पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दिक्कत:बढ़ती आबादी के बीच ड्रेनेज सिस्टम के लिए नपा के पास नहीं कोई प्लान

राजगढ़17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • ड्रेनेज सिस्टम नहीं होने से सड़काें पर बह रहा पानी, हाे रहीं खस्ताहाल

नगर के लिए सबसे ज्यादा जरूरी ड्रेनेज सिस्टम पर नगर पालिका ने पिछले कई वर्षों में कभी भी ध्यान नहीं दिया। इससे नगर की सफाई व्यवस्था पर तो असर पड़ता ही है साथ ही सड़कों को भी नुकसान हो रहा है। नगर के एक भी हिस्से में व्यवस्थित नालियां नहीं है।

दूसरी तरफ नगर की आबादी लगातार बढ़ रही है। वर्तमान में नगर में 40 हजार से ज्यादा लोग रह रहे हैं। जबकि ड्रेनेज सिस्टम सुधारना तो दूर की बात है पहले वाला भी नहीं बचाया जा सका। नालों पर अतिक्रमण है और ज्यादातर नालियां मकानों और दुकानों के निजी शेड से दबा दी गई हैं। इसकी वजह से जगह जगह सड़कों पर और गलियों में गंदा पानी फैलता रहता है। तहसील रोड, लंकापुरी मार्ग, थावरिया, सभी पहाड़ी बस्तियों में हालत ज्यादा खराब है।

नगर के बढ़ते आकार के हिसाब से नहीं ड्रेनेज सिस्टम
नगर का मूल ड्रेनेज सिस्टम 300 साल पहले बसाए गए नगर के हिसाब से है। जबकि अब जरूरतें बढ़ भी गई हैं और बदल भी गई हैं। लेकिन ड्रेनेज सिस्टम को विकसित करने पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दिया गया।

अलग से पूरा प्लान बना रहे हैं

  • पूरे नगर के लिए ड्रेनेज सिस्टम को व्यवस्थित बनाने का सेपरेट प्लान जरूरी है। जिसे हम बना रहे हैं। पूरा होते ही इसे स्वीकृति के लिए शासन को भेजा जाएगा। लेकिन इसमें थोड़ा समय लगेगा। -राजेंद्र वर्मा, सीएमओ, नपा, नरसिंहगढ़।

वी शेप नालियां खत्म होने के कारण बढ़ी यह दिक्कत
लगभग 40 साल पहले नगर पालिका ने पूरे नगर में पत्थरों की वी-शेप नालियां बनाई थी। जिनसे पानी का बहाव सही तरीके से होता था। बाद में आरसीसी वर्क में नालियों पर ध्यान देना बंद कर दिया गया। इससे सड़कों के किनारे नालियों की बजाय गहरे गड्ढे बन गए हैं। जिनमें मलबा और कीचड़ जमा हो जाता है। इसे निकालने में स्वच्छता कर्मचारियों को भी दिक्कतें आती हैं।

खबरें और भी हैं...