पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

भविष्य का खतरा:गैस पाइप लाइन कहीं राेड से सटाकर ताे कहीं 16 मीटर दूर डाली जा रही, दूसरी लाइनें भी क्रॉस कीं

राजगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गुना से भाेपाल पाइप लाइन के जरिए एलपीजी पहुंचाने के याेजना में चल रहा काम
  • विवाद खर्च कम करने मनमर्जी से डाल रहे गैस लाइन, तकनीकी खामियां भी हैं

सरकार की महत्वाकांक्षी एलपीजी पाइप लाइन परियेाजना के तहत शहर के समीप गोरखपुरा से भोपाल तक गैस लाइन बिछाई जा रही है। इस पाइप लाइन को बिछाने का काम पिछले 4 महीने से किया जा रहा है। इसमें एक के बाद एक विवाद और समस्याएं सामने आ रही हैं। शहर में कंपनी ने खुदाई करने के बाद अब तक सड़काें आदि की मरम्मत नहीं की है। इसके चलते क्षेत्र के कई रास्ते बंद पड़े हैं। गैस पाइप लाइन को बिछाने में समय ले आउट प्लान से डालना जरूरी है नहीं ताे भविष्य में शहर के लोगों को परेशान होगी। ज्वलनशील गैस हाेने से खतरा भी पैदा हाे सकता है।

इसके बाजवूद पाइप लाइन बिछाने वाली कंपनी ने कहीं इस लाइन को सड़क से 16 मीटर दूर तो कहीं सड़क से सटाकर ही बिछा दिया है। क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने के विवाद से बचते हुए लाइन में जगह-जगह घुमाव भी दे दिए हैं। इससे भविष्य में पेयजल पाइप लाइन, दूरसंचार व अन्य केबल की खुदाई में हादसे का डर रहेगा। वहीं इस गैस लाइन के ऊपर अन्य लाइन डालने व निर्माण संबंधित अन्य कार्य भी नहीं हो सकेगा। ताे कार्रवाई करेंगे

मैंने पहले भी सुधार के लिए कहा था, अब फिर एसडीएम को सुधार के लिए कहता हूं। यही काम में सुधार नहीं किया तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
–नीरज कुमार सिंह, कलेक्टर

लाेगाें ने विराेध करके रुकवा दिया था काम

गैस लाइन का काम अब एनएच पर किया जा रहा है। यहां भी कहीं हाईवे से 5 मीटर दूर लाइन बिछाई जा रही है तो कहीं 15 मीटर दूर। इसको लेकर शहर के जगदीश सक्सेना, राधेश्याम चौहान सहित अन्य लोगों ने विरोध शुरू करके काम भी रुकवा दिया था। अब येस बैंक से लाइन को मोड़कर हाईवे से सटाकर बिछाया जा रहा है। यहां आने वाले अतिक्रमण को बचाते हुए गैस लाइन को हाईवे की साइड शाेल्डर अाैर पुलिया से सटाकर डाल दिया। ऐसे में चौड़ीकरण के दौरानयहां हादसे का डर रहेगा।

शुरू से विवाद में रहा गैस लाइन का काम, फिर भी नहीं करा रहे सुधार

शहर में गैस लाइन डालने का काम शुरू से विवाद में रहा है। कहीं अतिक्रमण को बचाने को लेकर काम रूकवाया तो कहीं निर्माण तोड़ने को लेकर। अब अधूरे पड़े निर्माण को लेकर शिकायत की है। वहीं ड्राइंग डिजाइन के अनुसार काम नहीं करने और एनओसी की शर्तो का पालन नहीं करने पर शहर के लोग न्यायालय जाने की तैयार कर रहे है।

डेढ़ महीने पहले खुजनेर रोड पर यह की थी गलती फिर भी नहीं किया सुधार

इसी तरह की गलती खुजनेर रोड पर भी की गई। वहां पेयजल लाइन सहित दूरसंचार व अन्य लाइनों को नुकसान पहुंचाने के साथ ही क्रासिंग भी कर दी गई। इसके चलते भविष्य में खुदाई के दौरान हादसे का डर बना रहेगा। इतना ही नहीं अतिक्रमण व कब्जे को बचाते हुए लाइन काे एक दर्जन से अधिक जगह मोड़ दिया गया। कहीं लोक निर्माण विभाग की नाली काे तोड़ दिया गया तो कहीं सड़क किनारे गैस लाइन डाल दी। इसके बाद आज तक यहां रिपेयरिंग वर्क नहीं किया। इसके चलते टूटी नाली, सड़क व रास्ते के साथ एप्रोच से लोग परेशान हो रहे है।

जिन शर्तों पर ली एनओसी ली गई अब उनका नहीं किया जा रहा पालन

राजगढ़ से भोपाल तक थिंक गैस लाइन डाली जा रही है। इसके लिए निर्माण एजेंसी द्वारा एमपीआरडीसी, लोक निर्माण विभाग, नगर पालिका और नेशनल हाईवे से शर्तो के आधार पर एनओसी ली है। इसके बावजूद थिंक गैस की निर्माण एजेंसी इन नियमों का पाल नहीं कर रही है। शर्तों के अनुसार गैस पाइप लाइन सड़क से 16 मीटर दूर होना चाहिए, वहीं मुख्य सड़क के किनारे 3 से 6 मीटर की दूरी पर गैस लाइन होना चाहिए लेकिन हाईवे किनारे कहीं 16 मीटर दूर लाइन डाल दी जो कहीं सड़क के साइड शाेल्डर खोदकर लाइन बिछा दी गई है।

अत्यंत ज्वलनशील लाइन, इसलिए यह है नियम

1. गैस पाइप लाइन पहले से बिछी हुई पेयजल पाइप लाइन, नाली व अन्य कंट्रक्टशन से कम से कम एक मीटर की दूरी होना चाहिए।

2. लाइन के उपर पेपर कवर, नीचे रेत होना चाहिए, ताकि वह उपर नहीं आ सके।

3. गैस पाइप लाइन में जगह-जगह मोड़ नहीं होना चाहिए और क्रासिंग विशेष परिस्थिति में ही हो।

4. सड़क से पर्याप्त दूरी होना चाहिए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह स्थितियां बेहतरीन बनी हुई है। मानसिक शांति रहेगी। आप अपने आत्मविश्वास और मनोबल के सहारे किसी विशेष लक्ष्य को प्राप्त करने में समर्थ रहेंगे। किसी प्रभावशाली व्यक्ति से मुलाकात भी आपकी ...

और पढ़ें