29 जननी वाहनों का मेंटेनेंस नहीं, लगाना पड़ रहे धक्के‎:ऑपरेटर कंपनी का सितंबर में ठेका खत्म हुआ, इसलिए रखरखाव नहीं हो पा रहा है‎

रायसेन‎21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में जननी एक्सप्रेस की कई ‎गाड़ियों का लंबे समय से मेंटेनेंस‎ नहीं हो पा रहा है, जिससे यह बीच ‎रास्ते में बंद तक हो जाती है, ऐसी ‎स्थिति में प्रसूताओं को अस्पताल‎ तक पहुंचाने के लिए दूसरे वाहनों‎ को मौके पर भेजना पड़ रहा है।‎

इतना ही नहीं चिकलोद मार्ग पर तो‎ जननी एक्सप्रेस के वाहन चालक‎ जाने से तक कतराते हैं, क्योंकि यह‎ मार्ग ज्यादा खराब है और उस पर‎ जाने वाली जननी एक्सप्रेस कहीं‎ भी फंसकर खड़ी हो जाती है।‎ रायसेन जिले में 29 जननी‎ एक्सप्रेस वाहन चल रहे है।

इन‎ वाहनों को ऑपरेट करवाने वाली‎ जिगित्सा कंपनी का ठेका सितंबर‎ माह में समाप्त हो चुका है, लेकिन‎ दूसरा ठेका नहीं होने से शासन द्वारा‎ दिसंबर तक इसी कंपनी को फिर से‎ अपनी सेवाएं देने के लिए कहा गया‎ है। इस कारण कंपनी वाहनों के‎ रखरखाव पर ध्यान नहीं दे रही है,‎ जिसका खमियाजा प्रसूताओं को‎ उठाना पड़ रहा है।

जननी वाहन‎ चालकों के अनुसार गाड़ियों का‎ मेंटेनेंस नहीं होने से उन्हें चलाना‎ काफी मुश्किल हो रहा है। वे वाहन‎ मालिक से उक्त गाड़ी को ठीक‎ करवाने का निवेदन कर चुके हैं,‎ लेकिन थोड़ा बहुत काम करवा कर‎ उन्हें ही चलाया जा रहा है।‎

दिसंबर बाद होना है वाहन संचालन के लिए दूसरा ठेका‎
जननी वाहन एक्सप्रेस वाहन संघ के महामंत्री संजय ठाकुर ने बताया कि‎ दिसंबर माह में जननी एक्सप्रेस वाहन का नया ठेका होना है। यही सही है‎ कुछ वाहनों की हालत ज्यादा खराब हो गई है, उन्हें ठीक करवाने की‎ जरुरत है, लेकिन मेंटेनेंस के लिए पर्याप्त राशि नहीं मिलने से दिक्कत आ‎ रही है। वहीं डीजल-पेट्रोल के दाम भी ज्यादा होने से जननी एक्सप्रेस के‎ वाहन मालिकों को घाटा भी उठाना पड़ रहा है।‎

खबरें और भी हैं...