पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धोखाधड़ी:नकली दवा निरीक्षक बनकर की ठगी की काेशिश, दुकानदारों से मांगे 15 हजार

नरसिंहगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नरसिंहगढ़ से पहले ब्यावरा में मेडिकल व्यवसायी को ठगने का प्रयास

नकली ड्रग इंस्पेक्टर बन कर मेडिकल स्टोर संचालकों से ठगी करने वाले एक व्यक्ति को गुरुवार रात मेडिकल एसोसिएशन ने पुलिस के हवाले किया। देर रात पुलिस ने अरेटी अनिल कुमार चौधरी निवासी बड़ा मोतीपुरा पर धोखाधडी का मामला दर्ज किया।

अनिल ने इससे पहले शाम 4 बजे ब्यावरा में एक मेडिकल स्टोर पर ठगी की कोशिश की। वहां से नरसिंहगढ़ के गादिया गांव के दो मेडिकल स्टोर संचालकों सुरेश कुशवाह और भगवान सिंह को डरा-धमका कर दोनों से 15 हजार रुपए भी ले लिए। दोनों ने संदेह होने पर अनिल को रोक लिया और मेडिकल एसोसिएशन के पदाधिकारियों को सूचना दी।

सूचना मिलने पर जिला मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष दीपक गुप्ता, सुरेश चंद्रवंशी, जितेंद्र गुप्ता, भगवती शरण शर्मा और रवि शर्मा मौके पर पहुंचे और अरेटी अनिल चौधरी से पूछताछ की। इसके बाद उन्होंने फोन करके पुलिस को बुलाया। पुलिस अनिल चौधरी को थाने पर लेकर आई। पूछताछ में अरेटी संतोषजनक जवाब नहीं दे सका।

इसके बाद मेडिकल संचालक सुरेश कुशवाह की रिपोर्ट पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।
ऐसे हुआ संदेह : गादिया के दोनों मेडिकल स्टोर संचालकों ने बताया कि अनिल चौधरी के हाव-भाव देखकर उन्हें पहले ही संदेह हो गया था। इसके बाद उसने उन्हें जांच के नाम पर डराना शुरू कर दिया। इस दोनों ने जिला मेडिकल एसोसिएशन से फोन पर जानकारी ली तो पता चला कि ड्रग इंस्पेक्टर तो शशांक रजक हैं। इसके बाद सभी पदाधिकारी मौके पर पहुंचे और अनिल चौधरी को थाने पर लेकर गए।

मामले की जांच चल रही है
आरोपी के विरुद्ध प्रकरण दर्ज कर लिया है है। मामले की जांच चल रही है। -रविंद्र चावरिया, टीआई, नरसिंहगढ़।

खबरें और भी हैं...