पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

रामलीला:रामलीला के प्रसंगों के वाचन के साथ गोष्ठी भी कर रहे

नरसिंहगढ़8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोविड-19 के जल्दी खत्म होने के लिए भी ईश्वर से प्रार्थना कर रहे ताकि अगली रामलीला हो सके

पुरानी कोतवाली के रामलीला मंच पर शनिवार रात से रामलीला का मौखिक वाचन और गोष्ठी की शुरुआत हो गई है। कोविड-19 की वजह से इस बार रामलीला का मंचन नहीं किया जा रहा है। लेकिन 9 दिनों में रामचरितमानस के प्रसंगों को अलग-अलग बांटकर प्रतिदिन इन्हें गद्य और पद्य दोनों की शैली में रामलीला कला मंडल के कलाकार मौखिक रूप से प्रस्तुत कर रहे हैं। शनिवार को इसकी शुरुआत नारद मोह के प्रसंग से हुई और रविवार को कलाकारों ने श्री राम के अवतार, राजा प्रताप भानु की कथा, रावण और उसके परिवार के जन्म लेने, उसके अत्याचारों से पृथ्वी के पीड़ित होने जैसे प्रसंगों पर चर्चा की।

कला मंडल के सदस्यों के साथ साथ शहर के प्रमुख धर्म विशेषज्ञ भी इन गोष्ठियों में शामिल हो रहे हैं और प्रत्येक प्रसंग का आध्यात्मिक पक्ष बताने के साथ-साथ दैनिक जीवन में और वर्तमान समय में उसकी प्रासंगिकता पर भी व्याख्यान दे रहे हैं। व्याख्यानों के साथ ही स्थानीय कलाकार भगवान राम से जुड़े भजन भी प्रस्तुत कर रहे हैं। मौखिक वाचन में रामलीला कला मंडल के अध्यक्ष डॉ चेतन त्रिपाठी, सचिव शिरीष उपाध्याय सहित अन्य सदस्य और वरिष्ठ कलाकार शामिल हो रहे हैं। इसके साथ ही प्रतिदिन कला मंडल के सदस्य भगवान से यह भी प्रार्थना कर रहे हैं कि कोविड-19 के संक्रमण को जल्दी खत्म करें ताकि अगले वर्ष रामलीला भव्यता के साथ की जा सके।

रामलीला के मौखिक वाचन का समापन विजयादशमी के दूसरे दिन एकादशी को श्रीराम राज्याभिषेक और रामायण की महा आरती के साथ किया जाएगा। दूसरी तरफ रामलीला का मंचन ना होने पर सोशल मीडिया पर लोग इसके पुराने प्रसंगों और अनुभवों को याद कर रहे हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें