कोरोना संक्रमण:कोरोना का डर, ग्रामीणों ने बाहरी लोगों के प्रवेश पर लगाया प्रतिबंध

रायसेन6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इस तरह गांव के अंदर जाने वाले मार्ग पर ग्रामीणों ने लकड़ियों का गेट लगा रखा है। - Dainik Bhaskar
इस तरह गांव के अंदर जाने वाले मार्ग पर ग्रामीणों ने लकड़ियों का गेट लगा रखा है।
  • वायरस के संक्रमण को रोकने लिए ग्रामीणों ने उठाया सख्त कदम

कोरोना संक्रमण के तेजी से बढ़ते प्रभाव को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्र के लोग भी अब जागरूक होने लगे हैं। यही वजह है कई गांवों में ग्रामीणों ने बाहरी लोगों के प्रवेश पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है। ग्रामीणों ने गांवों के मुख्य रास्तों को बंद कर दिया है।

दरअसल अब गांवों में भी तेजी से कोरोना का संक्रमण बढ़ा रहा है जिसके चलते केसलोन गांव में ग्रामीणों ने लकड़ियों का फाटक लगाकर गांव में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। जबकि वे स्वयं गांव से निकलकर शहर सामग्री खरीदने आ रहे हैं, लेकिन कोई बाहरी व्यक्ति उनके गांव के लोगों को संक्रमित न कर जाए इस कारण ग्रामीणों ने यह कदम उठाते हुए फाटक लगा दिया है।

बाहर से आने वाले व्यक्ति की पहले पूरी जानकारी एकत्रित की जा रही है उसके बाद आवश्यकता पड़ने पर ही उन्हें रिश्तेदार से मिलने दिया जा रहा है। दूसरे इलाकों से सामग्री विक्रय करने पहुंचने वाले लोगों को गांव में नहीं घुसने दिया जा रहा है। गांव में शादी विवाह के लिए कोटवार से मुनादी करवाई गई है कि बिना अनुमति के कोई भी वैवाहिक कार्यक्रम आयोजित न करें और निर्धारित संख्या में ही लोग वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल हैं।

ग्रामीण नत्थू सिंह पटेल ने बताया कि जिस तेजी से कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है उस हिसाब से सुरक्षा की दृष्टि से यह कदम उठाया गया है ताकि गांव के लोग संक्रमित होने से बच सकें। मुख्य रास्ते पर दो लोगों की ड्यूटी भी लगाई गई है जो बदल-बदल कर अपनी ड्यूटी दे रहे हैं। बाहर से आने वाले लोगों पर नजर रख रहे हैं।

खबरें और भी हैं...