पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जागरूकता:कोरोना काल में गर्भवतियों को स्वस्थ रहने के तरीके बताए

रायसेनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • शिविर में कोरोना से बचाव के लिए किया जागरूक, बिलारा में हुआ गर्भवती महिलाओं का स्वास्थ्य परीक्षण

सांची बौद्ध-भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय द्वारा गोद लिए गए गांव बिल्हारा में स्वास्थ्य जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया। साथ ही विश्वविद्यालय परिसर में 100 से अधिक पौधे रोपे गए। गांव में विश्वविद्यालय के चिकित्सा दल ने गांववासियों को कोरोना से बचाव के तरीके, मास्क लगाने, बार-बार हाथ धोने और सोशल डिस्टेंसिंग के विषय में जानकारी दी। इसके अलावा भीड़-भाड़ से बचने और आवश्यक होने पर ही बाजार जाने की सलाह दी गई।

प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के निर्देश पर इस गांव में चिकित्सा एवं स्वच्छता जागरुकता संबंधी शिविर का आयोजन किया गया था। सांची विश्वविद्यालय चिकित्सा दल द्वारा बिल्हारा गांव में विशेषकर गर्भवती महिलाओं को कोरोना काल के दौरान बचाव के तरीके बताए गए। शिविर में डॉ. रितु श्रीवास्तव एवं डॉ. अंजली दुबे ने शिविर में ग्रामीणों की तापमान, बीपी सहित अन्य जांच करने के बाद उन्हें उचित चिकित्सीय परामर्श दिया गया।

बाजार की जगह घर का भोजन करने की दी सलाह: गांव के लोगों को कोरोना के दौरान बाज़ार में मिलने वाले भोजन के बजाए घर के ताज़ा एवं पोषण युक्त भोजन को प्राथमिकता देने को कहा गया। गर्भवती महिलाओं को कैल्शियम और आयरन की गोलियां खाने की जानकारी दी गई। इस दौरान ग्राम बिल्हारा की स्वास्थ्य कार्यकर्ता और एएनएम व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने भी विश्वविद्यालय के चिकित्सा दल का साथ दिया।

विश्वविद्यालय परिसर में लगाए 100 पौधे

विश्वविद्यालय परिसर में उद्यानिकी विभाग द्वारा पौधारोपण कार्यक्रम में आयोजित किया गया। इस दौरान विश्वविद्यालय के समस्त शैक्षणिक एवं गैरशैक्षणिक कर्मचारियों ने 100 से अधिक छायादार, फूल वाले एवं औषधीय महत्व के पौधे रोंपे। विश्वविद्यालय उद्यानिकी शाखा के सहायक निदेशक डॉ. कृपाल सिंह वर्मा ने सभी लोगों को पौधों को लगाए जाने के लिए प्रेरित किया और प्रकृति में पेड़ों के महत्व के बारे में बताया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कड़ी मेहनत और परीक्षा का समय है। परंतु आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल रहेंगे। बुजुर्गों का स्नेह व आशीर्वाद आपके जीवन की सबसे बड़ी पूंजी रहेगी। परिवार की सुख-सुविधाओं के प्रति भी आपक...

और पढ़ें