जानकारी न छिपाएं / दुल्हन के संपर्क में आए 16 लोगों के सैंपल भेजे सख्ती: संक्रमण फैलाने वाले 8 लोगों पर केस दर्ज

Samples of 16 people who came in contact with the bride sent vigorously: Case registered on 8 people who spread infection
X
Samples of 16 people who came in contact with the bride sent vigorously: Case registered on 8 people who spread infection

  • चिकलोदकला स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ नर्स पर भी हो सकती है एफआईआर
  • राहत... 40 दिन से भर्ती युवक की रिपोर्ट निगेटिव आने पर भोपाल से हुई छुट्टी

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 08:20 AM IST

रायसेन. कोरोना महामारी का संक्रमण फैलाने वाले लोगों के विरुद्ध जिला प्रशासन ने कड़ा रुख अपनाना शुरू कर दिया है। प्रशासन द्वारा अब तक ऐसे 8 लोगों के खिलाफ सतलापुर और मंडीदीप थानों में एफआईआर दर्ज कराई जा चुकी है। प्रशासन के कड़े कदम से माना जा रहा है कि चिकलोद कला स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ महिला नर्स पर भी कार्रवाई की गाज गिर सकती है, इधर प्रशासन के सख्त रवैया से लोगों में हड़कंप मच गया है। इससे वे महामारी के प्रति जागरूक होने के साथ ही बचाव के सभी उपाय अपना पर दिख रहे हैं। वहीं मेडिकल टीम ने शनिवार को नवविवाहिता के संपर्क में आने वाले 32 में से 16 परिजनों के सैंपल लिए है। इनके अलावा मंडीदीप कोविड-19 केयर सेंटर में इंदौर से आए चार लोगों के भी सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं।
बीएमओ डॉ. अरविंद सिंह चौहान ने बताया कि एक नवविवाहिता के संपर्क में आने वाले परिवार के 32 लोगों को 5 अलग-अलग घरों में होम क्वारेंटाइन किया गया था। 5 दिन बाद इनमें से 16 उन लोगों के सैंपल लिए गए है, जो कि दुल्हन के सीधे संपर्क में आए थे। इनमें 6 महिलाएं, 8 पुरूष और 2 बच्चे ( एक 8 माह का) भी शामिल है। इसके अलावा मंडीदीप कोविड केयर सेंटर में इंदौर से आए 4 लोगों के भी सैंपल लेकर जांच के लिए भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल भेजे हैं।
पहले भी सांची थाने में छात्रा और उसके परिजनों पर दर्ज हो चुकी है एफआईआर 
24 अप्रैल को इंदौर से आई शीतल टाउन मंडीदीप निवासी एक छात्रा द्वारा पॉजिटिव होने कि जानकारी छिपाने से उसके 2 भाई और 1 बहन भी संक्रमित हो गए थे। इंदौर से आने की जानकारी स्वास्थ्य अमले को ना देने और कोरोना संक्रमण के लक्षण छुपाने के मामले में मंडीदीप थाना पुलिस ने पीड़िता के 4 सदस्यों के विरूद्ध धारा 188, 269, 270 एवं 271 के अंतर्गत प्रकरण पंजीबद्ध किया था। इसी तरह सतलापुर के दूल्हा ने मेडिकल एमरजेंसी के नाम पर ई-पास बनवाया और 3 लोगों के साथ बारात लेकर मिसरोद के पास जाटखेड़ी पहुच गया। जहां से वह कोरोना पॉजिटिव दुल्हन को चोरी-छिपे लेकर आ गया। सतलापुर पुलिस ने इसे गंभीर अपराध मानते हुए दूल्हा-दुल्हन के साथ 2 अन्य लोगों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कर यह संदेश देने की कोशिश की है कि कोरोना संक्रमण की जानकारी छिपाने और फैलाने वालों को किसी भी सूरत में छोड़ा नहीं जाएगा। इन 2 मामलों में कार्रवाई होने से माना जा रहा है कि अगला नंबर नर्स का हो सकता है। जिस पर एफआईआर कराने के लिए कलेक्टर उमाशंकर भार्गव पहले ही कह चुके हैं। हालांकि अब तक उनके आदेश पर अमल नहीं किया गया है।
12 में से 11 रिपोर्ट आई हैं निगेटिव 
जिले भर के आइसोलेशन सेंटर में रखे गए संदिग्ध 12 लोगों में से 11 लोगों की रिपोर्ट शनिवार को निगेटिव प्राप्त हुई है, जिनमें तीन रिपोर्ट जिला अस्पताल के आइसोलेशन में भर्ती मरीजों की हैं, उनकी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है। 
अभी नहीं मिले आदेश 
ओबेदुल्लागंज के एसडीओपी मलकीत सिंह का कहना कि अब तक हमें महिला नर्स के विरूद्ध एफआईआर करने के लिए किसी तरह के दिशा-निर्देश प्राप्त नहीं हुए हैं। वैसे नर्स भोपाल की रहने वाली है, तो भोपाल पुलिस को ही कार्रवाई करनी चाहिए। निर्देश मिलने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।
दोनों महिलाओं के परिजनों की रिपोर्ट निगेटिव 
इंदौर से खरगोन बरेली और सिलवानी आई दो कोरोना पॉजिटिव महिलाओं का इलाज जिला अस्पताल के डेडिकेटड कोरोना केयर सेंटर में चल रहा है। जबकि उनके परिजनों को सिलवानी और बरेली में क्वारेंटाइन सेंटर में रखा था। इनके सैंपल भी लेकर उन्हें जांच के लिए भोपाल भेजे गए थे, इन महिलाओं के सभी परिजनों की रिपोर्ट निगेटिव आ गई है, जिससे प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को एक बड़ी राहत मिल गई है। इसके अलावा खरगोन की महिला इंदौर से आने के बाद धनाश्री में अपने रिश्तेदार के यहां पर रुकी थी। इसके उसके संपर्क में आए परिवार के इन लोगों ने भी स्वयं अस्पताल पहुंच कर अपनी जांच कराई थी। इस परिवार के भी सभी 9 सदस्यों की रिपोर्ट भी निगेटिव आई है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना