• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Raisen
  • Madhya Pradesh (MP) Raisen Violence News Update | 30 Injured, Internet Service Down In Madhya Pradesh Raisen

रायसेन जिले में उपद्रव, एक की मौत:गली से निकलने के झगड़े में हथियार व गोलियां चलीं, गाड़ियां और दुकानें फूंकीं; 38 लोग घायल

रायसेन3 महीने पहले

रायसेन में बच्चों का मामूली विवाद खूनी संघर्ष में बदल गया। दो पक्ष आपस में भिड़ गए। मारपीट के बाद हथियार चले और दोनों ओर से आगजनी होने लगी। उत्पात कर रहे लोगों ने 5 बाइक जला दी। हमले में करीब 38 लोग घायल हुए हैं, वहीं राजू नाम के युवक की मौत हो गई है। 32 घायलों को भोपाल के हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गांव में 4 थानों की पुलिस पहुंची और मामला शांत कराया। घटना शुक्रवार रात सिलवानी थाना क्षेत्र के प्रतापगढ़ जैथारी के पास ग्राम खमरिया पौड़ी की है।

मामले में प्रशासन ने भी कार्रवाई करते हुए आरोपियों के मकान तोड़ना शुरू कर दिए। उधर घायलों का हाल जानने के लिए शनिवार दोपहर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हमीदिया अस्पताल पहुंचे। उन्होंने मृतक के परिवार को 5 लाख रुपए, 3 गंभीर घायल को 2-2 लाख रुपए और बाकी घायलों के लिए 50-50 हजार रुपए की आर्थिक मदद का ऐलान किया है।

घायलों को भोपाल के हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
घायलों को भोपाल के हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार रात गली से निकलने की बात को लेकर दो समुदायों में विवाद शुरू हुआ। बाद में यह विवाद खूनी संघर्ष में बदल गया। आक्रोशित लोगों ने वाहनों और मकानों में आग लगा दी। इसके बाद गोलियां चलनी शुरू हो गईं।

सीएम शिवराज ने अस्पताल पहुंचकर जाना हाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हमीदिया अस्पताल पहुंचकर घायलों का हालचाल जाना। उन्होंने घायलों से बातचीत कर उनके परिजनों से भी भेंट की और चिकित्सकों को घायलों के बेहतर इलाज के निर्देश दिए। सीएम ने कहा है कि घटना के आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा। सीएम ने संभागायुक्त गुलशन बामरा, जीएमसी के डीन डॉ अरविंद राय को घायलों के इलाज की हरसंभव व्यवस्था करने के निर्देश दिए। करीब 35 मिनट तक सीएम ने हमीदिया अस्पताल में रहकर घायलों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने पुलिस आयुक्त मकरंद देउस्कर, एसीपी सचिन अतुलकर, संभागायुक्त गुलशन बामरा से घटना के बारे में चर्चा की। घायलों से मुलाकात के बाद सीएम काफी नाराज दिखे।

हमीदिया अस्पताल भर्ती घायल से बातचीत करते मुख्यमंत्री।
हमीदिया अस्पताल भर्ती घायल से बातचीत करते मुख्यमंत्री।

CM से मिले हिन्दुवादी संगठनों के नेता

रायसेन के खमरिया खुर्द गांव की घटना पर हिंदुवादी संगठनों ने सीएम शिवराज सिंह से मुलाकात की और इस गोलीकांड के आरोपियों पर सख्त कार्रवाई की मांग। सीएम ने कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिया।

13 आरोपी गिरफ्तार

संभागायुक्त गुलशन बामरा ने बताया कि सिलवानी पुलिस थाने में इस घटना को लेकर 16 आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। आज दोपहर 12 बजे तक 13 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। घटना में प्रयुक्त दो हथियार, 12 बोर की रायफल, 2 ट्रेक्टर, एक बोलेरी पिकअप को जब्त किया गया है। घायलों के परिवारों को पूरी सुरक्षा मुहैया कराई गई है। पुलिस और प्रशासन पूरी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

ये है पूरा मामला

शुक्रवार रात आदिवासी समाज के दो लड़के गली से निकल रहे थे। इसी दौरान दूसरे समुदाय के लोगों से उनकी कहासुनी हो गई और सामने वाले पक्ष ने हाथ उठा दिया। इसके बाद आदिवासी लड़कों ने 5-6 दोस्तों को बुला लिया। फिर दोनों पक्षों में मारपीट हुई, लेकिन बड़े-बुजुर्गों ने मामला संभालते हुए राजीनामा करवा दिया। हालांकि, तब तक दोनों तरफ के सैकड़ों लोग लाठी-डंडे लेकर मौके पर पहुंच चुके थे।

इसके बाद आदिवासी समाज के लोगों ने आरोपी और उसके 3 बेटों की दुकान और 5 बाइक को आग लगा दी। जवाब में आरोपी ने कई फायर किए, जिनसे निकले छर्रे लगने से आदिवासी समाज के 50 लोग घायल हो गए। घटना के बाद रात 10 बजे से सुबह 6 बजे के बीच पुलिस ने 13 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही 16 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

उपद्रव में 38 लोग गंभीर, 32 हमीदिया में भर्ती
उपद्रव में 38 लोगों को गंभीर चोट आई है। 6 की हालत नाजुक है। 32 घायलों को हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें 13 साल की लड़की भी शामिल है। घायलों के इलाज के लिए डॉक्टरों की विशेष टीम लगाई गई है।

उपद्रवियों ने बाइक को आग के हवाले कर दिया।
उपद्रवियों ने बाइक को आग के हवाले कर दिया।

चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात

घटना की जानकारी मिलते ही IG दीपिका सूरी, कलेक्टर अरविंद दुबे और SP विकास शाहवाल भी गांव पहुंच गए हैं। गांव में चप्पे-चप्पे पर पुलिस की तैनाती की गई है। आसपास के क्षेत्रों में तनाव की स्थिति को देखते हुए गांव में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर भी रोक लगा दी गई है। इसके अलावा इंटरनेट सेवा को भी पूरी तरह से बंद कर दिया गया है।

उपद्रवियों ने कई दुकानों में भी आग लगा दी।
उपद्रवियों ने कई दुकानों में भी आग लगा दी।
प्रशासन ने कार्रवाई शुरू करते हुए दंगाइयों के मकान तोड़ने शुरू कर दिए हैं।
प्रशासन ने कार्रवाई शुरू करते हुए दंगाइयों के मकान तोड़ने शुरू कर दिए हैं।
खबरें और भी हैं...