पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दशहरा 2 दिन:पहली बार राम-रावण युद्ध घर से देख सकेंगे, परिसर में मास्क लगाना जरूरी

राजगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जीरापुर में आज, बाकी जगह कल होगा रावण का पुतला दहन

इस बार कोरोना के चलते दशहरा पर्व में कई बदलाव किए है। खर्च में कटौती करते हुए रावण और आतिशबाजी की लागत कम की है। वहीं लोगों की भीड़ कम हो, इसके लिए राम-रावण युद्ध और रावण दहन का लाइव प्रसारण भी कराया जाएगा। ताकि लोग दशहरा मैदान पर आने की बजाय घर बैठकर ही आनंद ले सके। इसके साथ ही शहर सहित जिलेभर में दशहरा पर्व के आयोजन को लेकर कई बदलाव किए हैं। शहर में दशहरा सोमवार को मनाया जाएगा। इस दौरान रामदल में शामिल लोग सामाजिक दूरी का पालन करते हुए दशहरा मैदान पर पहंुचेंगे। यहां रावण देखने के लिए आने वाले लोग भी सामाजिक दूरी का पालन करेंगे। इसके लिए नपा ने एनाउंसमेंट कराया कि कोई भी दशहरा मैदान पर बिना मास्क के नहीं आए और जो यहां शामिल होंगे वह सामाजिक दूरी का पालन करे। इसके साथ ही गलती से आयोजन में कोई बिना मास्क के आया भी तो समाजसेवी लोग व संस्था द्वारा यहां मास्क का वितरण करेंगे। ताकि लोग संक्रमित नहीं हो सके। इसके लिए एसडीएम पल्लवी वैद्य, तहसीलदार राजेंद्र चौरसिया, सीएमओ पवन अवस्थी ने दशहरा मैदान का निरीक्षण किया। जहां आयोजन की तैयारियों के साथ रावण के पुतले को देखा। इसके साथ ही भीड़ नियंत्रण, आने-जाने का रास्ता सहित अन्य विषयों पर चर्चा की।

अपील... भीड़ न लगाएं, सामाजिक दूरी बनाए रखें

सोशल मीडिया पर लिंक भेजेगी नपा: कोरोना के चलते लोग घर से ही रावण दहन कार्यक्रम देख सके। इसके लिए नपा फेसबुक के माध्यम से पूरे आयोजन का लाइव प्रसारण करेगी। इसके लिए शहर के लोगों को एक लिंक भेजी जाएगी। जिसे खोलकर लोग लाइव प्रसारण देख सकेंगे। ताकि बुजुर्ग व बच्चे घर से ही आयोजन देख सकें।

इस बार रावण दहन में ये नया: रावण की ऊंचाई 35 फीट, लागत 95 से 62 पर : इस बार रावण की उंचाई पिछले साल की भांति 35 फीट ही रहेगी। लेकिन बजट में कटौती की है। पिछले कुछ सालों से रावण के पुतले की लागत 90 से 95 हजार रहती थी, लेकिन इस बार इसकी लागत 62 हजार है। इसके साथ ही आतिशबाजी भी डेढ़ लाख से एक लाख 70 हजार तक रहती थी, लेकिन इस बार एक लाख की आतिशबाजी की जाएगी। श्री अवस्थी ने बताया कि आयोजन पहले की भांति ही होगा, लेकिन बजट में कमी की है।

जानिए: कहां किस दिन और कैसे होगा दशहरे का आयोजन

जीरापुर में आज : नगर मं हर साल की भांति इस साल भी रविवार को दशहरा का पर्व मनाया जाएगा। इस बार कोविड 19 की गाइड लाइन का पालन करते हुए सामाजिक दूरी का ध्यान रखा जाएगा। कोरोना संक्रमण के कारण इस वर्ष परंपरागत रूप से निकलने वाली शोभायात्रा नही निकाली जाएगी। भगवान के विमान व स्वरुप रुप में भगवान राम लक्ष्मण हनुमान, सुग्रीव, विभीषण सहित अन्य वानर अलग से वहन के द्वारा रावण दहन स्थल पर पहुंचकर रावण का दहन करेंगे। पूर्व में शिव चोक रामलीला मैदान से बैंड-बाजे के साथ भव्य शोभायात्रा निकाली जाती थी शोभायात्रा के साथ हजारों लोग चलते थे परंतु इस साल शासन के दिशा निर्देश पर शोभायात्रा नही निकाली जा रही है, लोग सीधे दशहरा मैदान पहुंचेंगे। खिलचीपुर में कल: नगर में परंपरागत दशहरा पर्व मनाया जाएगा। लेकिन कोरोना के चलते हर साल की भांति आयोजित चल समारोह नहीं निकाला जाएगा। रामदल परंपरागत तरीके से दशहरा मैदान पहुंचेगा, जहां रावण दहन सहित अन्य आयोजन किए जाएंगे। छापीहेड़ा में कल: नगर में हर साल की भांति इस साल सोमवार को दशहरा पर्व मनाया जाएगा। इस दौरान शोभायात्रा सहित अन्य सभी आयोजन होंगे। ब्यावराकलां में कल : कस्बे में हर साल की भांति शिवमंदिर से राम-लक्ष्मण व हनुमान दलबल के साथ स्टेडियम स्थित दशहरा मैदान पहुंचेंगे। जहां शाम साढ़े 6 बजे के बाद रावण दहन किया जाएगा। इस दौरान कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए लोगों को दल से दूर रखा जाएगा। सारंगपुर में कल : सारंगपुर में हर साल की तरह दो जगह 11-11 फीट का रावण जलाया जाएगा। लेकिन इस बार आतिशबाजी व मंचीय कार्यक्रम नहीं किया जाएगा और ना ही चल समारोह निकाला जाएगा। समिति अध्यक्ष डॉ राजेंद्र मिश्रा ने कहा कि इस बार सार्वजनिक जगह एकत्रित होने की बजाय आत्मिक रूप से रावण दहन हो। इसी के चलते अखाड़ा, चल समारोह सहित अन्य कार्य स्थगित किए हैं। यहां पर भी मास्क लगाना जरूरी है। पचोर में कल: नगर में इस बार 51 फीट का रावण बनाया जा रहा है, लेकिन कोरोना के चलते कुंभकर्ण, मेघनाथ सहित अन्य पुतले नहीं बनाए जाएंगे। सामाजिक दूरी का पालन कराने के साथ ही नपा ने सभी को मास्क लगाकर ही आने को कहा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें