पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रतिबंध के बावजूद:बारना, तेंदोनी और नर्मदा नदी में अवैध रूप से हो रहा मछलियों का शिकार

रायसेन19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

प्रशासन के द्वारा प्रतिवर्ष 15 जून से 15 अगस्त तक मछलियों के प्रजनन के चलते मछलियों शिकार पर प्रतिबंध लगा दिया जाता है। बावजूद इसके नदियों में मछली पकड़ने वालों के द्वारा बेखौफ होकर प्रतिदिन बड़ी मात्रा में मछलियों का शिकार किया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर नर्मदा नदी में तो स्थानीय मछुआरे जाल डालकर मछलियां पकड़ते हैं।

जिसे बड़ी मात्रा में नगर में लॉकर स्थानीय व्यापारियों को बेचा जा रहा है। बता दें कि 15 जून से 15 अगस्त तक मछलियों के प्रजनन का समय होता है। इस अवधि के दौरान मछलियां बड़ी मात्रा में बच्चे पैदा करती है। जिसके चलते मत्स्य विभाग के द्वारा इस समय अवधि में मत्स्य आखेट एवं मछलियों के परिवहन पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाया जाता है। बावजूद इसके इस समय अवधि के दौरान क्षेत्र की नदियों में मछलियों का शिकार किया जा रहा है। किंतु इस अवैध रूप से होने वाली शिकार और व्यापार पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं की जाती।

खबरें और भी हैं...