• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Raisen
  • Old Lady Reached The Bareilly Police Station With A Lift From Jamgarh, Pleading With The Policemen To Reach Bhopal Due To Lack Of Bus.

गुहार:जामगढ़ से लिफ्ट लेकर बरेली थाने पहुंची वृद्धा, बस नहीं चलने से पुलिसकर्मियों से भोपाल पहुंचाने की लगाई गुहार

रायसेनएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जल्द करवाएंगे बसों का संचालन शुरू
मध्य प्रदेश बस ट्रांसपोर्ट ऑपरेटरों को सामान्य बस संचालन की बात कही हे लेकिन बस ऑपरेटर संघ 6 माह का टैक्स माफ व कंडक्टर, हेल्पर के बीमा करने की मांग पर न्यायालय पहुंच गया। हमारी कोशिश चल रही है कि शीघ्र ही बसों का संचालन शुरू करवाया जाए। 
रीतेश तिवारी, जिला परिवहन अधिकारी

ड्राइवर, कंडेक्टर, हेल्परों की आर्थिक स्थिति गड़बड़ाई 
बसों का परिवहन बंद होने से नगर में लगभग 100 परिवारों के सामने पेट पालने का संकट खड़ा हो गया है बता दें कि नगर के बस स्टैंड से प्रतिदिन 100 से 120 यात्री बसें अपने गंतव्य की ओर निकलती थी, जिसमें लगभग 40 बसें बरेली बस स्टैंड से ही बनती थी इन बसों पर काम करने वाले हेल्पर, ड्राइवर, कंडक्टर और स्टैंड कंडक्टरों के सामने परिवार का भरण पोषण करने का संकट खड़ा हो गया है । हालत यह है कि अब इन बसों पर काम करने वाले कर्मचारी तो सब्जी बेचकर परिवार पाल रहे हैं तो कुछ नहीं चाय की दुकान खोल ली है। 

बस संचालक इस तरह जमा करते है टैक्स
100 किलोमीटर तक की दूरी के परमिट वाली बसों में 200 रुपए प्रति सीट प्रति माह के हिसाब से यात्री टैक्स लगता है। यानी 50 सीटर बस का 10 हजार रुपए और 28 सीटर बसाें का 5600 रुपए प्रति माह के हिसाब से टैक्स जमा करना हाेता है। 100 किलोमीटर से अधिक दूरी की बस पर प्रति सीट ज्यादा टैक्स लगता है। मार्च के अंतिम सप्ताह, अप्रैल, मई और जून में बसें नहीं चली हैं। इस टाइम पीरियड का लगभग 50 लाख रुपए का टैक्स बनता है। बस मालिकों का कहना है कि जब बसें चली नहीं तो तीन महीने का टैक्स नहीं लिया जाना चाहिए, सरकार काे टैक्स माफ करना चाहिए। बस संचालक जीवन लाल मालवीय ने बताया कि सरकार के द्वारा बस एसोसिएशन की मांगे मान ली गई हैं लेकिन सरकार के द्वारा 3 महीने खड़ी रहने वाली बसों का टैक्स माफ नहीं किया जा रहा जिसके कारण बस मालिकों को इसका सीधा नुकसान उठाना पड़ रहा है।  

खबरें और भी हैं...