पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मदद का इंतजार नहीं:ग्रामीणों ने प्रवेश मार्गों पर लिखा- गांव में बाहरी लोगों का आना मना है

राजगढ़11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डिग्वाड़ गांव के प्रवेश मार्ग पर ग्रामीणों ने स्व-प्रेरणा से लिखा- बाहरी लोगों का आना मना है, जिससे कि गांव में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। - Dainik Bhaskar
डिग्वाड़ गांव के प्रवेश मार्ग पर ग्रामीणों ने स्व-प्रेरणा से लिखा- बाहरी लोगों का आना मना है, जिससे कि गांव में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

शहरी क्षेत्रों के बाद तेजी से गावों में पैर पसारते कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने पर अब ग्रामीण जागरूक होने लगे हैं। शासकीय मदद का इंतजार न करते हुए खुद ही अपने स्तर पर कोरोना की रोकथाम के प्रयास कर रहे हैं। ग्रामीण अपने गांव की सीमा पर सड़क पर प्रवेश की मनाही के संदेश लिखकर बाकायदा चौकसी कर रहे हैं।

अब गांव के युवा बारी-बारी से ड्यूटी लगाकर आने-जाने वाले बाहरी लोगों पर नजर रख रहे हैं। सारंगपुर ब्लॉक के गांव डिग्वाड़, काचरिया भाई, सुल्तानिया, छापरा सहित अन्य गांवों की सीमाओं पर ऐसी कार्रवाई देखने को मिल रही है। गांव के युवाओं ने जागरूकता अपनाते हुए एक टोली बनाई है, जो बाहरी लोगों से पूछताछ के बाद ही प्रवेश दे रही है। जिले की अन्य ग्राम पंचायतों ने भी इस प्रकार की पहल की है।

टीम के सदस्य गांव में प्रवेश करने वालों की जांच-पड़ताल कर रहे हैं। गांव में प्रवेश करने वाले का स्वास्थ्य, वह कहां से और किस से मिलकर आ रहा है। यह सब जांचने के बाद हाथों को सैनिटाइज कर प्रवेश दिया जा रहा है। बाहरी व्यक्ति गांव में प्रवेश न कर सके, इसके लिए गांव की सड़कों पर स्लोगन लिख दिए हैं। गांव में आने वालो को युवा रोक रहे हैं। टीम के लोग बारी-बारी से सेवाएं दे रहे हैं और गांव की सुरक्षा कर रहे हैं।

सड़क पर लिखा संदेश गांव में प्रवेश निषेध
डिग्वाड़, काचरियाभाई, सुल्तानिया, छापरा सहित अन्य गांवों के ग्रामीणों द्वारा अपने गांव में प्रवेश मार्ग पर रोचक तरीके से लोगों को कोरोना संक्रमण से बचने और लाॅकडाउन के दौरान बाहर नहीं निकलने के लिए संदेश लिखे हैं। ग्रामीणों ने अपने गांव के प्रवेश मार्गों पर लिखा है- गांव में बाहरी व्यक्तियों का आना मना है। प्रवेश निषेध है। कोरोना की गाइड लाइन का पालन करें और घर से बाहर नहीं निकलें।

घरेलू जागरूकता भी : हाथ-पैर धोने के बाद ही घर में करते हैं प्रवेश
डिग्वाड़ गांव के राजेंद्रसिंह बैस, संतोषसिंह बैस, सुमेरसिंह ने बताया कि हमारे घरों में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश के प्रतिबंध के साथ ही मास्क व सैनिटाइजर का उपयोग अनिवार्य कर दिया गया है। महिलाओं ने दरवाजों पर पानी भरी बाल्टियां और साबुन भी रखे हैं, ताकि परिवार का कोई भी सदस्य गांव में लौटकर आता है, या खेत-खलिहान से आता है तो वह पहले साबुन से अपने हाथ-पैर धोए। इसके बाद घर में प्रवेश करे। ग्रामीणों ने एकजुट होकर धार्मिक, सामाजिक कार्यक्रम सहित शादी, मृत्यु भोज आदि कार्यक्रमों को भी कोरोना काल तक के लिए स्थगित कर दिए हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें