पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

परेशानी:काकशिला मंदिर के रास्ते पर लगा ताला, छोटे गेट से जाने में आ रही हैं श्रद्धालुओं को परेशानी

नरसिंहगढ़13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
काकशिला के देवी मंदिर में जाने का प्रमुख रास्ता प्रशासन ने बंद करवा रखा है।
  • गेट लगाते समय तय हुआ था कि एक चाबी मंदिर प्रबंधन को दी जाएगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ

पहाड़ी पर स्थित प्राचीन काकशिला मंदिर में श्रद्धालु नवरात्रि के दर्शन करने नहीं जा पा रहे हैं। शनिवार और रविवार की शाम को मंदिर में दर्शन करने पहुंचे कई श्रद्धालुओं को निराश होकर वापस लौटना पड़ा। असल में मंदिर शासकीय श्री विक्रम उत्कृष्ट विद्यालय के पीछे स्थित पहाड़ी पर मौजूद है। जहां तक सीढ़ियों से पहुंचा जाता है। कुछ समय पहले स्थानीय प्रशासन ने पहाड़ी के नीचे सीढ़ियों के शुरुआती हिस्से में दो गेट लगवाए थे- एक बड़ा और दूसरा छोटा घूमने वाला गेट। गेट लगाते समय यह तय किया गया था कि इसके ताले की 2 चाबियां होंगी। जिनमें से एक स्कूल प्रबंधन के पास और एक मंदिर प्रबंधन के पास रहेगी।

विशेष परिस्थितियों में जब भी मंदिर प्रबंधन को आवश्यकता होगी बड़े गेट को खोल सकेगा। लेकिन मंदिर प्रबंधन को यह चाबी कभी नहीं दी गई। इसकी वजह से अब परेशानी आ रही है। क्योंकि घूमने वाले गेट से एक बार में एक ही श्रद्धालु निकल पाता है और भारी शरीर वाले श्रद्धालु मंदिर तक जा ही नहीं पा रहे हैं। श्रद्धालुओं ने स्थानीय प्रशासन से मांग की है कि नवरात्रि के दौरान काकशिला मंदिर के बड़े गेट को स्थाई रूप से खोला जाए।

40 हजार साल पुराने शैलचित्रों के लिए भी प्रसिद्ध है गुफा : काकशिला की पहाड़ी कई दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण है। शहर के बाहरी हिस्से में मौजूद यह पहाड़ी फोरलेन से ही दिखती है। हरी-भरी पहाड़ी, इस के शिखर पर काकशिला की गुफा और तलहटी में स्थानीय राज परिवार का कलात्मक आवास भानुनिवास पैलेस सभी मिलकर इसे बेहद सुंदर लुक देते हैं।

इसके अलावा इसी पहाड़ी की गुफाओं में 40 हजार सालों से भी ज्यादा पुराने शैलचित्र हैं। जिनकी खोज स्थानीय वरिष्ठ पुराविद डॉ जितेंद्रदत्त त्रिपाठी ने 1980 के दशक में की थी। हालांकि शासन के रुचि नहीं लेने से अधिकांश शैलचित्र लुप्त हो गए हैं।

कौवे के आकार की पहाड़ी

काकशिला का नाम ही इसके आकार की वजह से पड़ा है। यह पहाड़ी नीचे सड़क से देखने पर कौवे आकार की दिखाई देती है। इसी के अंदरूनी हिस्से में दुर्गा माता के चंडी स्वरूप की प्रतिमा स्थापित है। दोनों नवरात्रि में श्रद्धालु मंदिर में दर्शन करने जाते हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी अनुभवी तथा धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति से मुलाकात आपकी विचारधारा में भी सकारात्मक परिवर्तन लाएगी। तथा जीवन से जुड़े प्रत्येक कार्य को करने का बेहतरीन नजरिया प्राप्त होगा। आर्थिक स्थिति म...

और पढ़ें