 774 डोज लगाए गए थे। वहीं 1 दिसंबर को जिले में 67 हजार 374 डोज लगाए थे। वहीं एक दिन बाद ही 2 दिसंबर को महाअभियान न होने से शाम 5 बजे तक महज 4703 डोज ही लगाए जा सके हैं। महाअभियान के दौरान प्रशासन सहित सभी विभागों के अधिकारी और कर्मचारी काम करते हैं, जबकि आम दिनों स्वास्थ विभाग ही काम करता है। इसलिए वैक्सीनेशन कम हो पाता है।

शहर में लापरवाही: तीसरी लहर न पड़ जाए भारी
कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर जहां एक और बड़ी चिंता जताई जा रही है तो वहीं दूसरी और शहर सहित जिले के लोग पूरी तरह से बेपरवाह हैं। ऐसा इसलिए की वे न तो मास्क लगा रहे हैं और नही सामाजिक दूरी का पालन कर रहे हैं, जबकि जिले के मंडीदीप में 14 करोना पॉजिटिव मरीज मिल चुके हैं। इस तरह से जिले में कोरोना संक्रमण ने फिर दस्तक दे दी हैं। संक्रमण बहुत तेजी से फैलता है इसलिए कोविड की गाइड का पालन आवश्यक है।

अब ये: नो मास्क-नो मूवमेंट, नो मास्क-नो सर्विस
कोरोना संक्रमण को देखते हुए कलेक्टर अरविंद दुबे ने सभी एसडीएम, जनपद सीईओ और नगरपालिका सीएमओ को आदेश जारी कर लोगों काे मास्क लगाने के लिए प्रेरित करने के लिए कहा है। आदेश के मुताबिक जिले भर में लोगों को मास्क लगाने के लिए समझाइश दी जाए। इसके साथ ही मास्क लगाने और उतारने के पहले ही अपने हाथ धोएं।

सभी सार्वजनिक व कार्य स्थलों एवं परिवहन के दौरान फेस मास्क पहनने के लिए प्रोत्साहित किया जाए। नो मास्क नो मूवमेंट की समझाइश दी जाए। इसके अलावा नो मास्क नो सर्विस के तहत दुकानदारों का कहा जाए की वे ग्राहकों को मास्क लगवाने के बाद ही सामान दें।

खबरें और भी हैं...