पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Raisen
  • Rajneesh, Who Was Walking On Foot From Bhopal To Jabalpur, Was Stopped By The Police, And He Said By Showing Blisters Of Feet Grandpa Died.

रायसेन :भोपाल से जबलपुर पैदल जा रहे रजनीश को पुलिस ने रोका तो पैरों के छाले दिखाकर बोला- दादाजी का देहांत हो गया

रायसेन 6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रजनीश व्यास के मुताबिक भोपाल के नीलबड़ क्षेत्र में चार लोग एक कमरे में रहते थे। दो लड़के राजस्थान के थे वे पहले ही चले गए।

भोपाल से जबलपुर के लिए पैदल ही निकले दो युवक रजनीश व्यास (22) और हर्ष दुबे (19) की कहानी यह बताने के लिए काफी है कि भले ही कोरोना के संक्रमण को रोकने लिए लॉकडाउन लगाया गया हो, लेकिन इसके लंबे खिंच जाने के कारण लोग बहुत ज्यादा परेशान हो रहे हैं। रजनीश व्यास के मुताबिक भोपाल के नीलबड़ क्षेत्र में चार लोग एक कमरे में रहते थे। दो लड़के राजस्थान के थे वे पहले ही चले गए। लेकिन रजनीश और हर्ष वहीं रुके हुए थे। शुक्रवार के दिन रजनीश के दादाजी का स्वर्गवास हो गया।  इसके बाद दोनों ने 300 किमी की दूरी पैदल चलकर तय करने की ठान ली। इसके बाद दोनों शुक्रवार को चार बजे पैदल ही चल दिए। शनिवार को रास्ते में एक ढाबे पर उन्होंने 140 रुपए में आधा प्लेट दाल और कुछ रोटियां लेकर भोजन किया। इसके बाद रात को रायसेन पहुंच गए। यहां बस स्टैंड के पास नपा के रैन बसेरा में रात गुजारी। उसके बाद पुलिस वालों की सलाह पर वे जिला भाजपा कार्यालय पहुंच गए। वहां उन्हें भोजन कराया गया। दोनों युवकों को यहां से एक समय का भोजन पैक करके भी दिया गया। इसी दौरान रजनीश अपने पैरों के छाले दिखाते हुए रोने लगे और बोले हम तो लॉकडाउन के दौरान भोपाल ही रुके हुए थे। लेकिन दादाजी का देहांत हो जाने के बाद घर जाना जरुरी हो गया। इसलिए पैदल ही निकल पड़े। इसके बाद पुलिस से संपर्क कर इन दोनों युवक रजनीश और हर्ष को जबलपुर तक भिजवाने के लिए मालवाहक वाहन में बैठा दिया गया। रजनीश भोपाल में धार्मिक कर्मकांड की पढ़ाई कर रहे है। 

नहीं आई 54 संदिग्धों की रिपोर्ट, भेजे 8 नए सैंपल 
शहर की दरगाह में क्वारेंटाइन कराए गए 54 लोगों के एक साथ सैंपल लेकर जांच के लिए एम्स भोपाल भेजे गए हैं। लेकिन रविवार को भी उनकी रिपोर्ट नहीं मिली है। हालांकि इन सभी लोगों को दरगाह में जगह की कमी होने के बाद पॉलीटेक्निक कॉलेज में शिफ्ट कराया जा चुका है। जहां उनको चाय, नाश्ता, भोजन समय पर उपलब्ध कराया जा रहा है। शहर से 8 नए लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। इसमें ये अच्छी बात है कि अब जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड मे एक भी संदिग्ध मरीज नहीं बचा है। इस तरह से पूरा वार्ड ही खाली पड़ा हुआ है।

कंटेनमेंट एरिया में लापरवाही : बेरिकेड्स को हटाकर निकल रहे लोग 
एसडीओपी कार्यालय को भी कंटेनमेंट एरिया में शामिल किया गया है। यहां से भोपाल रोड को जोड़ने वाली सड़क पर पुलिस ने बेरीकेड्स लगाकर उस पर आवाजाही के लिए प्रतिबंधित क्षेत्र की सूचना भी लगाकर रखी हुई है। लेकिन वहां पुलिस जवान तैनात न होने का फायदा उठाकर कंटेनमेंट एरिया का उल्लंघन करते हुए बेरीकेड्स हटाकर लोग आराम से निकल रहे हैं। इस तरह से जिन क्षेत्रों में कोरोना पॉजिटिव लोग मिले हैं, वहां कंटेनमेंट एरिया घोषित करने के बाद भी लोग बेरीकेड्स हटाकर निकल रहे हैं।

परिश्रम: 12 घंटे की ड्यूटी, वहीं करते हैं नाश्ता और भोजन 
शहर के बाहर भी तीनों मुख्य मार्गों पर पुलिस के चैकिंग प्वाइंट बनाए गए हैं। इसके अलावा शहर के अंदर भी सागर तिराहा, चौपड़ा, इंडियन चौराहा और कंटेनमेंट एरिया के 9 वार्डों में पुलिस काे तैनात किया गया है। दोपहर के 1 बजे हैं और चौपड़ा पर तैनात पुलिस वालों को जगह पर ही भोजन के पैकेट उपलब्ध कराएं जा रहे हैं। इसको लेकर एएसआई एसडी उइके और आरक्षक तुलाराम वहीं बैठकर भोजन करते देखे गए। पूछने पर बताया कि सुबह 8 बजे से रात 8 बजे उनकी ड्यूटी यहां रहती है। सुबह नाश्ता और दोपहर को जगह पर पुलिस विभाग द्वारा भोजन उपलब्ध कराया जाता है। आसपास के लोग चाय पिला देते हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें