पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

माफिया की मनमर्जी:29 स्वीकृत खदानों से 50 किमी के दायरे में बिना इजाजत किया जा रहा रेत भंडारण

राजगढ़3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शासन के नए आदेश के अनुसार जिले में हो रहा है रेत का अवैध भंडारण

अब जिले में कहीं भी बिना इजाजत रेत का अवैध भंडारण नहीं हो सकेगा। इसके लिए खनिज मंत्रालय ने नए आदेश जारी किए हैं। आदेश के तहत अब किसी भी रेत खदान से 50 किमी के दायरे में कहीं पर भी रेत का भंडारण करने का अधिकार सिर्फ खनिज अनुबंधकर्ता को ही होगा। जबकि जिले में स्वीकृत सभी 29 रेत खदानों से पूरे जिले में ऐसा कोई भी कस्बा या शहर नहीं है जिनकी दूरी 50 किमी से ज्यादा हो और वहां रेत का भंडारण नहीं होता हो। यही वजह है कि अब पूरे जिले में खनिज ठेकेदार को छोड़कर कोई भी रेत का भंडारण नहीं कर पाएगा। हालांकि रेत के भंडारण करने की इजाजत देने के अधिकार भी शासन ने जिलों के कलेक्टर्स को दिए हैं, लेकिन बशर्ते जहां रेत के भंडारण की अनुमति मांगी गई है वो स्थान किसी भी रेत खदान से 50 किमी के दायरे के बाहर हो और दूसरा भंडारण की अनुमति के आवेदन में खनिज ठेकेदार की लिखित सहमति ली गई है, तभी कलेक्टर परमिशन दे पाएंगे। जिले में इस आदेश का खुला उल्लंघन किया जा रह है।

जिले में स्वीकृत रेत खदानें व उनसे शहरों व कस्बों की दूरी जिनमें अभी हो रहा था अवैध भंडारण
स्वीकृत खदान नजदीकी शहर व कस्बा दूरी

जेतपुरा राजगढ़ 5 किमी
उदपुरिया राजगढ़ 9 किमी
कालूखेड़ी राजगढ़ 10 किमी
गणेशपुरा राजगढ़ 12 किमी
डाबडी राजगढ़ 12 किमी
निद्राखेड़ी जागे रेठानी पचोर 9 किमी
चाकरोद पचोर 13 किमी
बीलापुरा पनबाड़ी पचोर 8 किमी
पदमपुरा पचोर 5 किमी
पीलूखेड़ी कुरावर 8 किमी
जाटियाखेड़ी नरसिंहगढ़ 13 किमी
अरन्या जीरापुर 8 किमी
सईदाबाद सारंगपुर 14 किमी
गोपालपुरा सारंगपुर 7 किमी
अभयपुरा खिलचीपुर 8 किमी
(जानकारी खनिज विभाग राजगढ़ द्वारा बताए अनुसार, इसमें सिर्फ 15 किमी दूरी तक की खदानें शामिल हैं)

बालू रेत और काली रेत का भी दायरा खत्म, अब सिर्फ एक ही श्रेणी में गिनी जाएगी रेत, यानी कार्रवाई आसान
जिला खनिज अधिकारी मुमताज खान ने बताया कि 10 सितंबर को जारी आदेश में मप्र शासन ने नई खनिज नीति 2020 के नियमों के तहत अब रेत का अलग अलग श्रेणियों जैसे काली व बालू रेत में बांटने की बजाए सिर्फ एक सिंगल रेत की ही श्रेणी में रखा है। इसलिए अब बालू रेत का भी भंडारण करने के लिए किसी को भी खनिज अनुबंध एजेंसी गिरजा ट्रेडिंग कंपनी से अनुमति लेना होगी। वहीं खनिज ठेकेदार कामेश्वरसिंह का कहना है कि, सरकार के नए आदेश से हम अभी तक आ रही अवैध भंडारण की समस्या से छुटकारा मिल सकेगा और अवैध खनन पर भी रोक लग सकेगी।
इधर हालत ऐसी... सड़कांे के किनारे ढेर लगाकर बेचते हैं रेत काराेबारी
जिले में रेत के अवैध भंडारण की अभी तक स्थिति ये थी कि, लगभग हर कस्बे व शहर में सड़कों किनारे जगह जगह ढेर लगाकर का अवैध भंडारण कर अवैध तौर पर बेचते हुए बिल्डिंग मटेरियल सप्लायर्स की दुकानें नजर आती थी। इनमें ब्यावरा शहर में ताे सुठालिया बायपास रोड, पुराने एबी रोड पर मुल्तानपुरा और गुना नाके पर व राजगढ़ रोड पर राजगढ़ बायपास के पास सड़क के दोनों तरफ लगे बालू व अन्य काली रेत के ढेर अवैध भंडारण की स्थिति बयां करते थे। लेकिन अब नए आदेश के तहत बिना इजाजत कहीं पर भी भंडारण नहीं किया जा सकेगा।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें