पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दिक्कत:10 साल पहले 60 लाख खर्च कर बनाया बस स्टैंड पर बाहर जमा होता है गंदा पानी

नरसिंहगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बस स्टैंड परिसर में पार्किंग, लाइट आदि की पर्याप्त व्यवस्थाएं नहीं

बस स्टैंड परिसर के दोनों रास्तों के बाहर मामूली बारिश में भी गंदा पानी जमा हो जाता है। वर्ष 2010 में नगर पालिका ने 60 लाख रुपए के बजट से बस स्टैंड का सीसी परिसर बनवाया था। बाद में प्रोजेक्ट ओवर बजट हो जाने से यात्री प्रतीक्षालय और दूसरे काम रोक दिए गए थे।

इतनी बड़ी राशि खर्च होने के बाद भी आज भी बस स्टैंड परिसर से गंदे पानी की निकासी की स्थाई और पर्याप्त व्यवस्था नहीं है। अंदर जाने के दोनों रास्ते समतल नहीं होने से इनमें कीचड़ और गंदे पानी के बड़े-बड़े गड्ढे बारिश में भरे होते हैं। इन्हीं से होकर बस चालकों और दूसरे वाहन चालकों को निकलना होता है।

अभी तक नहीं बनाया डंकिंग प्लेटफार्म
बाद में जैसे-तैसे यात्री प्रतीक्षालय तो बना दिया गया। लेकिन इसका डंकिंग प्लेटफार्म अभी तक नहीं बनाया। जिससे बसें परिसर में अस्त-व्यस्त तरीके से कहीं भी खड़ी कर दी जाती हैं। ऑटो, हाथ ठेले, प्राइवेट वाहन और बसों के लिए अलग-अलग व्यवस्थित जोन नहीं बनाए जाने से भी लोगों को परेशानियां आती हैं। यात्री प्रतीक्षालय बसों के खड़े होने की जगह से इतनी दूर है कि ज्यादातर यात्री इसमें बैठना पसंद नहीं करते। इसकी बजाय बाहर परिसर में खुले में खड़े रहकर बसों का इंतजार करते हैं। ताकि आसानी से बस में चढ़ सकें।

पेंडिंग में यात्री लॉज बनाने का प्लान : नगर के वरिष्ठ जन पहले कई बार नगर पालिका को लिखित में दे चुके हैं कि यात्री प्रतीक्षालय के ऊपर सस्ती और आसान किराया दरों का एक यात्री लॉज बनाया जाए। जिससे कम समय के लिए रुकने वाले यात्रियों को सुविधा हो सके। लेकिन नगरपालिका इस पर ध्यान नहीं दे रही है।

अभी बजट की कमी है
फिलहाल बस स्टैंड के बड़े विकास की कोई योजना नहीं है। बजट की कमी है। हालांकि बस स्टैंड परिसर की पानी निकासी, लाइट और पार्किंग जैसी सुविधाओं को बढ़ाने पर नपा ध्यान देगी।
-राजेंद्र वर्मा, सीएमओ, नपा, नरसिंहगढ़।

खबरें और भी हैं...