पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समस्या:हाईवे पर आवारा पशुओं का डेरा, सीएमओ बोले- वह खुद परेशान, संसाधन ही नहीं हैं

रायसेन10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बारिश शुरू होते ही नगर के मुख्य मार्गों सहित राष्ट्रीय राजमार्ग पर आवारा मवेशियों के झुंड से लोगों की परेशानी बढ़ने लगी है। हाल ही दो दिन पहले भी हाइवा और ट्रक में भिड़ंत हो गई थी वहीं एक बाइक चालक अनियंत्रित होकर गिर गया था। इसमें वाहनों के ड्राइवरों को चोंटे आई थी।  ऐसी घटनाएं रोजाना राष्ट्रीय राज्यमार्ग पर घट रहीं हैं लेकिन अफसर इस संबंध में कोई ठोस कार्ययोजना तैयार नहीं कर रहे हैं, इसके चलते परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सीएमओ श्यामसुंदर श्रीवास्तव ने बताया कि आवारा मवेशियों के कारण वह और पूरा अमला परेशान बना हुआ है। बरेली से पिपरिया, भोपाल और उदयपुरा मार्ग पर घूमने और बैठने वाले आवारा मवेशियों से दुर्घटना हो रही है।

रोज हो रहे हैं हादसे, अफसर नहीं कर रहे कार्रवाई 
बारिश के दिनों में कीचड़ और मच्छरों से बचने के लिए बड़ी संख्या में आवारा मवेशी समनापुर, चारगांव, हरसिली भोड़िया, नयागांव, महेश्वर, बाग पिपरिया, अलीगंज गांवों में सड़कों पर बैठे रहते हैं जिसके कारण से वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। सबसे ज्यादा दिक्कत रात में होती है जब चालक को वाहनों की लाइट से ज्यादा दूर नहीं दिखता है।

मालिकों पर दर्ज हो प्रकरण 
वर्तमान में पशु मालिकों के द्वारा सिर्फ कीमती पशुओं में भैंस को ही बरसात के दौरान भी सुरक्षित घर में बांधकर रखा जाता है, लेकिन गाय को आवारा छोड़ दिया जाता है। इसकी मुख्य वजह यह है कि गाय की कोई कीमत नहीं है और भैंस की कीमत 50 से 70 हजार रुपए होती है। पशु मालिकों पर प्रकरण दर्ज करना चाहिए।

अफसरों से चल रही है चर्चा 
आवारा पशुओं के लिए न तो हमारे पास पर्याप्त साधन हैं और न ही कोई स्थान है। इस संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा चल रही है। 
श्यामसुंदर श्रीवास्तव, सीएमओ
 

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें