गर्मी / सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करते ही शुरू होंगे नौतपा

X

  • 25 मई सोमवार को सुबह 7 बजे सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश के साथ ही नवतपा शुरू होगा

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

रायसेन. 25 मई सोमवार को सुबह 7 बजे सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश के साथ ही नवतपा शुरू होगा। यह स्थिति 3 जून तक रहेगी। ज्योतिषियों के मुताबिक इस बार नौतपा से अधिक गर्मी जून में पड़ने के आसार हैं। 
नौतपा में एक-दो दिन हल्की बारिश हो सकती है। दरअसल, नौतपा के दौरान 31 मई को वक्री शुक्र अपनी ही राशि में अस्त होंगे, जिससे बूंदाबांदी के योग निर्मित होंगे। 22 जून को सूर्य के आद्रा नक्षत्र में प्रवेश करने के साथ मानसून शुरू हो जाएगा।
ज्योतिषाचार्य पं. गोविंद शर्मा ने बताया कि सूर्य जब रोहिणी नक्षत्र में और वृष राशि के 10 अंश से 20 अंश तक रहता है तब नौतपा पड़ते हैं। सूर्य रोहिणी नक्षत्र में 14 दिनों तक रहता है। इन चौदह दिनों में से 9 दिन ऐसे है जब पृथ्वी को सूर्य विशेष रूप से तवे के समान तपता है। चारों तरफ दोपहर से शाम तक सन्नाटा छा जाता है। इस बार नौतपा विशेष रूप से नहीं तपेंगे, कई स्थानों पर तो आंधी तूफान के साथ वर्षा होने के योग है। 
नौतपा में सूर्य की आराधना विशेष फलदायी
ज्योतिषाचार्य पं. गोविंद शर्मा ने बताया कि रोहिणी नक्षत्र के दौरान सूर्य की आराधना करना विशेष फलदायी होता है। सुबह सूर्योदय के पहले स्नान कर सूर्य को अर्घ दें। जलपात्र में कंकू डाले और सूर्य को जल चढ़ाए। जल चढ़ाते समय सूर्यदेव का मंत्र ऊं  घृणि सूर्याय नमः, या ऊँ सूर्यदेवाय नमः का निरंतर जाप करें।

इस बार नौतपा से अधिक गर्मी जून में पड़ेगी 
ज्योतिषियों की मानें तो नौतपा से अधिक भीषण गर्मी जून महीने में रहेगी। 31 मई को शुक्र पश्चिम दिशा में अस्त होंगे और सूर्य के साथ चलेंगे। मंगल अंगार कारक ग्रह की चौथी दृष्टि बनी रहेगी। मंगल अंगार कारक ग्रह के साथ पराक्रम, हिंसा, उपद्रव, दुर्घटनाओं के कारक ग्रह हैं। गुरु और शनि दोनों ही इस समय वक्री चल रहे हैं। इसके चलते जून में तपन, लू, भीषण गर्मी और कई राज्यों में पानी की कमी रहेगी। जब सूर्य कर्क रेखा के पास पहुंच जाता है तो इसकी किरणें सीधे पृथ्वी पर पड़ती हैं। इसी कारण जून में तापमान बढ़ जाता है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना