पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अच्छी पहल:मानसून सीज में नदी, तालाब के किनारे रोपेंगे पौधे

राजगढ10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर के कुछ युवाओं ने संकल्प लिया है कि इस बार के मानसून सीजन में नदी, तालाबों के किनारे पौधे लगाएंगे। युवाओं ने हाल ही में नेवज नदी के किनारे पौधे लगाकर इस अभियान का शुभारंभ भी कर दिया है। युवाओं का कहना है कि कई बार होता यह है कि शहर के अलग अलग हिस्सों में पौधे रोपे जाते हैं, लेकिन उन्हें ठीक से पानी नहीं मिल पाने के कारण वे गर्मियों में सूख जाते हैं। पिछले साल भी कई पौधों के साथ ऐसा ही हुआ है, इसलिए इस बार नदी और तालाब के किनारे पौधे रोपे जाएंगे, ताकि वे सुरक्षित रहें।  हाल ही में राजगढ़ नेवज नदी मुक्तिधाम पुरा में मुक्तिधाम समिति के सदस्यों ने बरगद का पेड़ लगाकर पौधारोपण किया। सभी सदस्यों ने पौधारोपण करने का संकल्प लिया। कालेज के पूर्व जनभागीदारी अध्यक्ष संजय गुप्ता, नेवज मुक्तिधाम अध्यक्ष दारा सिंह जाट, राजू पुष्पद, गज्जू चौहान, महेश पुष्पद, जीतू पुष्पद सहित समिति के लोग  मौजूद थे।

नेवज के किनारे रौपेेंगे पौधे
इधर, शहर के समाजसेवी मनोज सिंह हाड़ा ने भी बारिश में व्यापक स्तर पर पौधे लगाने का प्लान तैयार किया है, उनके मुताबिक इस बार नेवज नदी के किनारे पौधे रोपे जाएंगे। बता दें कि श्री हाड़ा द्वारा नेवज के अस्तित्व को बचाने के लेकर एक अभियान भी शुरू किया गया था, जिसके तहत हाल ही में उन्होंने नेवज के किनारे बसे गांवों के लोगों को जागरूक करने के लिए यात्रा भी की थी, अब इन गांवों के हिस्से में भी पौधे रोपे जाएंगे।

और इधर हाईवे के पौधे सूखे
इधर, खिलचीपुर नाके से स्थानीय बस स्टैंड चौराहे तक पिछले वर्ष लगभग पांच सौ पौधे रोपे गए थे, इन पौधों के संरक्षण की जिम्मेदारी नगर परिषद की थी। परिषद द्वारा इनकी देखभाल ठीक से नहीं की गई ट्री गार्ड नहीं लगाए गए न ही समय पर सिंचाई की गई परिणाम यह हुअा कि इसी साल बारिश आते आते तक अब यहां एक भी पौधा दिखाई नहीं देता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें