रायसेन में सीजन का पहला कोहरा:50 मीटर विजिबिलिटी के साथ घर से निकले लोग, मंदिरों में भगवान को भी पहनाए गए गर्म कपड़े

रायसेनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
 रायसेन में कड़ाके की ठंड  - Dainik Bhaskar
 रायसेन में कड़ाके की ठंड 

सुबह जैसे ही लोगों की नींद खुली और बाहर जाकर देखा तो शहर घने कोहरे से ढाका हुआ था। वहीं धान की फसल लेकर दशहरा मैदान पहुंचे किसान कंबल ओढ़े में अपनी धान की फसल पर बैठे नजर आए। सर्दी बढ़ते ही शहर के मंदिरों में भगवानों को गर्म कपड़ों से ढका। मंगलवार सुबह सीजन का पहला घना कोहरा छाया रहा। जिससे वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ा। कोहरा इतना घना था कि विजिबिलिटी 50 मीटर ही रह गई। तेज कोहरे और सर्दी के बीच लोग गर्म कपड़ों में नजर आए छोटे बच्चे भी स्कूल जाते समय गर्म कपड़ों से ढके हुए थे।

भगवान लड्डू गोपाल को भी पहनाए ऊनी कपड़े
भगवान लड्डू गोपाल को भी पहनाए ऊनी कपड़े

विभाग के अनुसार मंगलवार सुबह का तापमान 12 डिग्री पर आ जाने से बड़ी सर्दी कई देशों में हो रही बर्फबारी से अब तेज सर्दी ने रफ्तार पकड़ ली है। वहीं शहर के दशहरा मैदान में अपनी धान की फसल लेकर ग्राम चांदपुर से पहुंचे किसान सुदामा प्रसाद ने कहा कि तेज सर्दी में धान की फसल पर ही कंबल ओढ़े सर्दी से बचने बैठना पड़ा रहे किसानों द्वारा मंडी प्रशासन से अलाव जलाने की मांग भी की है। सर्दी बढ़ती देख शहर के मंदिरों में भगवानों को ऊनी कपड़ों शाल और कंबल से ढक दिया है।