पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हाईटेक ओटी बनने में देर:दाे माह पहले बनाना थी 4 मॉड्यूलर ओटी, बीच में ठेकेदार ने काम रोका, 1 कमरे में हो रहे सीजर

राजगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला अस्पताल में 99.5 लाख की लागत से बनना है चार मॉड्यूलर ओटी

जिला अस्पताल में चार महीने पहले पुराने ऑपरेशन थिएटर को अपग्रेड कर माड्यूलर ओटी बनाने का काम अक्टूबर माह में शुरू किया गया था जिसे नवंबर में पूरा हाेना था। दाे ओटी बनकर भी तैयार हाे चुकी है लेकिन इनमें दो माह से ताला लगा हुआ है। इसके चलते एक कमरे में पुरानी ओटी को शिफ्ट कर सीजर व अन्य ऑपरेशन किए जा रहे है। दरअसल ओटी बना रहे ठेकेदार ने बीच में ही काम छाेड़ दिया जिससे सर्जरी के लिए इस अत्याधुनिक ओटी का काम रुक गया। अब स्वास्थ्य विभाग ने ठेकेदार काे नाेटिस जारी किया है। जिससे उम्मीद की जा रही है कि आने वाले महीने में माॅड्यूलर ओटी का लाभ मिल सकेगा। ट्रामा सेंटर में 99.5 लाख रुपए रुपए की लागत से चार मॉड्यूलर ओटी बनाई जा रही है। टेंडर शर्ताें के मुताबिक इनका काम दो महीने पहले पूरा होना था, लेकिन भुगतान के विवाद में ठेकेदार ने 4 माह बीत जाने के बाद भी ओटी नहीं बनाई। इस मॉड्यूलर ओटी में विभिन्न यंत्रों को आवश्यकता के अनुसार समायोजित किया जा सकता है। इसमें हड्डी रोग से जुड़े छोटे-बड़े सभी तरह के एवं अन्य ऑपरेशन भी किए जा सकते हैं। स्वास्थ्य विभाग के इंजीनियर अजय कुशवाह ने बताया कि दो ओटी का काम लगभग पूरा हो गया है। जल्द शुरू कराएंगे।

खतरा कम, सभी तरह के इस ओटी में ऑपरेशन संभव
सामान्य ओटी की तुलना में मॉड्यूलर ओटी में संक्रमण का खतरा नाम मात्र का रहता है क्योंकि इसमें एयर फिल्टर लगाए जाते हैं। इसके अलावा अन्य सुविधाएं भी ऐसी रहती है जिनसे संक्रमण फैलने का खतरा बहुत कम रहता है। इन सभी ओटी के तैयार हो जाने पर पर सीजर सहित हड्डी रोग से जुड़े छोटे-बड़े ऑपरेशन हो सकेंगे। इससे जिलेभर के मरीजों को सुविधा मिलेगी।

अभी कमरे में ओटी शिफ्ट कर चला रहे काम
दो महीने में यह ओटी तैयारी नहीं हुई और अब यहां दो महीने से ताला लगा हुआ है। ऐसे में अक्टूबर माह में मेटरनिटी वार्ड के सामने एक कमरे में ओटी को शिफ्ट किया, जहां फिलहाल महिलाओं के सीजर किए जा रहे है।

हर महीने 50 से अधिक सीजर, ओटी के अभाव में हो रहे परेशान
जिला अस्पताल में हर महीने 50 से 75 के बीच सीजर होते हैं। मॉड्यूलर ओटी के अभाव में डाक्टर व नर्सों को काफी परेशानी होती है, वहीं संक्रमण का डर भी बना रहता है। जिला अस्पताल में पिछले महीने 65 सीजर हुए हैं जबकि त्योहार व चुनाव के दौरान नवंबर में 40 सीजर हुए थे। जबकि अक्टूबर में ओटी बंद होने के बाद भी 15 सीजर अस्पताल में किए थे।

माड्यूलर ओटी में यह रहेगी सुविधा
{आक्सीजन: आक्सीजन सप्लाई के लिए अगल से व्यवस्था, आक्सीजन पैनल को किया जा सकेगा शिफ्ट।
{पास बॉक्स: इसकी मदद से ओटी के बाहर वाला स्टाफ कोई भी वस्तु औजार ओटी के अंदर पहुंचा सकता है।
{एक्सरे स्टैंड: एक्सरे देखने दो स्टैंड रहेगे, एक पर सूर्य की रोशनी से देखा जा सकता है।
{सेंट्रल एसी: इससे ओटी के अंदर तापमान कंट्रोल किया जा सकेगा और ओटी में नमी की गुंजाइश नहीं रहेगी।
{खिड़की: ओटी में एक खिड़की रहेगी, जिससे सूर्य का प्रकाश ओटी में रहेगा, बिजली गुल होने पर भी ऑपरेशन हो सकेंगे।
कंट्रोल पैनल: इस पैनल के माध्यम से ओटी के भीतर सभी संसाधन को कंट्रोल किया जा सकेगा।
{सेंसर वाला गेट: मुख्य गेट में सेंसर रहेगा। जिसे बिना हाथ लगाए खोला व बंद किया जा सकेगा।
^पिछले कुछ महीने से ठेकेदार ने काम बंद कर दिया था, इसके चलते हमने उसे नोटिस थमाया ताकि काम नहीं करने पर कार्रवाई कर सके। इसके लिए ठेकेदार के लोग आए है, जल्दी ही सभी ओटी को पूरा कराया जाएगा।
अजय कुशवाह, सब इंजीनियर सीएमचओ कार्यालय

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें