• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sehore
  • 1400 Marriages Were Held In Conferences Last Year On Akshaya Tritiya, No Preparation This Time

लॉकडाउन:अक्षय तृतीया पर पिछले साल सम्मेलनों में हुए थे 1400 विवाह, इस बार कोई तैयारी नहीं

सीहोर3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • अक्षय तृतीय पर अबूझ मुहूर्त होने से हर साल बड़ी संख्या में सामूहिक विवाह सम्मेलन और शादियां होती हैं

अक्षय तृतीय पर अबूझ मुहूर्त होने से हर साल बड़ी संख्या में सामूहिक विवाह सम्मेलन और शादियां होती हैं। इस साल अक्षय तृतीया 26 अप्रैल की है लेकिन लॉकडाउन के चलते शादी-समारोह को लेकर कोई तैयारियां नहीं हैं। यहां तक कि शादी-समारोह के लिए पहले से गार्डन, होटल, कैटरिंग आदि की बुकिंग भी निरस्त की जा रही है। पिछले साल जिलेभर में अलग-अलग जगह करीब 1400 जोड़ों का विवाह सामूहिक विवाह सम्मेलन में हुआ था। इस साल जो शादियां पहले से निर्धारित थीं वे भी निरस्त होने की स्थिति में हैं।

13 अप्रैल को खरमास समाप्त हो जाएगा और 14 अप्रैल से मांगलिक कार्यों की शुरुआत हो जाएगी। लेकिन लॉकडाउन 30 अप्रैल तक बढ़ने की पूरी संभावना है। ऐसे में सामूहिक विवाह सम्मेलन नहीं हो पाएंगे। साथ ही अपने स्तर पर जिले में करीब 250  से अधिक शादियां इस बार होना थीं, जिनकी बात पंडित, बैंडबाजे वालों के पास हो चुकी थीं, ये सब निरस्त ही हैं। पंडित गणेश शर्मा ने बताया कि करीब 150 से अधिक लोग उनके पास मुहूर्त निकलवाने आए थे। जिस पर उन्होंने पंचाग के अनुसार विवाह के मुहूर्त भी दिए थे।  

करोड़ों का कारोबार प्रभावित 

शहर के मैरिज गार्डन में अक्षय तृतीया के दिन के लिए 56 लोगों ने एडवांस बुकिंग की थी। इस हिसाब से करीब 50 लाख रुपए से अधिक का नुकसान मैरिज गार्डन संचालकों को सिर्फ अक्षय तृतीया के दिन का है। इसी तरह होटल व्यवसायियों को करीब 25 लाख लॉजिंग, तो 30 लाख रुपए का कारोबार घोड़े-बग्घी और फ्लॉवर डेकोरेशन का प्रभावित हो रहा है। इसी प्रकार कैटर्स ने भी 2.10 करोड़ रुपए तो सराफा व्यवसायियों ने 15 करोड़ रुपए का कारोबार सिर्फ अक्षय तृतीया के दिन विवाह न होने के कारण प्रभावित हुआ है।
हलवाइयों का भी नुकसान
शादी-विवाह आगे बढ़ने का असर हलवाइयों पर भी पड़ा है। शहर में 20 बड़े और इतने ही छोटे हलवाई हैं। हलवाइयों का कहना है कि दो महीने से मुख्य सीजन रहता है। हलवाई महेश नेमा ने बताया कि मेरी 15 शादियों की बुकिंग थी। जो लॉकडाउन के कारण केंसिल हो गईं। अप्रैल में जो शादियां होती थी वो आगे बढ़ा दी हैं। 19 अप्रैल को मेरी पहली बुकिंग थी। मेरा तकरीबन 5 लाख रुपए का नुकसान हुआ है। ऐसी ही स्थिति अन्य हलवाइयों की भी बनी हुई है।

खबरें और भी हैं...