आरटीओ की कार्रवाई के खिलाफ लामबंद हुए ऑटो चालक:नारेबाजी करते हुए तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन, बोले- कोरोना के बाद से आर्थिक स्थिति कमजोर हैं

रायसेन11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ऑटो चालाक अतिरिक्त तहसीलदार को अपनी समस्या बताते हुए। - Dainik Bhaskar
ऑटो चालाक अतिरिक्त तहसीलदार को अपनी समस्या बताते हुए।

जिला परिवहन अधिकारी जगदीश सिंह भील और यातायात विभाग द्वारा की जा रही कार्रवाई के खिलाफ शुक्रवार को ऑटो चालकों द्वारा नारेबाजी करते हुए तहसील कार्यालय पहुंचकर अतिरिक्त तहसीलदार बृजेंद्र सिंह को कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा। ऑटो चालकों का कहना है कि पिछले कुछ दिनों में जिला परिवहन अधिकारी ने ऑटो के कागज कंप्लीट न होने के चलते 30 से 40 ऑटो को जप्त कर लिया गया है।

इन के कागज कंप्लीट कराने और टैक्स सहित मिलाकर लगभग 16 हजार से 20 हजार की राशि जमा हो रही है। इस समय इतनी बड़ी राशि जमा करने में सक्षम नहीं है। कोरोना काल के बाद से काम इतना नहीं है। ऑटो की किश्त भी भरनी पड़ती है। इसी वजह से हम इतनी बड़ी राशि जमा नहीं कर पा रहे हैं। हमारे ऑटो पर चालानी कार्रवाई करके जिला परिवहन अधिकारी ऑटो को छोड़ दें। हम कुछ दिनों बाद कागज और टैक्स की राशि इकट्ठा कर जमा कर देंगे।

अधिकांश के नहीं हैं कागज कंप्लीट
बिना परमिट जा रहे शहर में लगभग 500 ऑटो हैं। जिनमें से अधिकतर ऑटो चालकों के कागज कंप्लीट नहीं होने और ओवरलोड सवारियों को भरकर आए दिन यात्रियों की जान जोखिम में डालकर शहर में बेखौफ दौड़ए जाते हैं। बिना परमिट के शहर से बाहर भी गांव-गांव से सवारियों को ढोने का काम कर रहे हैं। ऑटो चालक पर अब इन दिनों जिला परिवहन और यातायात विभाग द्वारा लगातार की जा रही कार्यवाही से ऑटो चालकों में हड़कंप मच गया है।