पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

18 बसों की पड़ताल:‘शुभ यात्रा’ सिर्फ एक स्लोगन है किसी बस की बाॅडी सड़ रही ताे किसी के टायर खराब

राजगढ़4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कार्रवाई शुरू की ताे ग्रामीण रूट पर बंद की बसें, हाईवे पर दौड़ रही अधिकांश अनफिट

रेल परिवहन के अभाव में जिले के अधिकांश हिस्से में जिन बसाें से लाेग यात्रा करते हैं वे न ताे फिट हैं और न ही सुरक्षा मानकों पर खरी उतर रही हैं।

ऐसे में इन बसाें पर निर्भर यात्रियाें की शुभ यात्रा का दावा केवल ड्रायवर केबिन के पीछे लिखा स्लाेगन मात्र रह गया है। पिछले करीब एक सप्ताह से पुलिस और परिवहन विभाग ने बसाें की फिटनेस और परमिट की जांच शुरू की है। तब से ग्रामीण रूटाें पर बसाें का संचालन ही कम हाे गया है लेकिन अधिकांश बसें हाईवे व दो शहरों को कनेक्ट करने वाली सड़कों पर दौड़ रही हैं। फिलहाल वाहन चालक सवारी कम बैठा रहे हैं या फिर वाहन ही नही चला रहे हैं लेकिन हालात में काेई सुधार नहीं है।

यात्री बसों में ओवरलोडिंग नहीं रुकी है, लेकिन इन दिनाें बसों की छत पर यात्री बैठे नहीं दिखाई दे रहे हैं। जिस क्षेत्र में ज्यादा ओवरलोडिंग होती है, वहां बसों का संचालन ही बंद हो गया। ऐसे में ऑटो, लोडिंग और मैजिक वाहनों की छत पर सामान और उस सामान के ऊपर यात्री बैठकर यात्रा करते अब भी देखे जा रहे हैं। ऐसे में ड्राइवर की जरा सी चूक से बड़ा हादसा हो सकता है। परिवहन विभाग सप्ताहभर से कार्रवाई तो कर रहा है लेकिन ओवरलोडिंग पर अंकुश नहीं लग पाया है।

हादसे के बाद भी नहीं लिया सबक: सीधी बस हादसे के बाद परिवहन विभाग के अफसरों ने ओवरलोड सवारी वाहनों पर कार्रवाई तो शुरू की लेकिन फिलहाल यह कार्रवाई चालान करने और पुराना टैक्स वसूलने तक ही सीमित है। बस ऑपरेटर्स में इस कार्रवाई का कोई डर नहीं है। जिले में एक सप्ताह के अंदर परिवहन विभाग करीब 94 बसों पर नियम पालन नहीं करने पर चालानी कार्रवाई कर चुका है। इससे ग्रामीण रूटों पर चलने वाली खटारा बसें बंद हो गईं। हालांकि स्टेट हाइवे पर चल रहीं बसों में भी यात्री सुविधा देखने को नहीं मिल रही।

ड्रायवर निर्धारित ड्रेस में नहीं, बीमा-फिटनेस और परमिट का भी पता नहीं
भास्कर टीम ने मंगलवार को 18 से अधिक बसाें की पड़ताल की। एक भी यात्री वाहन के चालक और परिचालक ने ड्रेस नहीं पहन रखी थी। इसके साथ ही बसों पर ना तो निर्धारित रूट की जानकारी लिखी थी और ना ही बस का वैध बीमा, फिटनेस और परमिट की जानकारी थी। जबकि नियमानुसार बस के फ्रंट कांच पर यह सारी जानकारी लिखी हुई होना चाहिए।

पुलिस ने चार दिन 2399 वाहन किए चेक
जिलेभर में यातायात पुलिस के साथ ही विभिन्न थानों में पिछले 4 दिन में 2339 वाहन चेक कर उन्हें समझाइश दी गई। इस दौरान 247 वाहन के खिलाफ चालानी कार्रवाई कर 78 हजार रुपए का जुर्माना लगया। वहीं 1683 लोगों काे यातायात के नियम नहीं तोड़ने की शपथ दिलाई गई। इसके बाद भी जिले में ऑटो और लोडिंग वाहनों में ओवरलोड सवारी बैठी दिखाई दे रही है।

जिला मुख्यालय में ही बसाें में दिखे ऐसे हालात जाे सफर काे बना रहे मुश्किल

1. 45 मिनट में 4 बसें निकलीं, मानक पर एक भी नहीं, पिकअप-ऑटाे ओवरलाेड
भास्कर टीम द्वारा सुबह करीब 10 बजे से खिलचीपुर नाके पर बैठकर यहां आने वाली बसों के हालात को देखे। इस रूट पर अधिकांश बसें कंडम स्थिति में थी। इस दौरान करीब 45 मिनट में 4 बसें निकली, लेकिन एक में भी तय मानक के अनुसार सुविधा नहीं। यहां 7 पिकअप और 13 ऑटो जरूर ओवरलोड निकले। सभी की छत व अंदर सवारी होने के साथ ही आसपास भी लोग लटके हुए थे। दो मैजिक वाहन की छत पर सवारी बैठी थी, वहीं अंदर सामान भरा हुआ था। लोग पहले की तरह ही जोखिम भरा सफर करने को मजबूर थे।

2. अंदर कैमरे, अग्निशमन उपकरण, इमरजेंसी दरवाजे भी नहीं लगाए
सुबह 11 बजे टीम ने शहर की बस स्टैड पर जाकर देखा तो यहां 8 बसें खड़ी थीं, लेकिन एक भी सुरक्षा मानक नहीं मिला। किसी बस की बॉडी सड़ रही थी तो किसी के टायर खराब थे। वहीं बसों के अंदर कैमरे, अग्निशमन यंत्र, इमरजेंसी दरवाजे भी नहीं मिले। कई बसों के तो कांच तक फूटे हुए थे। इसके बाद भी बेरोकटोक यह वाहन हाईवे पर चल रहे। ब्यावरा की ओर जा रही बस में सवार यात्री गोविंदसिंह, सरिता, बबीता ने बताया कि वह रोजाना इसी तरह की सुविधाविहीन बसों में जान जोखिम में डालकर सफर करना पड़ता है।

परिवहन विभाग ने 5 दिन में 364 वाहन चेक किए, 94 बसों के बनाए चालान
परिवहन विभाग की टीम ने ने 17 फरवरी से लेकर मंगलवार तक 364 यात्री बसों को चेक कर नियमों का पालन नहीं करने पर 94 बसों के चालान बनाए। इसमें से क्षमता से ज्यादा सवारी बैठने पर 36 बसों के खिलाफ कार्रवाई की गई और 3 लाख 8500 रुपए का चालानी शुल्क भी वसूला। आरटीओ एसके सिंह ने बताया कि बिना लाइसेंस के वाहन चलाने पर बस, प्रदूषण नहीं होने पर 3 और क्षमता से ज्यादा सवारी बिठाने पर 36 बसों के खिलाफ चालानी कार्रवाई की है। अन्य नियमों का पालन नही करने पर 96 बसों पर कार्रवाई की है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें