मंदिरों में मना अन्नकूट महोत्सव, लगाए छप्पन भोग‎:गोवर्धन पूजा वाले दिन यादव समाज दूध का नहीं करते विक्रय, प्रसाद के रूप में ही बांटा जाता है‎

रायसेन‎25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वार्ड नंबर 1 नरापुरा मैं हुई अलग-अलग रंगों से रंगे पाड़ों की लड़ाई।‎ - Dainik Bhaskar
वार्ड नंबर 1 नरापुरा मैं हुई अलग-अलग रंगों से रंगे पाड़ों की लड़ाई।‎

शुक्रवार को दीपावली के दूसरे दिन ‎पड़वा पर घर-घर में गोवर्धन पूजा‎ की गई, तो वहीं मंदिरों में छप्पन‎ भोग लगाकर अन्नकूट महोत्सव‎ मनाया गया। इस दिन यादव समाज ‎द्वारा दूध का विक्रय नहीं किया‎ जाता है, बल्कि दूध को हीरामन‎ बाबा के चबूतरे पर चढ़ाकर उसे‎ प्रसाद के रूप में बांटने की परंपरा‎ भी चली आ रही है। पूजा अर्चना‎ के बाद लोग एक-दूसरे को‎ शुभकामनाएं देने भी निकले।‎

गोवर्धन पर्व पर यादव समाज के‎ लोग अपने मवेशियों को सजाकर‎ नरापुरा स्थित गुठान लेकर पहुंचे।‎ यहां पर यादव समाज के लोगों द्वारा‎ हीरामन बाबा के चबूतरे पर पूजा‎ अर्चना की गई। हीरामन बाबा को‎ दूध चढ़ाकर उसका प्रसाद भी‎ लोगों को बांटा गया। यहां पर‎ परंपरानुसार पाड़ों की लड़ाई भी‎ करवाई गई।

अरुण यादव के दो‎ पाड़ों को आमने सामने भी लाया‎ गया, लेकिन वे आपस में नहीं‎ लड़े, क्योंकि दोनों ही एक स्थान‎ पर साथ-साथ रहते है, इस कारण‎ उनके बीच दोस्ती थी, जबकि लोग‎ दोनों पाड़ों को लड़वाने के लिए‎ काफी प्रयास भी करते देखे गए।‎

चित्रगुप्त मंदिर में आज‎ कायस्थ समाज करेगा‎ कलम- दावत की पूजा‎
भोपाल मार्ग पर स्थित भगवान‎ चित्रगुप्त मंदिर में 6 नवंबर को‎ कायस्थ समाज द्वारा कलम दावत‎ की पूजा अर्चना की जाएगी।‎ भगवान श्री चित्रगुप्त जी को महिला‎ मंडल द्वारा 56 भोग लगाया‎ जाएगा। यहां पर शाम चार बजे‎ कलम दावत की पूजा अर्चना होगी।‎ इसके बाद चित्रगुप्त भगवान की‎ आरती होगी। इस पूजा अर्चना में‎ समाज के लोग बड़ी संख्या में‎ मौजूद रहेंगे।‎

खबरें और भी हैं...