पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सुरक्षा:छात्रों की सुरक्षा के लिए बनाया फर्स्टएड मोबाइल एप

रायसेन9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एप का इस्तेमाल बच्चों के साथ-साथ पालक और शिक्षक भी आसानी से कर सकेंगे

सरकारी स्कूलों में आपातकालीन स्थिति में छात्रों की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने भारतीय रेडक्रॉस सोसाइटी के सहयोग से फ़र्स्ट एड टीचर्स एंड स्टूडेंट्स (फास्ट) मोबाइल एप बनाया है। इस एप का इस्तेमाल बच्चों के साथ-साथ पालक और शिक्षक भी आसानी से कर सकेंगे। हाथ में चोट लगने पर खून निकलना, प्रदूषण से कैसे बचें, कुत्ते या मधुमक्खी के काटने पर क्या करना है, यह सब जानकारी एप में उपलब्ध कराई गई है।

राज्य शिक्षा केंद्र ने प्रदेश के सभी जिलों को एप के अधिक से अधिक इस्तेमाल के लिए प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिए हैं। ताकि स्कूल सुरक्षा विभिन्न आयामों के बारे में छात्रों, शाला प्रबंधन समिति के सदस्यों एवं शिक्षकों को जानकारी प्राप्त हो सके और इस मोबाइल एप का उपयोग कर सकें। अब देखना है कि रायसेन जिले के सरकारी स्कूलों में किस हद तक इस एप का इस्तेमाल होता है।

बता दें कि बच्चों की खुद की लापरवाही से कई बाद छोटी-छोटी दुर्घटनाएं हो जाती हैं, जिससे बच्चों को चोट लगती है। ऐसी ही परिस्थितियों में बच्चों को क्या आसान कदम उठाना चाहिएए यह इस एप के माध्यम से बताया गया है।

एप में छात्र, पालक व शिक्षकों के लिए कई सुविधाएं : डीपीसी सीबी तिवारी ने बताया कि एप में छात्रों वाले विकल्प में एयर पॉल्यूशन, एलर्जी, कुत्ते के काटने मधुमक्खी के काटने, हाथ में खून निकलना, उल्टी होना, करंट लगने, आंख में चोट, बुखार आने, सिर में चोट लगने, दांत में दर्द होने आदि की स्थिति में क्या करना है, यह सब एप में दिया गया है। वहीं पालक व शिक्षकों के लिए फ़र्स्ट एड टॉपिक, नजदीकी एंबुलेंस को कॉल करना, लाइफ सेविंग स्किल्स सेट, अन्य इमरजेंसी नंबर, रोचक तथ्य और क्या करें और क्या ना करें उक्त छह विकल्प एप में उपलब्ध कराए हैं। शिक्षा विभाग ने इसके लिए निर्देश जारी कर दिए हैं। इस एप को डाउनलोड करने के लिए इसके बारे में छात्रों को जानकारी देने के लिए डीपीसी ने संस्था प्रभारियों को दिशा निर्देश भी जारी किए गए हैं। ताकि छात्रों के साथ ही अभिभावक भी जरूरत पड़ने पर एप में दिए गए सुझावों पर अमल कर सकें।

किया जा सकता है एप डाउनलोड

डीपीसी के अनुसार इस एप को गूगल प्ले स्टोर एवं एप्पल स्टोर पर अपलोड किया गया है। यह एप शिक्षकों एवं स्कूल के बच्चों को प्राथमिक चिकित्सा प्रशिक्षण प्रदान करने में मदद करेगा। यह सुनिश्चित किया कि स्कूल परिसर में किसी भी आपातकालीन स्थिति से चिकित्सा सहायता के आगमन तक तेजी से निपटा जा सके। राज्य शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर एप की लिंक अपलोड की गई है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें