पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फिर सख्ती:मरीज बढ़े तो मास्क किया अनिवार्य कार्यक्रमों में भी गाइड लाइन का पालन जरूरी

रायसेन10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्वास्थ्य मंत्री बोले- अभी खत्म नहीं हुआ कोरोना, सोशल डिस्टेंस व मास्क जरूरी

महाराष्ट्र के साथ ही मप्र के कई जिलों में फिर से कोरोना के मरीज बढ़ने के बाद जिला प्रशासन भी सतर्क हो गया है। समय रहते कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर जिला क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी की उपस्थिति में रखी गई, जिसमें संक्रमण की रोकथाम के लिए जिले में मास्क लगवाना अनिवार्य कर दिया गया है। साथ ही सार्वजनिक कार्यक्रम में कोविड की गाइड लाइन का सख्ती से पालन करवाने को लेकर भी निर्देश दिए गए।

बैठक में कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने जिले में कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम और टीकाकरण के संबंध में अवगत कराया। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अभी कोरोना खत्म नहीं हुआ है। संक्रमण से बचाव तभी संभव है, जब सभी लोग आपस में सोशल डिस्टेंसिंग रखेंगे और मास्क अनिवार्य रुप से लगाएंगे। बैठक में पूर्व मंत्री एवं सिलवानी विधायक रामपाल सिंह, भोजपुर विधायक सुरेन्द्र पटवा तथा पूर्व विधायक रामकिशन पटेल द्वारा कोरोना संक्रमण के नियंत्रण के लिए सुझाव दिए गए। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक मोनिका शुक्ला, अपर कलेक्टर अनिल डामोर, जिपं सीईओ पीसी शर्मा तथा सीएमएचओ डॉ. दिनेश खत्री उपस्थित थे।

किस महीने में कितने मरीज और कितनी मौतें
माह मरीज मौत

अप्रैल 57 02
मई 11 01
जून 43 02
जुलाई 228 02
अगस्त 345 07
सितंबर 591 13
अक्टूबर 508 06
नवंबर 342 07
दिसंबर 233 05
जनवरी 111 01
फरवरी 30 00
कुल 2489 46

अब तक इन ब्लॉक में इतने मरीज मिले हैं
ब्लॉक संख्या

सिलवानी 132
बरेली 561
बेगमगंज 117
औबेदुल्लागंज 711
सांची 233
गैरतगंज 110
उदयपुरा 184
रायसेन 441

सैंपलों में आई कमी: अब कभी 50 तो कभी 150 सैंपल लिए जा रहे
जिले में 9 फीवर क्लीनिक संचालित हैं। सभी 9 फीवर क्लीनिकों पर कभी 500 तो कभी 600 तक कोरोना के लिए सैंपल लिए जाते थे। अब फीवर क्लीनिकों पर मरीजों की संख्या कम होकर महज 20 से 25 तक हो गई है। इसके चलते 21 फरवरी को महज 43 सैंपल जांच के लिए गए और 22 फरवरी को 134 और 23 फरवरी को 103 सैंपल लिए गए हैं। इस तरह से सैंपलों की संख्या में भी बहुत कमी आई है।
औबेदुल्लागंज में अभी तक सबसे अधिक 711 मरीज मिले
जिले में तो 2485 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं, लेकिन इनमें सबसे अधिक 711 मरीज औबेदुल्लागंज ब्लॉक में मिले हैं, जबकि सबसे कम 110 मरीज गैरतगंज में मिले हैं। औबेदुल्लागंज में सबसे अधिक मरीज मिलने के कारण मंडीदीप में औद्योगिक क्षेत्र होने से वहां हजारों लोगों को बाहर आना-जाना रहता है। इसलिए वहां संक्रमण भी सबसे अधिक फैलता है। इसके अलावा गैरतगंज में मरीजों की संख्या सबसे कम रही हैं।

कोरोना से सितंबर में सबसे अधिक 13 मौतें हुईं
जिले में कोरोना का संक्रमण सबसे अधिक सितंबर के महीने में फैला था। इस महीने में सबसे अधिक 591 कोरोना पॉजिटिव मिले थे और इनमें से 13 मरीजों की मौत भी इलाज के दौरान हुईं थी। कोरोना संक्रमण काल के महीनों में मई ही ऐसा महीना था जब सबसे कम 11 मरीज मिले और मौत भी महज 1 ही मरीज की हुई है । हालांकि इस बार फरवरी में भले ही 29 मरीज मिल चुके हैं, लेकिन किसी की मौत नहीं हुई है । इस लिहाज से फरवरी के 22 दिन कुछ राहत देने वाले माने जा सकते हैं।

कोविड की गाइड लाइन का पालन इसलिए जरूरी
नजदीकी जिले भोपाल में सोमवार को 76 नए कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। कोरोना पॉजिटिव मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए मप्र के भोपाल और होशंगाबाद सहित 12 जिलों में मास्क लगाना और सोशल डिस्टेंसिंग सहित कोविड की गाइड लाइन का पालन आवश्यक कर दिया है। इन दोनों जिले की सीमाएं रायसेन जिले से लगती हैं, वहीं जिले से रोज हजारों लोगों को भोपाल आना-जाना होता है। यह सब देखते हुए कोरोना संक्रमण को बढ़ने पर चिंता जताई जा रही है। जिले में 14 से 16 फरवरी के बीच के तीन दिन में जिले में महज 4 ही कोरोना के एक्टिव मरीज बचे थे। तब ऐसा लगा कि अब जिला कोरोना मुक्त हो जाएगा, लेकिन 17 फरवरी से मरीजों को बढ़ना फिर शुरू हो गया। 23 फरवरी तक जिले में कोरोना के एक्टिव केस बढ़कर 8 हो गए। ये सभी मरीज होम आइसोलेशन में हैं। 22 फरवरी तक जिले में कुल 59782 सैंपल लिए गए थे। इनमें से 2489 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए, जबकि 57 हजार 338 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें